हमारे पुरोधा छत्तीस पत्रकार पुस्तक विमोचन

छत्तीसगढ़ के छत्तीस पत्रकारों पर केन्द्रित पुस्तक : मुख्यमंत्री ने किया ’हमारे पुरोधा’ का विमोचन : प्रदेश में पत्रकारिता का गौरवशाली इतिहास: डॉ. रमन सिंह

रायपुर, 13 सितंबर 2017 - मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज शाम यहां अपने निवास में छत्तीसगढ़ के छत्तीस वरिष्ठ पत्रकारों के जीवन परिचय पर आधारित पुस्तक ’छत्तीसगढ़ की पत्रकारिता हमारे पुरोधा’ का विमोचन किया। डॉ. सिंह ने विमोचन के संक्षिप्त और सादगीपूर्ण कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए पुस्तक के लेखक श्री परितोष चक्रवर्ती को बधाई और शुभकामनाएं दी। 
डॉ. सिंह ने कहा - राज्य में पत्रकारिता का गौरवशाली इतिहास एक सौ वर्ष से भी ज्यादा पुराना है। उन्होंने प्रदेश में पत्रकारिता के जनक स्वर्गीय श्री माधवराव सप्रे और उनके सहयोगी स्वर्गीय श्री रामराव चिंचोलकर द्वारा वर्ष 1900 में पेण्ड्रा से प्रकाशित मासिक पत्रिका छत्तीसगढ़ मित्र का विशेष रूप से उल्लेख किया। डॉ. रमन सिंह ने स्वतंत्रता आंदोलन और राज्य तथा देश  के विकास में छत्तीसगढ़ के इन वरिष्ठ पत्रकारों के योगदान की प्रशंसा की। उन्होंने कहा-इनमें से कई पत्रकारों ने साहित्य के क्षेत्र में भी अपनी विशेष पहचान बनाई है। मुख्यमंत्री ने कहा-लेखक श्री चक्रवर्ती ने बड़ी मेहनत से जिन प्रमुख पत्रकारों का जीवन परिचय इस पुस्तक में संकलित किया है, उन लोगों ने पत्रकारिता के जरिए देश, प्रदेश और समाज को अपनी मूल्यवान सेवाएं दी हैं और उनमें से कई वरिष्ठ पत्रकार आज भी लेखन और पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय हैं।
विमोचन समारोह को छत्तीसगढ़ राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष श्री सुरेन्द्र सिंह कैम्बो, वरिष्ठ पत्रकार और छत्तीसगढ़ हिन्दी ग्रंथ अकादमी के पूर्व निदेशक श्री रमेश नैयर और साहित्यकार श्री सुधीर शर्मा ने भी सम्बोधित किया। लेखक श्री परितोष चक्रवर्ती ने पुस्तक की विषयवस्तु पर प्रकाश डाला। विमोचन समारोह में वरिष्ठ पत्रकार श्री गोविंदलाल वोरा, वरिष्ठ लेखक और पूर्व राज्य निर्वाचन आयुक्त डॉ. सुशील त्रिवेदी तथा छत्तीसगढ़ साहित्य अकादमी के कार्यकारी अध्यक्ष प्रोफेसर रमेन्द्रनाथ मिश्र भी उपस्थित थे। 
उल्लेखनीय है कि इस पुस्तक में पंडित माधवराव सप्रे, पंडित रविशंकर शुक्ल, बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल, पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी, कुलदीप सहाय, यदुनंदन प्रसाद श्रीवास्तव, केशव प्रसाद वर्मा, बारीन्द्रनाथ बैनर्जी, पंडित रामाश्रय उपाध्याय, पंडित स्वराज्य प्रसाद त्रिवेदी, पंडित शिव नारायण द्विवेदी, चंदूलाल चंद्राकर, मायाराम सुरजन, हरि ठाकुर, मधुकर खेर,केशवलाल मेहता, कुमार साहू, श्रीकांत वर्मा, द्वारिका प्रसाद चौबे, रम्मू श्रीवास्तव, किरीट दोषी, बसंत अवस्थी, सत्येंद गुमास्ता, बिसाहूराम यादव, राजनारायण मिश्रा, बसंत कुमार तिवारी, शरद कोठारी, श्यामलाल चतुर्वेदी, गोविंदलाल वोरा, गुरूदेव काश्यप, तुषार कांति बोस, जयशंकर शर्मा ’नीरव’, बबन प्रसाद मिश्रा, रमेश नैयर और ललित सुरजन का जीवन परिचय संकलित किया गया है। 

हिन्दी