श्रद्धांजलि

लाल गंगा वाले हुकुमचंद पटवा की श्रद्धांजलि में मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने स्वर्गीय श्री हुकुमचंद पटवा को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की

रायपुर, 19 नवम्बर 2017 - मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज यहां लाल गंगा चेरिटेबल ट्रस्ट के ट्रस्टी स्वर्गीय श्री हुकुमचंद पटवा की श्रद्धांजलि सभा में शामिल होकर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की। श्रद्धांजलि सभा का आयोजन टैगोर नगर स्थित श्री लाल गंगा पटवा भवन में किया गया। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करने और स्वर्गीय श्री पटवा के शोकाकुल परिवारजनों को संबल प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की। श्री हुकुमचंद पटवा  का इस माह की 16 तारीख को निधन हो गया।

किशोर कुमार जयंती, फैन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की श्रद्धांजलि

आज प्रसिद्ध गायक किशोर कुमार की जयंती : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने उन्हें याद किया

रायपुर, 03 अगस्त 2017 -  छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल 04 अगस्त को भारतीय फिल्मों के सुप्रसिद्ध पार्श्व गायक स्वर्गीय श्री किशोर कुमार की जयंती पर उन्हें याद करते हुए विनम्र श्रद्धांजलि दी है। मुख्यमंत्री ने आज यहां जारी अपने संदेश में कहा है कि स्वर्गीय श्री किशोर कुमार एक अत्यंत प्रतिभावान अभिनेता और गायक कलाकार थे। उन्होंने हिन्दी सहित कई भारतीय भाषाओं के फिल्मी गीतों को अपनी मधुर आवाज में लोकप्रियता की बुलंदियों तक पहुंचाया।

महान प्रक्षेपास्त्र पुरुष, वैज्ञानिक, चिन्तक की द्वितीय पुण्यतिथि, डॉ. रमन सिंह की विनम्र श्रद्धांजलि

खास लगाव है डॉ. रमन सिंह का महान प्रक्षेपास्त्र पुरुष से, छत्तीसगढ़ गाँव गाँव के आखिरी आदमी तक आधुनिक तकनीक को पहुंचा कर डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम को सच्चे दिल से याद करता है 

आइये जानते हैं प्रदेश मुखिया उनके दुसरे बरसी पर कैसे श्रद्धा सुमन अर्पित कर रहे हैं. छत्तीसगढ़ के बच्चों को कलम के धनी कलाम चाचा बहुत पसंद हैं. आज दंतेवाडा जैसे सुदूर इलाके के बच्चे उनके अनुगमन से विज्ञान और तकनीक की ऊँचाइयों को छू रहे हैं. 

कारगिल विजय दिवस, शहीदों को श्रद्धांजलि

रायपुर, 25 जुलाई 2017 - राज्यपाल श्री बलरामजी दास टंडन ने कारगिल विजय दिवस के अवसर पर कारगिल युद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने अपने संदेश में कहा है कि 26 जुलाई 1999 को भारतीय सेना ने अपने अदम्य साहस, कौशल और समर्पण के साथ दुश्मनों पर जीत हासिल की।

देश में अमन, चैन एवं शांति बनाए रखने के लिए सेना के जवान सतत् सजग रहते हैं। ऐसे वीर जवानों के हौसले एवं जज्बे के लिए देश का हर नागरिक कृतज्ञ है। उन्होंने सेना के जवानों को शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि ऐसे ही उच्चादर्शों को बनाए रखें तथा देश की अथक सेवा करते रहें।

अमित शाह ने समाधी पर फुल चढ़ाये

अमर शहीद वीर नारायण सिंह को विनम्र श्रद्धांजलि

रायपुर, 10 जून 2017 - मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और वरिष्ठ नेता श्री अमित शाह ने आज छत्तीसगढ़ अमर शहीद वीरनारायण सिंह की जन्म और कर्मभूमि सोनाखान में उनकी समाधि पर पुष्प अर्पित कर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि दी।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, वन मंत्री श्री महेश गागड़ा, आदिम जाति और अनुसूचित जाति विकास मंत्री श्री केदार कश्यप, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्री धरमलाल कौशिक और पूर्व सांसद सुश्री सरोज पाण्डेय सहित बड़ी संख्या में क्षेत्र के जनप्रतिनिधि और ग्रामीणजन उपस्थित थे।

पूर्व राष्ट्रपति डॉ नीलम संजीव रेड्डी को जन्म दिवस श्रद्धांजलि

अध्यक्ष, लोकसभा, श्रीमती सुमित्रा महाजन, उपाध्यक्ष, लोक सभा डा. एम. थंबी दुरई और अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ नीलम संजीव रेड्डी को आज 1 9 मई, 2017 को संसद भवन नई दिल्ली में  जन्म बरसी श्रद्धा सुमन श्रद्धांजलि दी.

नहीं रहे मन्नू लाल यदु मनु अस्मिता का निधन

'राम वन गमन मार्ग' 'छत्तीसगढ़ अस्मिता' वाले डाॅ. मन्नूलाल का पुरानी बस्ती टुरी हटरी निवास में हार्ट फेल से स्वर्गवास

रायपुर, 24 मार्च 2017 - भगवान श्रीराम के छत्तीसगढ़ में राम वन गमन मार्ग की खोज करने वाले प्रदेश के प्रसिद्ध साहित्यकार डॉ. मन्नू लाल यदु मनु का शुक्रवार सुबह हार्ट अटैक से निधन हो गया।

डॉ. मन्नू लाल यदु 83 वर्ष के थे, उनका जन्म 13 मार्च 1934 को बेमेतरा जिले के ग्राम मटका में हुआ था।

तूफान में जलता एक दिया - माइकल जैक्सन

जैको अमर हो गए। जिन्दगी के कितने रंग है बताना ही मुश्किल है पर शमा को तो हर रंग में जलना ही पड़ता है सहर होने तक। किसी-किसी की जिंदगी में हम आश्चर्यजनक परिस्थितियाँ, कभी स्वर्ग के नजारे कभी अथाह पीड़ा का लहराता सागर उमड़ता देखते हैं। आज माइकल जैक्‍सन का अंतिम संस्‍कार सभी को बहुत रूला रहा है।

माइकल जैक्सन का जीवन सफलता की बुलंदियों और विफलताओं, विवादों की कँटीली झाड़ी के समान था। माइकल जैक्सन बचपन से पिता के कड़े बर्ताव से उसका मन, अनेक कुंठाओं की जन्म स्थली बन गया जिससे माइकल जैक्सन कभी उबर नहीं पाया पर तमाम तूफानों के बावजूद नृत्य संगीत के रूप में सरस्वती सदा उसकी अंगुली थामे रही।