भ्रष्टाचार के खिलाफ मुख्यमंत्री के तीखे तेवर

भ्रष्ट ठेकेदारों को काली सूची में डालकर दस वर्ष तक ठेकों से वंचित किया जाएगा
भ्रष्ट लोगों पर तत्परता से होगी कड़ी कार्रवाई : डॉ. रमन सिंह का ऐलान

• लगभग 70 करोड़ रूपये के विकास एवं निर्माण कार्यो का भूमिपूजन, शिलान्यास और लोकार्पण

• पोस्ट मैट्रिक कन्या छात्रावास खोलने की घोषणा

• बैगा मंगल भवन के लिए 10 लाख रूपये मंजूर

• 216 वन अधिकार मान्यता पत्र का वितरण

• दो बैगा युवाओं को शिक्षाकर्मी नियुक्ति पत्र

रायपुर, तीन जनवरी 2009 - मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने भ्रष्टाचार के खिलाफ राज्य सरकार के कठोर नजरिए के साथ अपने तीखें तेवर दिखाते हुए कहा है कि निर्माण कार्यों और शासकीय योजनाओं में जनता के गाढ़े कमाई के पैसों का दुरूपयोग किसी भी हालत में नहीं होने दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार करने वाले ठेकेदारों को काली सूची में डालकर कम से कम दस वर्ष के लिए ठेका लेने से वंचित कर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने आज कबीरधाम (कवर्धा) जिले के आदिवासी बहुल ग्राम चिल्फी में लगभग 70 करोड़ रूपए के विभिन्न विकास और निर्माण कार्यों का भूमिपूजन, शिलान्यास और लोकार्पण करते हुए विशेष पिछड़ी बैगा जनजाति के ग्रामीणों के एक विशाल सम्मेलन में इस आशय के विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार की शिकायतों पर तत्परता से जांच करायी जाएगी।

डॉ. सिंह ने यह भी कहा कि अधिकारी हो या कर्मचारी या किसी भी स्तर के जनप्रतिनिधि सबको मिलकर समाज सेवा की भावना से पूरी ईमानदारी के साथ छत्तीसगढ़ की दो करोड़ से अधिक आबादी की तरक्की और खुशहाली के लिए काम करना होगा। शासन-प्रशासन में भ्रष्टाचार में लिप्त पाए जाने पर संबंधित व्यक्तियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। चाहे उनका ओहदा कुछ भी क्यों न हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि निर्माण और विकास योजनाओं से जुड़े विभागों के अधिकारियों और संबंधित क्षेत्रों के जनप्रतिनिधियों को इलाके में स्वीकृत और सभी निर्माण कार्यों की नियमित रूप से निगरानी करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था में ग्राम पंचायतों, जनपद और जिला पंचायतों को भी इसके लिए व्यापक अधिकार दिए गए हैं। उन्हें अपने इन अधिकारों का इस्तेमाल कर निर्माण कार्यों का निरीक्षण भी करना चाहिए ताकि उनमें गुणवत्ता बनी रहे और शासकीय धन राशि का दुरूपयोग न होने पाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी पैसा वास्तव में जनता का ही पैसा है। शासकीय कार्य में उसका सदुपयोग होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि गरीबों के चेहरे में मुस्कुराहट बनी रहे और गांव, गरीब, किसान की कल्याण के लिए सतत् कार्य संचालित होता रहे। उन्होंने कहा कि जनता के हित में लिए गए निर्णय का पूरी ईमानदारी के साथ जनता की बेहतरी के लिए ही कार्य किया जाए, जिसका लाभ जनता को मिलें। डॉ. ंसिह ने आज चिल्फी में 70 करोड़ 70 करोड़ रूपये के विकास कार्यो का भूमिपूजन,लोकार्पण और शुभारंभ किया। उन्होंने चिल्फी में पोस्ट मैट्रिक कन्या छात्रावास अगले सत्र से खोलने की घोषणा की और चिल्फी में बैगा आदिवासियों के लिए मंगल भवन निर्माण हेतु 10 लाख रूपये की स्वीकृति प्रदान की। डॉ. ंसिह वनांचल में निवासरत 216 हितग्राहियों को वन अधिकार मान्यता पत्र का वितरण किया। उन्होंने विशेष पिछड़ी बैगा जनजाति के दो युवाओं को शिक्षाकर्मी वर्ग तीन के नियुक्ति पत्र भी प्रदान किए।

मुख्यमंत्री ने 1150.10 लाख रूपये की लागत से बनने वाले 286 बैगा आवास, राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना से 3887.18 लाख रूपये के 645 निर्माण कार्यों और 42 लाख रूपये की लागत से 70 कुंआ निर्माण कार्य, विशेष परियोजना मद से 2470.95 लाख रूपये की लागत से 370 कूप, स्टाप डेम, मेड़ बंधान के कार्य का भूमिपूजन किया। डॉ. सिंह ने कृषि अभियांत्रिकी द्वारा क्षेत्र के किसानों के लिए 1.20 करोड़ रूपये के दो बुलडोजर, राष्ट्रीय सम विकास योजना से वनांचल के किसानों को 5.40 लाख रूपये के केरोसीन#डीजल#विद्युत चलित पंप, बैगा विकास अभिकरण के द्वारा मत्स्य विभाग के माध्यम से 1.62 लाख रूपये की लागत से 27 हितग्राहियों को मछली जाल प्रदाय किये गये। अत्याव्यसायी वित्त विकास निगम की 4.02 लाख रूपये के डीजल आटो रिक्शा योजना के तहत अनुसूचित जाति# जनजाति के दो हितग्राहियों को आटो रिक्शा की चाबी, बस्तर विकास प्राधिकरण और आदिम जाति विकास प्राधिकरण से 87 लाख रूपये की लागत से 87 ग्रामों का विद्युतीकरण कार्य, बस्तर विकास प्राधिकरण, आदिवासी विकास प्राधिकरण और आदिम जाति विकास प्राधिकरण से 284 लाख रूपये की लागत से 64 ग्रामों में सी.सी.रोड़ निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया। डॉ. सिंह ने प्राथमिक वनोपज सहकारी समिति चिल्फी के हितग्राहियों को सालबीज संग्रहण वर्ष 2007 की बोनस राशि का चेक और वन्य प्राणियों से जनहानि की क्षतिप्रति राशि दो लाख रूपये एक हितग्राही को प्रदान की गई। स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना के तहत 11 समूह को 33 लाख रूपये का चेक समूहों को प्रदान किए। पांच किसानों को किसान समृध्दि योजना, पांच किसानों को शांकभरी योजना का चेक और 10 किसानों को स्प्रिंकलर सेट प्रदान किए। डॉ. सिंह ने 50 किसानों को शहडोल हल का वितरण भी किया। 43.26 लाख रूपये में निर्मित चिल्फी डायवर्सन का लोकार्पण और चिल्फी में 57.26 लाख रूपये में निर्मित होने वाली हायर सेकेण्डरी भवन, चिल्फी में 51.51 लाख रूपये में निर्मित होने वाली हाई स्कूल भवन का भूमिपूजन किया।

मुख्यमंत्री डॉ. ंसिह ने कहा कि गांव में रहने वाले गरीब, किसानों और जरूरतमंद लोगों के लिए प्रत्येक पंचायत में एक-एक कार्य का शुभारंभ किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक कार्य गुणवत्तापूर्ण हो और जनता के पैसे का सही सदुपयोग हो। शासन के पास राशि की कमी नहीं है। स्वीकृत और निर्माणाधीन कार्यो की मॉनिटरिंग जनप्रतिनिधि और अधिकारी सतत् करें, जिसका लाभ आम जनता को मिल सकें। उन्होंने कहा कि हमें मिलजुलकर कार्य पध्दति में परिवर्तन कर जनता की सेवा में सदैव तत्पर रहना चाहिए, जिससे आम जनता की समस्या त्वरित रूप से दूर हो और शासन की योजनाओं का लाभ आम जनता को प्राप्त हो। डॉ. सिंह ने कहा कि प्रत्येक गांव में विकास का काम हो रहा है। रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जा रहे हैं, जिससे जनता में खुशहाली आ रही है। सरकार अपनी प्रयास से हर क्षेत्र में जनता का मदद करने तैयार है, किन्तु जनता को शासन की योजनाओं का लाभ लेने आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि गांव के प्राथमिकता तय कर सबमिल जुलकर उसे पूरा करें, जिससे गांव के साथ-साथ ग्रामीण जनता का भी विकास हो। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि प्रत्येक किसान जिन्होंने अपना धान सहकारी समिति के माध्यम से बेचा है, उन्हें 270 रूपये प्रति क्विंटल की मान से बोनस दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि अत्योदय कार्डधारी गरीबों को एक अप्रैल 2009 से एक रूपये प्रति किलो की दर से चावल और शेष 24 लाख परिवारों को दो रूपये की दर से चावल प्रदाय किया जायेगा। इसीप्रकार प्रदेश के 37 लाख परिवारो को प्रतिमाह नि:शुल्क आयोडीनयुक्त नमक दिया जायेगा। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री डॉ. सिंह को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया। भोरमदेव सहकारी शक्कर कारखाना की ओर से सभी हितग्राहियो को एक-एक कंबल और उद्यानिकी विभाग की ओर से एक-एक पौधे वितरित किए गये। संसदीय सचिव और क्षेत्रीय विधायक डॉ. सिया राम साहू ने भी इस अवसर पर सम्मेलन को संबोधित किया। कलेक्टर श्री सिध्दार्थ कोमल सिंह परदेशी ने चिल्फी में आयोजित बैगा सम्मेलन के अवसर पर विकास#निर्माण कार्यो और हितग्राही मूलक योजनाओं से संबंधित प्रतिवेदन का वाचन किया।

इस अवसर वरिष्ठ अधिवक्ता श्री विघ्नहरण सिंह, श्री संतोष पांडे, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री रघुराज सिंह, श्री आनंद सिंह, श्री मोती राम चंद्रवंशी, श्री लालजी चंद्रवंशी, नगर पालिका अध्यक्ष श्री संतोष गुप्ता, मंडी अध्यक्ष श्रीमती कुमारी बाई, डॉ. रूपनाथ मानिकपुरी, श्री सुदर्शन साहू, बैगा विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री रोवन सिंह बैगा तथा अनेक जनप्रतिनिधि और प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

हिन्दी