पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम रायपुर की शान

आयोजनों के लिए रायपुर में विशाल ऑडिटोरियम याने सभा भवन की आवश्यकता लंबे समय से महसूस की जा रही थी. रंगमंच के लोगों को शहर में स्तरीय थिएटर की कमी हमेशा खलती थी. आज 1500 दर्शकों वाले साइंस कॉलेज ऑडिटोरियम का उद्घाटन हो गया अब रायपुर में भी विश्वस्तरीय कार्यक्रम होंगे.

दिल्ली के विज्ञान भवन की तर्ज पर बना रायपुर में विशाल ऑडिटोरियम: मुख्यमंत्री ने किया लोकार्पण, मुख्य ऑडिटोरियम में 1500 लोगों के बैठने की व्यवस्था,  लोकापर्ण इवेंट में गजल गायक पंकज उधास की गजल वाली शाम ने रायपुर ऑडिटोरियम को एक अलग पहचान दी.

दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर हुआ ऑडिटोरियम का नामकरण, छत्तीसगढ़ में अन्त्योदय की कल्पना हो रही साकार: डॉ. रमन सिंह

रायपुर, 15 अक्टूबर 2017 - मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज यहां शासकीय नागार्जुन विज्ञान महाविद्यालय परिसर में लोक निर्माण विभाग द्वारा 48 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित अत्याधुनिक ऑडिटोरियम का लोकार्पण किया। यह ऑडिटोरियम विभिन्न सामाजिक, सांस्कृतिक आयोजनों के लिए बनवाया गया है। इसका नामकरण पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर किया गया है।

मुख्यमंत्री ने लोकार्पण समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा - यह भवन दिल्ली के विज्ञान भवन की तरह उच्च गुणवत्ता, शानदार लाइट और साउंड की व्यवस्था, सुविधाजनक बेहतरीन निर्माण और रिकार्ड समय में निर्माण कर लोक निर्माण विभाग ने चमत्कारिक कार्य किया है। मुख्यमंत्री ने कहा - पंडित दीनदयाल उपाध्याय की अंत्योदय की कल्पना को छत्तीसगढ़ सरकार साकार कर रही है। समाज की अंतिम पंक्ति के लोगों के उत्थान को राज्य सरकार ने अपना लक्ष्य बनाया है। सरकार आम जनता को स्वास्थ्य एवं पोषण सुरक्षा दे रही है। मुख्यमंत्री ने कहा -  पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर निर्मित इस शानदार ऑडिटोरियम की गुणवत्ता भी राष्ट्रीय स्तर की है।  देशभर के लोगों के लिए यह आकर्षण का केन्द्र बनेगा। दिल्ली से भी लोग इसे देखने आएंगे।  उन्होंने अपने जन्म दिन पर छत्तीसगढ़ की ढाई करोड़ जनता से प्राप्त प्रेम और स्नेह का उल्लेख करते हुए कहा कि लोगों के अपार स्नेह और सहयोग से ही मुझे प्रदेश की सेवा करने का अवसर मिला है।

उन्होंने दो वर्ष के भीतर ऑडिटोरियम का निर्माण पूर्ण करने पर खुशी जतायी और इसके लिए लोक निर्माण विभाग को बधाई दी।

समारोह की अध्यक्षता करते हुए विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने कहा कि आज का दिन छत्तीसगढ़ के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा, क्योंकि आज मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और पूर्व राष्ट्रपति ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के जन्म दिन के अवसर पर इस आडिटोरियम का लोकार्पण किया गया। इस ऑडिटोरियम को देखने दूसरे प्रदेश के लोग आएंगे और इस निर्माण का अनुशरण करेंगे।

लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत ने कहा कि यह ऑडिटोरियम मुख्यमंत्री डॉ. रमन  सिंह और उच्च शिक्षा मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय के सहयोग से ही निर्मित हो सका। यह सांस्कृतिक, शैक्षणिक तथा अन्य आयोजनों के लिए उपयुक्त होगा।  उन्होंने कहा कि इसके अलावा आगामी समय में रायपुर में मेडिकल कॉलेज और शहीद स्मारक भवन में ऑडिटोरियम का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने छत्तीसगढ़ सड़क विकास निगम के माध्यम से एक्सप्रेस वे के निर्माण को 15 अक्टूबर 2018 तक पूर्ण करने का संकल्प लिया। पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम के लोकार्पण अवसर पर सांसद श्री रमेश बैस, कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, उच्च शिक्षा मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पांडेय ने भी अपने विचार प्रकट किए। लोक निर्माण विभाग के सचिव श्री सुबोध सिंह ने स्वागत भाषण दिया। इस अवसर पर राज्य सभा सदस्य डॉ. भूषण जांगड़े, श्री धरमलाल कौशिक, श्री सौदान सिंह, गृहमंत्री श्री रामसेवक पैकरा, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चन्द्राकर, नगरीय प्रशासन मंत्री श्री अमर अग्रवाल, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू, वन मंत्री श्री महेश गागड़ा, पाठ्यपुस्तक निगम के अध्यक्ष श्री देवजी भाई पटेल, विधायक श्री श्रीचंद सुंदरानी, नगर निगम के सभापति श्री प्रफूल्ल विश्वकर्मा सहित जनप्रतिनिधियों, वरिष्ठ अधिकारीगण और बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।

लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत ने आज यहां बताया कि प्रदेश की राजधानी में विभिन्न सांस्कृतिक, शैक्षणिक आदि अन्य आयोजनों के लिए सर्वसुविधायुक्त ऑडिटोरियम भवन का निर्माण किया गया है। डेढ़ हजार दर्शक क्षमता वाले इस ऑडिटोरियम का निर्माण एक लाख 97 हजार 156 वर्गफीट भू-भाग में किया गया है। इसके भू-तल में मुख्य ऑडिटोरियम (1500 सीटर), ग्रीन रूम, रिसेप्शन लॉबी, एट्रीयम (फॅायर), किचन एवं डायनिंग रूम और व्हीआईपी लाउंज है। इसी तरह ऑडिटोरियम के प्रथम तल में कन्वेंशन हाल (100 सीटर), कन्वेंशन हाल (60 सीटर) और बैठक हेतु बोर्ड रूम (25 सीटर) का निर्माण किया गया है। इसके द्वितीय तल में कैफेटोरिया तथा प्रदर्शनी हॉल और तृतीय तल में मुख्य हॉल की बालकनी तथा प्रतीक्षालय है।

श्री मूणत ने बताया कि सम्पूर्ण ऑडिटोरियम भवन पूर्णतः वातानुकूलित है। ऑडिटोरियम में एकॉस्टिकल संबंधी आवश्यकताओं का ध्यान रखा गया है। प्रोजेक्शन हेतु आवश्यक प्रावधान रखा गया है। ऑडिटोरियम भवन में दिव्यांगों के लिए लिफ्ट एवं रैम्प की व्यवस्था की गई है। फायर डिटेक्टर, फायर अलार्म एवं स्प्रिंक्लर आदि की भी व्यवस्था की गई है। भवन में आपातकालीन बिजली आपूर्ति हेतु डीजल जनरेटर का प्रावधान है। सुरक्षा की दृष्टिकोण से सम्पूर्ण ऑडिटोरियम भवन सी.सी.टी.व्ही. कैमरा से सुसज्जित है।

हिन्दी