गढ़कलेवा में भी ‘रमन के गोठ’ की चर्चा

छत्तीसगढ़ी व्यंजनों के जलपान गृह गढ़कलेवा में भी ‘रमन के गोठ’ की चर्चा

पानी बचाने मुख्यमंत्री की अपील का श्रोताओं ने किया समर्थन

रायपुर, 10 अप्रेल 2016 - मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता ‘ रमन के गोठ की आज प्रसारित आठवीं कड़ी को यहां महंत घासीदास संग्रहालय स्थित छत्तीसगढ़ी व्यंजनों के  जलपान गृह ‘गढ़कलेवा’ में बड़ी संख्या में लोगों ने ध्यान से सुना। इन श्रोताओं ने नवरात्रि पर्व सहित शिक्षा, स्वास्थ्य, भू-जल संरक्षण आदि विषय पर दी गई जानकारी की खुले मन से सराहना की। पानी बचाने मुख्यमंत्री की अपील का सभी श्रोताओं ने समर्थन किया।
कार्यक्रम सुनने के बाद रायपुर निवासी श्री दीपक चौहान ने कहा कि कार्यक्रम बहुत अच्छा है। इसके जरिये जनसामान्य को सरकार के काम-काज के साथ-साथ छत्तीसगढ़ के तीज-त्यौहार, कला-संस्कृति तथा जन सामान्य की भलाई के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों की जानकारी मिलती है। श्री चौहान का कहना था कि रमन का गोठ कार्यक्रम निरंतर जारी रहना चाहिए। उन्होंने मुख्यमंत्री डॉ. सिंह द्वारा भू-जल संरक्षण की अपील का समर्थन करते हुए कहा कि पानी की बचत हर हाल में की जानी चाहिए। जल से ही जीवन बचेगा।
महंत घासीदास संग्रहालय में आए गरियाबंद के श्री विकास कुमार ने रमन के गोठ कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि इससे हमें तीज त्यौहार हमें जानकारी मिलती है। उन्होंने शिक्षा के बेहतरी तथा पानी का दुरूपयोग रोकने के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अपील का समर्थन करते हुए कहा कि इसके लिए लोगों से आगे आना चाहिए। श्री देवलाल साहू ने कहा कि रमन के गोठ कार्यक्रम के माध्यम से मुख्यमंत्री जी सीधी बातचीत करते हैं। डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती और 24 अप्रैल को राष्ट्रीय ग्राम पंचायत दिवस है, यह जानकारी उन्हें इस कार्यक्रम के माध्यम से मिली है। श्री साहू ने कहा कि भू-जल स्तर में गिरावट को लेकर मुख्यमंत्री ने जो चिंता प्रकट की है वह स्वाभाविक है। इस समस्या को हल करने के लिए हम सबको मिलकर प्रयास करना होगा। रायपुरा महादेव घाट के श्री राजू साहू एवं लव निषाद तथा चंगोराभाठा रायपुर के वेदप्रकाश साहू ने भी रमन के गोठ कार्यक्रम की सराहना करते हुए इस कार्यक्रम को मुख्यमंत्री डॉ. सिंह के माध्यम से जन-जन की गोठ की संज्ञा दी।

हिन्दी