अगले 24 घंटो में भारी वर्षा की संभावना

आपदा प्रंबधन से संबंधित अधिकारियों को तैयार रहने के निर्देश

27 जुलाई 2017 - छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग रायपुर से प्राप्त जानकारी के अनुसार आगामी 24 घंटो में जांजगीर-चांपा जिले के विभिन्न क्षेत्रों में भारी बारिश की संभावना व्यक्त की गई है।

जांजगीर-चांपा कलेक्टर डॉ एस भारतीदासन ने आपदा प्रबंधन से संबधित सभी विभागो को बचाव एवं राहत कार्य के लिए तैयार रहने एवं बाढ़ संभावित क्षेत्रों में लोगों को सचेत करने के लिए मुनादी कराने के निर्देश दिए हैं। बाढ़ आदि की स्थिति निर्मित होने पर सुरक्षित स्थानों का चिंहाकित करने को कहा है।

जांजगीर-चांपा जिले में अब तक 541.1 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज

जांजगीर-चांपा, 31 जुलाई 2017 - चालू मानसून सत्र के दौरान विगत एक जून से 31 जुलाई तक जिले में 541.1 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई है। कलेक्टर कार्यालय के भू-अभिलेख शाखा से प्राप्त जानकारी के अनुसार सबसे ज्यादा वर्षा तहसील मालखरौदा में 742.2 मि.मी. दर्ज की गई है। इसी तरह चाम्पा मंे 649 मि.मी., नवागढ़ मंे 603.9 मि.मी., जांजगीर मंे 591.9 मि.मी., बलौदा में 592.7 मि.मी., पामगढ़ में 585.8 मि.मी., डभरा मंे 463 मि.मी, सक्ती में 466.9 मि.मी., अकलतरा में 423.5 मि.मी. वर्षा और जैजैपुर में 292.4 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई है।

टिप्पणियाँ

भू-अर्जन प्रकरणों में अवार्ड पारित होते ही भूमि स्वामियों को मुआवजा भुगतान सुनिश्चित करें-कलेक्टर डॉ. भारतीदासन, सड़कों की मरम्मत करने के निर्देश
एसएलआरएम केन्द्रों का निर्माण कार्य जल्द पूर्ण कराने की हिदायत

जांजगीर-चांपा, 01अगस्त 2017 -  कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने आज समय-सीमा की बैठक में विभागवार प्रकरणों पर की गई कार्यवाहियों की विस्तार से समीक्षा की। कलेक्टर ने सभी वर्किंग डिपार्टमेंट के अधिकारियों से कहा है कि सड़क, पुल, भवन आदि निर्माण कार्यो के लिए जहां निजी भू-अर्जन के बाद प्रकरणों में अवार्ड पारित हो चुका है, उन भूमि स्वामियों को समयावधि में आवश्यक रूप से मुआवजा भुगतान सुनिश्चित किया जाए। यदि भू-स्वामी मुआवजा लेने के लिए तैयार नहीं है उनकी राशि रिफरेंस कोर्ट में जमा कर दिया जाए। बैठक में जिला पंचायत के सीईओे श्री अजीत वसंत, वन मण्डलाधिकारी श्रीमती सतोविशा समाजदार, अपर कलेक्टर श्री डी.के. सिंह और सभी विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।  
    कलेक्टर ने शिवरीनारायण बायपास, सेमरिया से करनौद, पोता-परसा-फगुरम मार्ग, छीता-पण्डरिया, बावनगुड़ी-कपिस्दा मार्ग की चर्चा करते हुए भू-अर्जन की सभी प्रक्रिया पूर्ण कर सूचित करने के निर्देश दिये हैं, ताकि समय पर सड़कों का निर्माण कार्य शुरू हो सके। उन्होंने खोखसा में निर्माणाधीन रेलवे ओव्हर ब्रिज के पास की सड़क का  मरम्मत कर उसकी फोटो भेजने के निर्देश दिये हैैं। इसके अलावा अन्य विभिन्न सड़कों की मरम्मत के लिए उन्होंने संबंधित अधिकारियों को हिदायत दी है। कलेक्टर ने जनपद सीईओ से कहा कि यदि वे अपने क्षेत्र में बैकिंग कव्हरेज चाहते हैं तो इसकी जानकारी कलेक्टोरेट भेज दें। दस ग्राम पंचायत के बीच एक बैंक शाखा के हिसाब से यह जानकारी भेजी जाए। उन्हांेने तेंदूभांठा मंगल भवन में बिजली-पानी की व्यवस्था पूर्ण कराकर सूचित करने के लिए कहा है।
      समय-सीमा के प्रकरणों की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने कहा कि यदि ग्राम पंचायत कटारी के सरपंच सचिव के विरूद्ध पेंशन राशि गबन की शिकायत सही है तो उनके विरूद्ध जल्द से जल्द कार्रवाई की जाये। कलेक्टर ने आधार सीडिंग कार्य की समीक्षा करते हुए कहा कि जहां आधार सीडिंग 50 प्रतिशत से कम है वहां अधिकारी पटवारियों के विरूद्ध कार्रवाई करें अन्यथा एक सप्ताह के बाद उनके विरूद्ध कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। आदिवासी विकास विभाग में प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत अनुसूचित जाति बाहुल्य 30 गांव के चयन प्रक्रिया की कार्रवाई को आगे बढ़ाएं। कलेक्टर ने सभी विभाग के अधिकारियों को सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत उनके कार्यालयों में लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिए निर्देशित किया है।
      डॉ. भारतीदासन ने नगरीय निकायों में निर्माणाधीन एसएलआरएम केन्द्रों को जल्द पूर्ण कराने की हिदायत दी है। उन्होंने कहा है कि इन केन्द्रांे के निर्माण में देरी करने वाले सीएमओ  की एक वेतन वृद्धि रोकने की अनुशंसा की जाएगी। कलेक्टर ने तहसीलवार लोक सेवा केन्द्रांे मंे लंबित प्रकरणों की समीक्षा करते हुए कहा कि इन केन्द्रों में जरूरी दस्तावेजांे के साथ आवेदन लिये जाएं। इससे आवेदन निरस्त नहीं होंगे और आवेदकों को भी असुविधा नहीं होगी। डॉ.भारतीदासन ने कहा कि पीएचई विभाग द्वारा जहां पाईप लाईन विस्तार के लिए गड्ढे किये जा रहे है उन्हंे कार्य पूर्ण होते ही तुरंत ठीक कर दिया जाना चाहिए। कलेक्टर ने कहा कि वर्ष 2017-18 में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए 16 अगस्त से नया पंजीयन शुरू होने जा रहा है। इसकी प्रक्रिया का अच्छी तरह अध्ययन कर लिया जाए। वर्ष 2016-17 में जिनका पंजीयन हो चुका है उनकी जानकारी पटवारी को उपलब्ध करा दें। सभी जरूरी तैयारियां और प्रशिक्षण कार्य समय पर पूर्ण करें।

हिन्दी