स्वयं समर्पित आनंदित जन से विकास मुख्यमंत्री की गणतंत्र बधाई

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर नागरिकों को बधाई एवं शुभकामनाएँ दी हैं। मुख्यमंत्री ने नागरिकों से प्रदेश की खुशहाली के लिये उत्कृष्टतम प्रयास करने का आग्रह करते हुए कहा कि विकास के लिये आनंदित होकर स्वयं को समर्पित करने का संकल्प लें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश लगातार प्रगति के पथ पर अग्रसर है। बीमारु राज्यों की, श्रेणी से निकलकर विकसित राज्यों की श्रेणी में आने की कगार पर हैं। विकास के अनेक आयाम हासिल हुए हैं, पर मंजिलें अभी बाकी हैं। उन्होंने कहा कि नई पीढ़ी को भयमुक्त, निष्पक्ष और कानून प्रिय वातावरण देने के लिये सबको एक साथ मिलकर आगे बढ़ना होगा।

जनसंपर्क, जल-संसाधन और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा गणतंत्र दिवस 26 जनवरी पर जिला मुख्यालय दतिया में राष्ट्र ध्वज फहराया और परेड की सलामी लेकर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का प्रदेश की जनता के नाम गणतंत्र दिवस संदेश का वाचन किया। डॉ. मिश्रा कानपुर से आज रात्रि दतिया लौटेंगे। जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्रा दतिया और डबरा में गणतंत्र दिवस पर आयोजित अन्य कार्यक्रमों में भी शामिल हुए।

वाणिज्य-उद्योग, रोजगार, खनिज साधन तथा प्रवासी भारतीय मंत्री राजेन्द्र शुक्ल गणतंत्र दिवस पर रीवा में मुख्य समारोह में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी लेकर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों तथा शहीद विधवाओं का सम्मान किया।

मंत्री शुक्ल गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर लोकतंत्र के लोक उत्सव भारत पर्व में भी शामिल हुए थे।

जनसंपर्क, जल-संसाधन और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर नागरिकों को हार्दिक बधाई दी है।

मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि गणतंत्र दिवस उल्लास का अवसर है। इस गणतंत्र दिवस पर प्रदेश में शासकीय कार्यक्रमों के साथ ही सामाजिक स्तर पर भी अनेक कार्यक्रम हो रहे हैं। मध्यप्रदेश की जनता, सरकार के विकास के प्रयासों में भागीदारी कर रही है। गण और तंत्र के मध्य समन्वय, संवाद और सहयोग के ऐसे उदाहरण बहुत कम प्रांतों में देखने को मिलेंगे। मध्यप्रदेश में अपने प्रदेश और प्रगति की हर कोशिश में जन-जन के सम्मिलित होने की भावना का विकास हुआ हैं। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान के आव्हान पर नर्मदा सेवा यात्रा जैसे अनूठे अभियान में भी लोग उत्साह से शामिल हो रहे हैं। जनसंपर्क मंत्री ने गणतंत्र दिवस कार्यक्रमों में भी अधिकाधिक सहभागिता की अपेक्षा आमजन से की है।

चित्र में गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को हस्तशिल्प पर आधारित पुस्तक “जो मुझे याद रहा” (साठा तो पाठा) भेंट ग्रहण करते हुए।

हिन्दी