संस्कृति

पुरखौती मुक्तांगन में आमचो बस्तर प्रखण्ड

राज्य की संस्कृति, परम्परा एवं कला का जीवंत प्रदर्शन नया रायपुर स्थित पुरखौती मुक्तांगन में किया गया है। यह पर्यटकों, आम नागरिकों और कला-प्रेमियों के आकर्षण का केन्द्र बन गया है। अब यहां आमचो बस्तर की तरह सरगुजा एवं मैदानी क्षेत्र की कला संस्कृति को प्रदर्शित किया जाएगा। वर्ष 2017-18 में पुरखौती मुक्तांगन के विभिन्न कार्यों के लिए पांच करोड़ रूपए खर्च किया जाना प्रस्तावित है।
संस्कृति विभाग के अधिकारियों ने बताया कि पुरखौती मुक्तांगन करीब दो सौ एकड़ में फैला है।

भोपाल में संस्कृत सम्मेलन

भोपाल में राज्य-स्तरीय संस्कृत सम्मेलन 29 मार्च को, देश के ख्याति-प्राप्त संस्कृत विद्वान शामिल होंगे सम्मेलन में 

भोपाल : मंगलवार, मार्च 21, 2017, भोपाल में 29 मार्च को गुड़ीपड़वा के मौके पर राज्य-स्तरीय संस्कृत सम्मेलन रवीन्द्र भवन, भोपाल में होगा। सम्मेलन में देश के ख्याति-प्राप्त संस्कृत विद्वान शामिल होंगे।

नाटक युगपुरुष महात्मा के महात्मा का मंचन

एक साथ रायपुर के दो सभागारों मेडिकल कॉलेज हॉल और सत्य साईं ऑडिटोरियम में नाटक युगपुरुष महात्मा के महात्मा का मंचन 17 मार्च 2017 को हुआ। आध्यात्मिक गुरु श्रीमद राजचंद्र की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में रायपुर महत्मामय रहा।  डॉ. रमन सिंह ने महात्मा गाँधी पर आधारित नाट्य मंचन का आनंद लिया।

रायपुरियंस ने आनद लिया कि कैसे मोहनदास से महात्मा गांधी का सफर एक आध्यात्मिक गुरु के मार्गदर्शन में आरम्भ होकर परवान चढ़ा। महात्मा गाँधी के आध्यात्मिक गुरु श्रीमद राजचंद्र के बारे रायपुर के लोगों ने पहली बार जाना।

हिन्दी विज्ञान साहित्य परिषद, भाभा परमाणु अनुसंधान केन्द्र, मुम्बई

राज्य सरकार के संस्कृति और पुरातत्व विभाग द्वारा हिन्दी विज्ञान साहित्य परिषद, भाभा परमाणु अनुसंधान केन्द्र, मुम्बई के सहयोग से राजधानी रायपुर में कल 17 मार्च से तीन दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है।

महंत घासीदास संग्रहालय परिसर स्थित संस्कृति विभाग के सभाकक्ष में यह संगोष्ठी ’विज्ञान एवं पुरातत्व’ विषय पर होगी। इसका शुभारंभ कल 17 तारीख को विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल सवेरे 9 बजे करेंगे। संगोष्ठी 19 मार्च तक चलेगी। शुभारंभ समारोह की अध्यक्षता संस्कृति और पर्यटन मंत्री श्री दयालदास बघेल करेंगे।

आयरलैंड को सेंट पैट्रिक्स डे बधाई

राष्ट्रपति का सेंट पैट्रिक्स डे की पूर्व संध्या पर आयरलैंड की सरकार और लोगों के लिए संदेश 

राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने सेंट पैट्रिक्स डे की पूर्व संध्या (17 मार्च, 2017) पर आयरलैंड की सरकार और वहां की जनता को बधाई और शुभकामनाएं दी है। 

आयरलैंड के राष्ट्रपति महामहिम श्री माइकल डी. हिगिंस को भेजे अपने संदेश में राष्ट्रपति ने कहा “मैं भारत सरकार, यहां की जनता और मेरी ओर से सेंट पैट्रिक्स डे के अवसर पर आपको और आयरलैंड के मित्रवत लोगों को बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।

लाल किला का भारत पर्व गणतंत्र खास, आधार कार्ड जरुरी

26-31 जनवरी, 2017 तक लाल किले में ‘भारत पर्व’ का आयोजन किया जाएगा - भारत पर्व कार्यक्रम का उद्घाटन 26 जनवरी, 2017 को शाम 5 बजे किया जाएगा और 26 जनवरी, 2017 को यह आम जनता के लिए शाम 5 बजे से रात 9 बजे तक खुला रहेगा।  27 जनवरी, 2017 से 31 जनवरी, 2017 तक यह दोपहर 12 बजे से रात 9 बजे तक खुला रहेगा। इस कार्यक्रम में आम जनता को निशुल्‍क प्रवेश दिया जाएगा, हालांकि प्रवेश के लिए पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड, वोटर आईडी आदि साथ में होना जरूरी है।

महानाटय जाणता राजा के मंचन में रायपुर के कलाकार

प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम 1857 की 150 वीं वर्षगांठ समारोह पर रायपुर में पांच दिनों तक प्रदर्शित छत्रपति शिवाजी महाराज की जीवनी पर आधारित महानाटय 'जाणता राजा' के मंचन में राजधानी रायपुर के महाराष्ट्र मंडल के कलाकारों ने भी भूमिका निभायी। इनमें अनेक बाल कलाकार भी शामिल थे। संस्कृति मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने आज यहां अपने निवास पर महाराज छत्रपति प्रतिष्ठान पुणे (महाराष्ट्र) की ओर से इस नाटक में भाग लेने वाले इन कलाकारों को प्रमाण-पत्र वितरित किए। ये प्रमाण-पत्र महाराज छत्रपति प्रतिष्ठान पुणे द्वारा दिए गए हैं। श्री अग्रवाल ने इस अवसर पर सभी कलाकारों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

छत्तीसगढ़ सिन्धी साहित्य संस्थान आयोजित कार्यक्रम

संस्कृति मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की 150वीं वर्षगांठ समारोह के अंतर्गत पिछले एक साल तक देशभर में हुए कार्यक्रमों से देशवासियों में राष्ट्रीयता की भावना और मजबूत हुई है। देश को आजाद करने के लिए देशभक्तों द्वारा किए गए त्याग और बलिदानों के इतिहास से जुड़े कार्यक्रमों से नई पीढ़ी के मन में स्वाभिमान, राष्ट्रभक्ति और समाज सेवा का जज्बा पैदा करने में मदद मिली है। श्री अग्रवाल कल देर रात यहां छत्तीसगढ़ सिंधी साहित्य संस्थान द्वारा 1857 के शहीदों की याद में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। श्री अग्रवाल ने इस अवसर पर संस्थान की ओर से स्वतंत्रता संग्रा