संगोष्ठी

पं रामदयाल तिवारी 125वीं जयंती आयोजन

आमापारा चौक में रायपुर का पुराना है पंडित रामदयाल तिवारी स्कूल, उन्ही छत्तीसगढ़ी महामना जयंती के सवा सौ साल पुरे होने के उपलक्ष्य में कई आयोजन हो रहे हैं. 

रायपुर, 22 जुलाई 2017 - राज्य शासन के संस्कृति विभाग द्वारा साहित्यकार पंडित रामदयाल तिवारी की 125 वीं जयंती के अवसर पर कल 23 जुलाई को संस्कृति संचालनालय परिसर में महंत घासीदास संग्रहालय के सभागार में प्रातः साढ़े दस बजे से संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है। इस संगोष्ठी की अध्यक्षता श्री नंदकिशोर तिवारी करेंगे।

युगों युगों में संचार के सम्राट संत कबीर

कबीर के संचार पर गरिमामय आयोजन, संत कबीर दुनिया के सबसे बड़े संचारक : प्रोफेसर कप्तान सिंह सोलंकी, संत कबीर सामाजिक समरसता के प्रबल पक्षधर थे: डॉ. रमन सिंह
‘कबीर साहित्य में समरसता और संचार’ विषय पर संगोष्ठी का आयोजन

हजारों माताओं को बचाया जा सकता है मौत के मुंह से

संगोष्ठी में हुआ गंभीर विचार-विमर्श
निजी डॉक्टर भी करेंगे सहयोग
छत्तीसगढ़ में मातृ और शिशु मृत्यु दर में उल्लेखनीय कमी
संगोष्ठी में हुआ गंभीर विचार-विमर्श
रायपुर, 30 जून 2009 - अगर देश भर में गर्भवती महिलाओं के सुरक्षित और संस्थागत प्रसव पर गंभीरता से ध्यान दिया जाए तो हर साल हजारों की संख्या में माताओं को मौत के मुंह से बचाया जा सकता है। छत्तीसगढ़ में परिवार कल्याण की विभिन्न योजनाओं के जरिए राज्य शासन के लगातार प्रयासों के फलस्वरूप मातृ मृत्यु दर में उल्लेखनीय कमी आई है।

ग्राम स्वास्थ्य समितियां अंध-विश्वास और कुरीतियों को दूर करें

रायपुर, 15 मई 2008 छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी में आज छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य सेवाएं चुनौतियां एवं समाधान विषय पर आयोजित संगोष्ठी का शुभारंभ छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी के महानिदेशक श्री बी.के.एस.रे ने किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि ग्राम स्वास्थ्य समितियों एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में व्याप्त अंध विश्वास एवं कुरितियों को दूर करने का प्रयास भी किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि संगोष्ठी में विशेषज्ञों से प्राप्त सुझावों पर अमल किया जाना चाहिए। संगोष्ठी से प्राप्त सुझावों को, स्वास्थ्य सेवाओं संबंधी समस्याओं के समाधान, प्रशासनिक व्यवस्था, स्वास्थ्य के प्रति ग्रामीण सह