शिष्य परंम्परा को कायम रखें- जल संसाधन मंत्री श्री यादव

छात्रसंघ शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए जलसंसाधन मंत्री

वर्तमान में गुरू-शिष्य की लुप्त होती जा रही परम्परा को फिर से मजबूत बनाए रखना जरूरी है। गुरू-शिष्य परम्परा कायम होने पर ही शिक्षा का व्यवहारिक पक्ष प्रबल बना रहेगा। इस महाविद्यालय का गौवरशाली इतिहास रहा है। महाविद्यालय के गौरव को कायम रखना यहां के पदाधिकारियों और छात्र- छात्राओं का दायित्व है। जल संसाधन मंत्री श्री यादव आज शासकीय विश्वनाथ  यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय दुर्ग के नवगठित छात्रसंघ शपथ ग्रहण समारोह को मुख्य अतिथि के आसंदी से सम्बोधित कर रहे थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता महापौर सुश्री सरोज पाण्डेय ने की।

दुर्ग, 28 सितम्बर 07 - मुख्य अतिथि जलसंसाधन मंत्री ने आगे कहा कि समाज में सबसे अधिक सम्मान गुरूजनों का होता है। उन्होंने गुरूजनों का आव्हान किया के वे छात्रों के प्रति स्नेह और अपनी गरिमा को बनाए रखें। उन्होंने छात्रसंघ पदाधिकारियों की मांगो का जिक्र करते हुए महाविद्यालय में प्रोफेसर पदस्थापना, भवन की जर्जर हालत व पेयजल की समस्या को शासन स्तर पर हल करने की बातें कही। श्रममंत्री श्री यादव ने महाविद्यालय में नवगठित छात्रसंघ पदाधिकारियों अपनी शुभकामनाएं व बधाई दी।

कार्यक्रम की अध्यक्ष महापौर सुश्री सरोज पाण्डेय ने अपने उद्बोधन में कहा कि शपथ सार्थक तभी होगी जब हम अपने पद के दायित्व पर खरें उतरें। उन्होंने कहा कि महिला जब किसी पर पर बैठती है तो उससे और ज्यादा अपेक्षाएं बढ़ जाती है। महिलाओं को हर जगह अपनी योग्यता साबित करनी पड़ती है। वे खुद को कभी कमजोर न समझे अपने दायित्वों का भलिभांति निर्वहन करते हुए ऐसा कार्य करें जिससे पूरा समाज गर्वान्वित हो। उन्होंने छात्रसंघ पदाधिकारियों की मांग  पर सहृदयता दिखाते हुए कॉलेज परिसर में हैण्डपंप की घोषणा की।
       कार्यक्रम को महाविद्यालय के जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष श्री देवेन्द्र चंदेल ने भी सम्बोधित किया। महाविद्यालय के प्राचार्य श्री एन. के. दीक्षित ने महाविद्यालय का प्रतिवेदन वाचन किया। उन्होंने नवगठित छात्रसंघ पदाधिकारियों को शपथ दिलाई। छात्रसंघ अध्यक्ष कुमारी तोषी पटेल ने स्वागत भाषण में महाविद्यालय से जुड़ी विभिन्न मांगो से अतिथियों को अवगत कराया।

इसके पूर्व अतिथियों ने मॉ सरस्वती के तैलचित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित एवं मार्ल्यापण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम का संचालन प्रो. डॉ. राजेन्द्र चौबे ने तथा आभार प्रदर्शन छात्रसंघ सचिव कुमारी अर्चना यादव ने किया।

इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राध्यापकगण, गणमान्य नागरिक एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित थी।

हिन्दी