शिक्षा

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों ईवीएम की विश्वसनीयता

चुनाव आयोग ने यह पाया है कि गोवा, मणिपुर, पंजाब, उत्तर प्रदेश और पंजाब की राज्य विधानसभाओं के लिए हाल ही में हुए चुनावों के नतीजों की घोषणा के बाद कुछ राजनीतिक दलों ने ईसीआई-ईवीएम की विश्वसनीयता के खिलाफ आवाज उठाते हुए इन चुनावों के दौरान ईवीएम में छेड़छाड़ किये जाने का आरोप लगाया है। कोई विशिष्ट आरोप लगाये बगैर एक ज्ञापन 11 मार्च 2017 को राष्ट्रीय महासचिव, बीएसपी की ओर से प्राप्त हुआ है। ईसीआई ने 11 मार्च 2017 को ही इस ज्ञापन को खारिज करते हुए बीएसपी को विस्तृत जवाब दे दिया है। ईसीआई का जवाब www.eci.nic.in पर उपलब्ध है।

पंच-निर्णय तंत्र आधार पत्रों पर टिपण्णियां आमंत्रित

भारत में 7 अप्रैल 2017 तक पंच-निर्णय तंत्र के संस्‍थागतकरण की समीक्षा करने के लिए उच्‍च स्‍तरीय समिति के आधार पत्रों पर टिपण्णियां आमंत्रित 

भारत सरकार ने वाणिज्यिक विवादों के लिए एक वरीयतापूर्ण विवाद निपटान तंत्र के रूप में पंच निर्णय को बढ़ावा देने की जरुरत पर बल दिया है। इसके अनुरूप, सर्वोच्‍च्‍ न्‍यायालय के सेवानिवृत न्‍यायाधीश जस्टिस बी एन श्रीकृष्‍णा की अध्‍यक्षता में पंच-निर्णय तंत्र के संस्‍थागतकरण की समीक्षा करने तथा एक रिपोर्ट प्रस्‍तुत करने के लिए 29 दिसंबर 2016 को एक उच्‍च स्‍तरीय समिति का गठन किया गया है।

दक्षिण बस्तर में शिक्षा का अलख जगानें समतुल्यता कार्यक्रम आयोजित

शिक्षा से ही व्यक्ति का सर्वांगींण विकास संभव:-शिक्षा सचिव श्री नंद कुमार

दंतेवाडा, 27 ज़ून 09 शिक्षा से ही किसी व्यक्ति का सर्वांगीण विकास संभव है। शिक्षा के माध्यम से ही विकास की मुख्य धारा से किसी व्यक्ति को जोड़ा जा सकता है। जो व्यक्ति शिक्षा से वंचित रह गये है उन्है शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ना हम सभी की नैतिक जिम्मेवारी है उक्त बातें राय के स्कूल शिक्षा सचिव श्री नंद कुमार ने 26 जून को पुराने कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में आयोजित समतुल्यता कार्यक्रम को संबोधित करते हुयी कहीं।

रोजगारोन्मुखी शिक्षा को बढ़ावा

रायपुर, 01 जनवरी 2008 - उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा, जनशक्ति नियोजन मंत्री श्री हेमचंद यादव ने आज यहां अधिकारियों की समीक्षा बैठक में कहा कि प्रदेश के महाविद्यालयों में रोजगार उपलब्ध कराने वाले विषयों का समावेश करते हुये पाठयक्रम तैयार किया जाना चाहिए। श्री हेमचंद यादव उच्च शिक्षा विभाग एवं तकनीकी शिक्षा विभाग के सचिव श्री पी. रमेश कुमार के साथ विभागीय कार्यों के पिछले वर्षों में प्रगति की समीक्षा कर रहे थे।

खोले गए पन्द्रह हजार से अधिक नये सरकारी स्कूल

राज्य में अब शासकीय स्कूलों की संख्या 56 हजार 606 और विद्यार्थियों की संख्या 55.64 लाख

छत्तीसगढ़ में राज्य शासन द्वारा विगत लगभग पांच वर्ष में पन्द्रह हजार 039 नये सरकारी स्कूल खोले गए है। इनमें सर्वाधिक संख्या सात हजार 940 नये मिडिल स्कूलों की है।

आधुनिक शिक्षा युवा पीढ़ी के भविष्य का मुख्य आधार

आधुनिक शिक्षा युवा पीढ़ी के भविष्य का मुख्य आधार है। मध्यप्रदेश में इस दिशा में अनेकों योजनाये प्रारंभ की गई है। पढ़ाई के अलावा बच्चों को खेल आदि क्षेत्रो में बढ़ावा देने के लिए शालाओं में खेलकूद गतिविधियो तथा सांस्कृतिक गतिविधियों के लगातार आयोजन किये जाते हैं जिसमें प्रतिभाशाली बच्चे प्रोत्साहित होते है।

छत्‍तीसगढ़ महाविद्यालयीन प्राध्‍यापक नौकरी पायेंगें जन भागीदारी समिति व्‍दारा

छत्‍तीसगढ़ के महाविद्यालय इस बार प्राध्‍यापकों की कमी से मुक्‍त हो रहे हैं। उच्च शिक्षा, विज्ञान-तकनीकी एवं जनशक्ति नियोजन मंत्री डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी ने कहा है कि महाविद्यालयों में इस सत्र से प्राध्यापकों की कमी नहीं होगी। महाविद्यालय की जनभागीदारी समिति के माध्यम से रिक्त पद भरे जाएंगे।

छत्‍तीसगढ़ में गरीबी दूर करने के लिए शिक्षा महत्वपूर्ण

छत्तीसगढ़ के लिये केन्द्रीय विश्वविद्यालय
शैक्षणिक विकास भी आवश्यक - डॉ. मुंगेकर
चार सालों में छत्तीसगढ़ में उच्च शिक्षा का विस्तार
देश में साक्षरता बढ़ी है, लेकिन उसके अनुपात में गुणवत्ता नहीं
गुणात्मक सुधार और रोजगारोन्मुखी शिक्षा से गरीबी दूर होगी
अधोसंरचना विकास के साथ ही शिक्षकों और महिलाओं की भूमिका महत्वपूर्ण

रायपुर, 22 फरवरी 2008 - शिक्षा के प्रति उदासीनता को चुनौती देते हुए एक कार्यशाला केन्द्रीय योजना आयोग के सदस्य डॉ. भालचन्द्र मुंगेकर की अगुवायी में सम्‍पन्‍न हुई।

बहुद्देशीय शिक्षा से देशभक्ति विकास

विद्यार्थियों में देशभक्ति की भावना विकसित करने पर अधिक जोर दिया जाना चाहिए : राजस्व मंत्री श्री अग्रवाल

 राजस्व मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि शिक्षा संस्थाओं में बहुद्देशीय शिक्षा की व्यवस्था होनी चाहिए। शैक्षणिक, सांस्कृतिक, खेलकूद तथा समाज सेवा की गतिविधियों का अच्छा समन्वय शिक्षा व्यवस्था में होने से विद्यार्थियों के व्यक्तित्व के समुचित विकास में मदद मिलेगी।