वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से खेती किसानी समीक्षा

मानसून आने ही वाला है, सरकार खेती के लिए सतर्क है, अपर मुख्य सचिव श्री अजय सिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए जिला कलेक्टरों एवं कृषि विभाग के अधिकारियों की ली बैठक
खाद-बीज के भण्डारण एवं उठाव के दिए निर्देश
रायपुर, 08 जून 2017 - अपर मुख्य सचिव एवं कृषि उत्पादन आयुक्त श्री अजय सिंह ने यहां मंत्रालय से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए सभी जिला कलेक्टरों और कृषि एवं सम्बद्ध विभाग के अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में उन्होंने खरीफ फसल के लिए खाद-बीज के भण्डारण एवं उसके उठाव के साथ ही स्वायल हेल्थ कार्ड योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा की। श्री सिंह ने कहा कि मौसम विभाग द्वारा जारी पूर्वानुमान के अनुसार इस वर्ष राज्य में समय पर मानसून सक्रिय होने की संभावना एवं सामान्य वर्षा को दृष्टिगत रखते हुए खाद एवं बीज का शीघ्रता से उठाव करने हेतु कृषि विभाग के मैदानी अमलों को युद्ध स्तर पर कार्य करने के निर्देश दिए जाएं। उन्होंने जिला कलेक्टरों को खाद बीज के भण्डारण एवं उठाव की प्रतिदिन समीक्षा करने के निर्देश भी दिए। अपर मुख्य सचिव ने सरगुजा एवं बस्तर संभाग के दूरस्थ अंचलों में वर्षा पूर्व से ही खाद एवं बीज की मांग के अनुसार भण्डारण के निर्देश दिए, ताकि वर्षा काल में आवागमन अवरूद्ध होने की स्थिति में किसानों को खाद बीज प्राप्त करने में कठिनाई ना हो। 
बैठक में उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत खरीफ 2016 में पात्र कृषकों को दावा बीमा कंपनियों द्वारा संबंधित बैंको को राशि अंतरित कर दी गई है। दावा भुगतान की राशि को संबंधित कृषकों के खाते में एक सप्ताह के अंदर अंतरित करने के निर्देश दिए गए हैं। खरीफ 2016 में पांच प्रतिशत वृद्धि के साथ कुल 37 प्रतिशत कृषक इस योजना में जुड़े हैं। इस वर्ष लगभग 50 प्रतिशत कृषकों को बीमा की परिधि में लाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने जिला कलेक्टरों को इसके व्यापक प्रचार-प्रसार, प्रत्येक ग्राम स्तर पर शिविरों का आयोजन तथा कृषकों से व्यक्तिगत संपर्क कर इस योजना की परिधि में लाने के निर्देश दिए। 
बैठक में बताया गया कि स्वायल हेल्थ कार्ड योजना के तहत इस वर्ष लगभग 4.50 लाख मिट्टी नमूने एकत्र करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिसमें से 60 प्रतिशत नमूने खरीफ बोआई अर्थात 15 जून के पूर्व एकत्रित करने और इन सभी नमूनों का विश्लेषण मानसून समाप्ति के पूर्व करने के निर्देश दिए। वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में प्रमुख सचिव राजस्व एवं आपदा प्रबंधन श्रीमती रेणु पिल्ले, सचिव कृषि श्री अनुप श्रीवास्तव, सचिव सहकारिता श्री डी.डी. सिंह, संचालक कृषि श्री एम.एस. केरकेट्टा, प्रबंध संचालक बीज निगम श्री आलोक अवस्थी, पंजीयक सहकारी संस्थाएं श्री जे.पी. पाठक सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

हिन्दी