लोक निर्माण विभाग के अनुविभागीय अधिकारी निलंबित

लोक सुराज अभियान में मुख्यमंत्री के निर्देश पर त्वरित कार्रवाई

सड़कों की मरम्मत में लापरवाही बरतने का आरोप

रायपुर, 12 अप्रैल 2017 - मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के निर्देश पर त्वरित कार्रवाई करते हुए लोक निर्माण विभाग के अनुविभागीय अधिकारी श्री मोहन राम भगत को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है। उनका निलम्बन आदेश विभाग द्वारा आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) से जारी कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने लोक सुराज अभियान दौरान आज महासमुंद जिले के ग्राम जम्हारी (विकासखंड सरायपाली) की चौपाल में वहां की एक सड़क की खराब हालत के बारे में ग्रामीणों से मिली शिकायत को गंभीरता से लिया था और इस दौरान उन्होंने लोक निर्माण विभाग के सरायपाली उप संभाग के अनुविभागीय अधिकारी श्री मोहन राम भगत की अनुपस्थिति और मुख्यालय में नहीं रहने की शिकायत पर भी नाराजगी व्यक्त की थी। मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड को अनुविभागीय अधिकारी श्री भगत के विरूद्ध तत्काल निलंबन की कार्रवाई के भी निर्देश दिए थे। मुख्यमंत्री के निर्देश पर तत्परता से अमल करते हुए दोपहर में ही उनका निलंबन आदेश मंत्रालय से जारी कर दिया गया।

निलंबन आदेश में कहा गया है कि श्री मोहनराम भगत के प्रायः मुख्यालय में नहीं रहने से उप संभाग के मार्गों के मरम्मत कार्य नहीं होने और लोक सुराज अभियान जैसे महत्वपूर्ण कार्य के समय भी निरंतर अनुपस्थित रहकर कर्त्तव्य के प्रति लापरवाही और शिथिलता बरतने के कारण उनके विरूद्ध उन्हे तत्काल प्रभाव से निलम्बित किया गया है। निलंबन की यह कार्यवाही छत्तीसगढ़ सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण तथा अपील) नियम 1966 के नियम-9 के तहत की गई है। निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय लोक निर्माण विभाग के रायपुर स्थित प्रमुख अभियंता कार्यालय में निर्धारित किया गया है। 

हिन्दी