रामनवमीं

श्रीराम का चरित्र आज भी प्रासंगिक - नरसिम्हन

छत्तीसगढ़ के राज्यपाल श्री ई.एस.एल. नरसिम्हन ने रामनवमी के अवसर पर प्रदेशवासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम का चरित्र आज के विघटित हो रहे समाज एवं मूल्यों के अवमूल्यन के दौर में सभी लोगों के लिये और भी ज्यादा प्रासंगिक है।

अपने संदेश में श्री नरसिम्हन ने कहा कि भारतीय समाज का गौरवशाली इतिहास एवं संस्कृति रही है। यहां की समृध्द संस्कृति में मर्यादा पुरूषोत्तम का चरित्र अनुकरणीय है। उन्होंने इस अवसर पर प्रदेशवासियों के सुख-समृध्दि की कामना की है।

मुख्यमंत्री ने रामनवमीं और अम्बेडकर जयंती पर जनता को शुभकामनाएं दी

छत्‍तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने रामनवमीं और डॉ. भीमराव अम्बेडकर जयंती के अवसर पर जनता को अपनी हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। डॉ. सिंह ने अपने शुभकामना संदेश में मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम के जन्मोत्सव 'राम नवमीं' का उल्लेख करते हुए कहा है कि प्रभु श्रीराम का जीवनदर्शन सम्पूर्ण मानवता के लिए कल्याणकारी है। वे सम्पूर्ण भारत वर्ष की जनता के आराध्य हैं।

पौराणिक तथ्यों के अनुसार माता कौशल्या का मायका छत्तीसगढ़ में होने के कारण यहां की जनता और प्रभु श्रीराम के बीच मामा-भांचा का भावनात्मक रिश्ता भी सदियों से बना हुआ है।