रानीतराई, आश्रित ग्राम आलीखूंटा में विकास भागीदारी

रानीतराई में विकास के लिए ग्रामवासियों को मुख्यमंत्री ने दिया धन्यवाद

रायपुर, 14 सितम्बर 2017 - ग्राम संपर्क के तीसरे पड़ाव में राजनांदगांव विकासखंड मे रानीतराई गांव पहुंचे मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने गांव के विकास के लिए ग्रामीणों की जागरूकता पर उन्हें धन्यवाद ज्ञापित किया। मुख्यमंत्री की इस सह्दयता से प्रभावित होकर ग्रामीणों ने भी ग्राम पंचायत के लिए विकास कार्यों की स्वीकृति देने और उन्हें समय पर पूरा कराने के लिए डॉ. रमन सिंह का आभार जताया। जनता के हित में काम करने से ही विकास होता है। उन्होंने कहा कि किसानों की समस्याओं और तकलीफों को महसूस करके ही उनके पूरे निदान के लिए सरकार योजनाएं बनाती है। डॉ. सिंह ने कहा सूखा प्रभावित किसानों की पीड़ा को समझकर ही सरकार ने किसानों को हो रहे नुकसान से उबारने के लिए तीन तरीके से उन्हें फायदा पहुंचाने का निर्णय लिया है। किसानों को 300 रूपए प्रति विक्टंल धान का बोनस तो मिलेगा ही साथ ही सभी 9 तहसीलों के सूखा प्रभावित घोषित हो जाने से सूखा राहत की राशि और फसल बीमा की क्षतिपूर्ति भी किसानों को मिलेगी।
ग्रामवासियों की जागरूकता और विकास में 
उनकी भागीदारी का प्रत्यक्ष प्रमाण रानीतराई का विकास
रानीतराई में हुए विकास कार्यों को देखकर मुख्यमंत्री बेहद खुश नजर आए और इसके लिए ग्राम पंचायत के सरपंच श्री राजेन्द्र साहू को उन्होंने बधाई भी दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि रानीतराई में पिछले तीन-चार सालों में एक-सवा करोड़ रूपए के विकास कार्य हुए है, जो ग्रामवासियों की जागरूकता और विकास में उनकी भागीदारी का प्रत्यक्ष प्रमाण है। मुख्यमंत्री ने कहा कि रानीतराई को खुले में शौचमुक्त घोषित कराने में गांव की महिलाओं का विशेष योगदान है और उन्होंने पूरे प्रदेश के लिए एक उदाहरण स्थापित किया है। डॉ. रमन सिंह ने कहा स्वच्छ गांव-स्वस्थ गांव-समृद्ध गांव की सोच को चरितार्थ करने के लिए हमें लगातार साफ-सफाई के प्रति जागरूक रहना होगा। डॉ. रमन सिंह ने कहा 15 सितम्बर से पूरे देश में स्वच्छता ही सेवा अभियान शुरू हो रहा है और हम सभी को इस अभियान में शामिल होकर अपने घर, अपने गांव, अपने जिले, अपने प्रदेश, अपने देश को गंदगी से मुक्त बनाना है। 
आलीखूंटा में मुस्लिम समुदाय के लिए बनेगा भवन
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज रानीतराई ग्राम संपर्क कार्यक्रम के दौरान आश्रित ग्राम आलीखूंटा में मुस्लिम समुदाय के लिए सामुदायिक भवन निर्माण की स्वीकृति देने की घोषणा की। उन्होंने इस भवन के लिए 5 लाख रूपए की राशि भी स्वीकृत कर दी। डॉ. सिंह ने रानीतराई में सर्वधर्म मंगल भवन निर्माण के लिए भी 10 लाख रूपए की राशि भी स्वीकृत की। डॉ. रमन सिंह ने सरपंच श्री राजेन्द्र साहू द्वारा प्रस्तुत मांग पत्र में शामिल कार्यों के लिए कलेक्टर श्री भीम सिंह को निरीक्षण-परीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कलेक्टर को निर्देशित किया कि सबसे जरूरी स्वीकृति योग्य कार्यों का प्रस्ताव तैयार कर मंजूरी के लिए प्रस्तुत किए जाये। मुख्यमंत्री ने रानीतराई हाई स्कूल का 85 प्रतिशत परिणाम आने पर स्कूली विद्यार्थियांे और शिक्षकों को बधाई दी। 
केन्द्र सरकार ने बढ़ाया धान का समर्थन मूल्य, राज्य का बोनस मिलाकर सीधा 380 रूपए प्रति क्विंटल का किसानों को फायदा
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बताया कि केन्द्र सरकार ने अब धान का समर्थन मूल्य भी 80 रूपए प्रति क्विंटल बढ़ाकर किसानों को उनकी उपज का सही दाम देने का निर्णय ले लिया है। इससे अब राज्य सरकार के 300 रूपए बोनस को मिलाकर किसानों को सीधा 380 रूपए प्रति क्विंटल का फायदा होगा। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार में सामान्य धान का समर्थन मूल्य 1470 रूपए से बढ़ाकर 1550 रूपए प्रति क्विंटल कर दिया गया है। जबकि ए ग्रेड धान का मूल्य 1510 रूपए से बढ़ाकर 1590 रूपए किया गया है। डॉ. रमन सिंह ने कहा कि इस समर्थन मूल्य पर छŸाीसगढ स़रकार का 300 रूपए बोनस जोड़कर अब किसानों को 1850 और 1890 रूपए प्रति विक्ंटल धान की कीमत मिल सकेगी। उन्होनें धान का समर्थन मूल्य बढ़ाने के लिए प्रदेश के सभी किसानों की ओर से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का धन्यवाद एवं आभार व्यक्त किया।
गांव के वरिष्ठजनों का मुख्यमंत्री ने किया सम्मान
रानीतराई में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने गांव के प्रतिष्ठित वरिष्ठजनांें श्री रमानाथ पटेल, श्री याकूब खान, श्री कामता प्रसाद देवांगन, श्री रहमान खान, श्री दयालू राम, श्री अमरदास सहित कई बुजूर्गाे का शाल-श्रीफल भेंट कर अभिनंदन किया।
रानीतराई में 1.20 लाख रूपए के 
विकास कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन हुआ
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने रानीतराई ग्राम पंचायत में एक करोड़ 20 लाख रूपए के विकास कार्यों का 9 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमि-पूजन किया। उन्होनें 7 लाख 96 हजार रूपए से प्राथमिक शाला के जीर्णाेद्धार, 61 लाख रूपए की लागत से बने नये हाई स्कूल भवन, 4 लाख 85 हजार रूपए की लागत सें बने अलीखूंटा के यादव पारा के सामुदायिक भवन, 6 लाख रूपए की लागत से अलीखूंटा पूर्व माध्यमिक शाला में आहता निर्माण और साढ़े 4 लाख रूपए की लागत से रानीतराई में बने नए आंगनबाड़ी भवन को ग्रामवासियों को लोकार्पित किया।
मुख्यमंत्री ने 36 लाख 26 हजार रूपए की लागत के चार नए विकास कार्यों की आधार शिला भी रखी। मुख्यमंत्री ने 19 लाख 78 हजार रूपए की लागत से नहर से लेकर शासकीय तालाब तक नाली निर्माण कार्य, 5 लाख रूपए की लागत से आलीखूंटा और रानीतराई में दो मध्यान्ह भोजन शेड निर्माण कार्य तथा 11 लाख 48 हजार रूपए की लागत से आलीखूंटा में नए प्राथमिक शाला भवन के निर्माण के लिए भूमि-पूजन किया।
इस अवसर पर नागरिक आपूर्ति निगम के पूर्व अध्यक्ष श्री लीलाराम भोजवानी, राज्य उर्दू अकादमी के अध्यक्ष श्री अकरम कुरैशी, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के अध्यक्ष श्री सचिन बघेल, राजगामी संपदा न्यास के पूर्व अध्यक्ष श्री संतोष अग्रवाल, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष श्री भरत वर्मा, पूर्व मंडी उपाध्यक्ष श्री कोमल सिंह राजपूत, जनपद अध्यक्ष श्रीमती सरिता कन्नौजे, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती मधु सुकृत साहू, श्री आर.पी. द्विवेदी, श्री सावन वर्मा, श्री राजेश श्यामकर सहित कलेक्टर श्री भीम सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत अग्रवाल, सीईओ जिला पंचायत श्री चंदन कुमार, अपर कलेक्टर श्री जे.के. धु्रव के अलावा जनप्रतिनिधि एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारियों तथा बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

हिन्दी