राज्यपाल ब्रह्मकुमारी योग दिवस आयोजन में

राज्यपाल दीप प्रज्वलन करते हुए

योग के जरिए भारत बनेगा विश्वगुरू: राज्यपाल श्री टंडन : राज्यपाल ने किया प्रजापिता ब्रम्हा कुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय में तीन दिवसीय योग महोत्सव का शुभारंभ

रायपुर, 21 जून 2016 - राज्यपाल श्री बलरामजी दास टंडन ने कहा है कि योग दुनिया को भारत की अमूल्य देन है। 21वीं सदी में दुनिया को योग के जरिए उन्नति के रास्ते में ले जाकर, एक दिन फिर से भारत को विश्वगुरू के रूप में दर्जा दिला सकते हैं। राज्यपाल गत दिवस राजधानी रायपुर के प्रजापिता ब्रम्हा कुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय द्वारा शांति सरोवर में आयोजित तीन दिवसीय योग महोत्सव के शुभारंभ समारोह को सम्बोधित कर रहे थे।
राज्यपाल श्री टंडन ने कहा कि प्राचीन समय में भारत के मनीषियों ने वर्षों से तपस्या कर जो ज्ञान अर्जित किया। आज हम विज्ञान के माध्यम से कई क्षेत्रों में तरक्की के बाद भी उन तक नहीं पहुंच पाए हैं। उन्होंने कहा कि हमारे मनीषियों द्वारा खोजे गए योग और प्राणायाम को आज दुनिया के लोग मानने के लिए बाध्य हुए हैं। उन्होंने कहा कि योग, मन और शरीर को जोड़ने की कला है। जब मन और शरीर में संतुलन और समन्वय होता है तो सभी कार्य ठीक ढंग से होते हैं। व्यक्ति स्वस्थ और तनाव से मुक्त महसूस करता है।
 श्री टंडन ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र संघ के 193 सदस्य राष्ट्रों द्वारा एक मत से 21 जून को योग दिवस मनाने के लिए अपनी मुहर लगायी है, इससे योग की महत्ता सिद्ध होती है। उन्होंने कहा कि विश्व में शरीर की फिटनेस बनाए रखने के लिए हजारों रूपए खर्च करने पड़ते हैं, जबकि योग एक ऐसी विधि है, जिसमें कुछ भी खर्च करने की जरूरत नहीं पड़ती, इससे हर कोई जुड़ सकता है। योग न केवल स्वस्थ रखता है बल्कि यह हमारे आचार विचार को भी परिवर्तित करता है और यह सब के लिए सुखदायी है।
राज्यपाल ने कहा कि मन और बुद्धि से शरीर को जोड़ कर कार्य करने की कोशिश करने पर जैसा कि गीता में कहा गया है कि योगः कर्मषु कौशलम अर्थात योग से कुशलता और गुणवत्ता आती है। यह मन के भीतर नकारात्मक शक्तियों के स्थान पर सकारात्मक उर्जा का संचार करता है। यही बात यहां सिखाए जाने वाले राजयोग में भी है, इससे मन के भी सुधार लाने और एक सकारात्मक दृष्टि अपनाने में मदद मिलती है। यह मन को साधने की कला है, आत्म संयम का मार्ग है।

उन्होंने इस अवसर पर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएं देते हुए समाज को स्वस्थ, निरोग रखने और तनाव मुक्त वातावरण लिए योग से अधिक से अधिक लोगों को जोड़ने के लिए आग्रह किया। कार्यक्रम में इस अवसर पर प्रजापिता ब्रम्हा कुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की ओर से राजयोग पर विस्तृत जानकारी दी गई। साथ ही कमला बहन द्वारा भी योग के महत्व पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर बड़ी संख्या में योग से जुड़े लोग, गणमान्य नागरिक और प्रबुद्धजन उपस्थित थे।

हिन्दी