राजिम कुंभ

राजिम कुम्भ में राम मेरे श्री राम मेरे भगवन: रविन्द्र जैन

राजिम कुंभ की कुछ झलकियां, यह वीडियो आपके सामने राजिम कुंभ को जीवंत / जिवंत कर देता है। 
भारत का एकमात्र कुम्भ जो प्रतिवर्ष होता है
अब तो राजिम के कुम्भ के लिए खास बोर्ड भी अलग से बन दिया गया है।   

राजिम कुंभ 2008 आमंत्रण

नदियों से निकल कर आने वाले आस्था के अख्यानों को पूरी दुनिया सुनती है। सन २००५ में छ्त्तीसगढ़ शासन के मुखिया ड़ाँ. रमन सिंह व संस्कृति मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने परंपरागत राजिम मेले को संत समागम के रास्ते राजिम कुंभ का रुप देने का प्रयास किया। तब यह अनुमान भी नहीं रहा होगा कि विराट की पतली,डगमगाती सी यह धार अपने भीतर महानदी के पाट की चौड़ाई छिपाये बैठा है।आरंभ में नदियों के स्त्रोत बहुत छोटे होते हैं।जिनकी अवाज ठीक से सुनाई नहीं पड़ती। यही स्त्रोत महानदीयों में तब्दील हो जाते हैं।अखाड़ों की उपस्थिति, शंकराचार्यों का प्रत्यक्ष आशिर्वाद और उमड़ता जन सैलाब इसकी लोकव्याप्ति का परिचायक है।

साधु-संतों ने भी चावल योजना की प्रशंसा की

देश के विभिन्न राज्यों से छत्तीसगढ़ के प्रसिध्द राजिम कुंभ में पहुंच रहे साधु-संतों ने भी प्रदेश के लगभग 34 लाख गरीब परिवारों को सिर्फ तीन रूपए किलो में हर महीने मिल रहे 35 किलो चावल के बारे में सुनकर आश्चर्य मिश्रित प्रसन्नता व्यक्त की है। उन्होंने राज्य शासन द्वारा इसके लिए संचालित मुख्यमंत्री खाद्यान्न सहायता योजना की प्रशंसा की है और कहा है कि इन लाखों गरीब परिवारों की दुआएं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और उनकी सरकार को मिलेंगी।

राजिम कुंभ 2008 की तैयारियां

पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री अग्रवाल ने राजिम कुंभ की तैयारियों का जायजा लिया

छत्तीसगढ़ के प्रसिध्द राजिम मेले की तैयारियां पूरे उत्साह के साथ चल रही है।
पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने आज राजिम के त्रिवेणी संगम पर आगामी 21 फरवरी से 8 मार्च 2008 तक चलने वाले इस विशाल मेले की तैयारियों का जायजा लिया।

श्री अग्रवाल ने कहा कि साधु-संतों के आशीर्वाद से राज्य के इस मेले को राजिम कुंभ के रूप में देश भर में तेजी से लोकप्रियता मिल रही है।

अवधेशानंद महाराज जी से आशीर्वाद

संस्कृति मंत्री श्री अग्रवाल ने स्वामी अवधेशानंद महाराज जी से आशीर्वाद प्राप्त किया

पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने जूना पीठाधीश्वर आचार्य स्वामी अवधेशानंद जी महाराज को आगामी 22 फरवरी से 27 मार्च 2008 तक आयोजित राजिम कुंभ में पधारने का आमंत्रण दिया है। श्री हनुमान मंदिर अवधपुरी गुढ़ियारी में कल से स्वामी अवधेशानंद जी गिरि महाराज का श्रीमद भागवत महायज्ञ कथा प्रारंभ हुआ। पर्यटन मंत्री श्री अग्रवाल ने स्वामी अवधेशानंद जी का इस महायज्ञ कथा स्थल में दर्शन कर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया।