महानाटय जाणता राजा के मंचन में रायपुर के कलाकार

प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम 1857 की 150 वीं वर्षगांठ समारोह पर रायपुर में पांच दिनों तक प्रदर्शित छत्रपति शिवाजी महाराज की जीवनी पर आधारित महानाटय 'जाणता राजा' के मंचन में राजधानी रायपुर के महाराष्ट्र मंडल के कलाकारों ने भी भूमिका निभायी। इनमें अनेक बाल कलाकार भी शामिल थे। संस्कृति मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने आज यहां अपने निवास पर महाराज छत्रपति प्रतिष्ठान पुणे (महाराष्ट्र) की ओर से इस नाटक में भाग लेने वाले इन कलाकारों को प्रमाण-पत्र वितरित किए। ये प्रमाण-पत्र महाराज छत्रपति प्रतिष्ठान पुणे द्वारा दिए गए हैं। श्री अग्रवाल ने इस अवसर पर सभी कलाकारों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

श्री अग्रवाल ने इस अवसर पर कलाकारों को संबोधित करते हुए कहा कि देश भर में धूम मचाने वाला देशभक्ति से परिपूर्ण यह महानाटय रंगमंच के कलाकारों के लिए एक प्रशिक्षण संस्थान के समान है। बेहतरीन निर्देशन, मंच संयोजन और अभिनय से सजे इस महानाटय से हर कलाकार को कुछ न कुछ सीखने को जरूर मिलता है। उन्होंने खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि महानाटय के निर्देशक बाबा साहेब पुरन्दरे ने इस महानाटय में स्थानीय कलाकारों को भी प्रतिभा प्रदर्शन का अवसर दिया । श्री अग्रवाल ने कहा कि कलाकार इस महानाटय से नया करने की सीख लेंगे और अपने स्तर पर ऐसी कोई सशक्त प्रस्तुति तैयार करेंगे। श्री अग्रवाल ने कहा कि इस महानाटय का प्रदर्शन कराने साल भर पूर्व समय लेना पड़ता है, लेकिन हमारा सौभाग्य रहा कि 06 मई से 15 दिन पहले ही प्रयास करने पर इस महानाटय का रायपुर में प्रदर्शन तय हो गया। स्थानीय जनता को देशभक्ति से ओतप्रोत इस महानाटय को देखने का अवसर मिला और सब ने इसे सराहा। इस महानाटय को लोग सालों साल याद रखेंगे। श्री अग्रवाल ने कहा कि पहली बार इस नाटक का दर्शकों के लिए नि:शुल्क प्रदर्शन किया गया।

श्री अग्रवाल ने महानाटय में भूमिका निभाने वाले छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के कलाकारों श्री दिनेश साहू, चारूशिला देव, कुमारी निकिता चौहान, श्रीमती अर्चना पाठक, चिरंजीव नकुल तापते, आशीष पंडित, नरेन्द्र यादव, संजय पाठक, यश पाठक, रचना पाठक, चेतन दण्डवते, प्रभाकर हिशीकर, सत्यव्रत जोगलेकर, स्वप्निल धावड़े, हेमन्त शुक्ला, आदेश झरवड़े, अथर्वरोडकर, शिफाली परेशकर, अनिता नलगुंडवार, रचना नलगुंडवार, अनमोल काले, आस्था काले, अंबिका काले, मनीष लहरे, नीलिमा सिंह, प्रकाश वैष्णव, प्रतीक्षा रोडकर, सुरेश भेंगे, नागेश कुर्वे, प्रियांश चौहान, मोनित जैन, रजत तिवारी, सिध्दांत दुबे, नितेश शर्मा और दिलीप लांजेवार को छत्रपति शिवाजी प्रतिष्ठान पुणे की ओर से प्रमाण-पत्र प्रदान किया।

इस अवसर पर महाराष्ट्र मंडल के अध्यक्ष श्री प्रभाकर हिशीकर ने राजधानी रायपुर में प्रसिध्द महानाटय जाणता राजा का प्रदर्शन कराने के लिए संस्कृति मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल के प्रति आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर महाराष्ट्र मंडल के कार्याध्यक्ष श्री अजय काले भी उपस्थित थे।

हिन्दी