मछली पालन

मछुआरा सम्मेलन में बृजमोहन अग्रवाल

रायपुर : मछुआरों की खुशहाली भी प्रदेश सरकार की प्राथमिकता: श्री बृजमोहन अग्रवाल

मछली पालन मंत्री शामिल हुए मछुआरों के सम्मेलन में

रायपुर, 09 अप्रैल 2016

छत्तीसगढ़ सीफा स्थापना

मछलीपालन विकास के लिए छत्तीसगढ़ में स्थापित हो सीफा (केन्द्रीय मीठा जल जीवपालन अनुसंधान संस्थान) की शाखा : श्री चन्द्रशेखर साहू
मछलीपालन मंत्रियों की राष्ट्रीय कार्यशाला में रखा छत्तीसगढ़ का पक्ष
रायपुर, 04 जुलाई 2009 - छत्तीसगढ़ के कृषि एवं मछलीपालन मंत्री श्री चन्द्रशेखर साहू ने राज्य में मछलीपालन की अपार संभावनाओं को देखते हुए केन्द्रीय मीठा जल जीवपालन अनुसंधान संस्थान भुवनेश्वर (सीफा) की शाखा छत्तीसगढ़ में भी स्थापित करने की मांग की है।

मछली पालन मंत्रियों का राष्ट्रीय सम्मेलन

श्री चन्द्रशेखर साहू 04 एवं 05 जुलाई को  भुवनेश्वर जाएंगे

रायपुर, 29 जून 2009 - मछली पालन मंत्रियों के दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन में शामिल होने। छत्तीसगढ़ के कृषि एवं मछली पालन मंत्री श्री चन्द्रशेखर साहू आगामी 04 जुलाई को उड़ीसा की राजधानी भुवनेश्वर जाएंगे।

मछली पालन आठ जलाशय पांच साल लीज

रायपुर, 27 जून 2009 - छत्तीसगढ़ के दो सौ से एक हजार हेक्टेयर जल क्षेत्र वाले आठ जलाशयों को मछली पालन कर मछली पकड़ने और बेचने के लिए पांच साल की लीज पर पंजीकृत मछुआ सहकारी समितियों और समूहों को दिया जाएगा। राज्य शासन द्वारा मछली पालन विभाग के माध्यम से इसके लिए कार्रवाई भी प्रारंभ कर दी गई है।

जलाशयों के कार्य क्षेत्र में सक्रिय मछुआ सहकारी समितियों और जलाशयों के पास रहने वाले मछुआ समूहों को जलाशयों की लीज आवंटन में प्राथमिकता दी जाएगी। प्रदेश के 22 ऐसे जलाशयों में से इस वर्ष आठ जलाशयों की पुरानी लीज अवधि समाप्त होने पर उन्हें पुन: पट्टे पर दिए जाने की कार्रवाई की जा रही है।

धनपुर के मछुआरों को मिला धन कमाने का साधन

रायपुर, 16 अप्रैल 2008 - छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले के विकासखंड सक्ती में ग्राम पंचायत धनपुर के मछुआरों को अपने गांव के नाम के अनुरूप धन कमाने का एक अच्छा साधन मिल गया है। मछली पालन के अपने परम्परागत व्यवसाय को आगे बढ़ाने के लिए चिंतित इस गांव के ओमप्रकाश, रनसिंह, सितुराम, दुलारे सिंह, मुखीराम, श्यामलाल, बाबूलाल, मोहित राम और सम्मेलाल को जब यह जानकारी मिली की 'नवा अंजोर' परियोजना में समहित समूह बना कर वे किसी भी मनपसंद व्यवसाय के लिए शासकीय अनुदान प्राप्त कर सकते हैं, तो इन युवाओं ने ग्राम सभा में अपना यह प्रस्ताव रखा और सर्व सम्मति से 'जय विश्वकर्मा मत्स्य पालन समहित समूह' का गठन किया।