भारत माता वाहिनी और महिला कमाण्डों के कार्यों की भी तारीफ

खुले में शौचमुक्त गांवों में ग्रीन आर्मी और गुप्त मतदान की व्यवस्था सराहनीय : डॉ. रमन सिंह : मुख्यमंत्री ने की भारत माता वाहिनी और महिला कमाण्डों के कार्यों की भी तारीफ

लोक सुराज की संयुक्त समीक्षा बैठक, बालोद-धमतरी जिले के सभी गांवों और मजरों-टोलों में पहुंची बिजली

युवाओं के कौशल प्रशिक्षण के साथ उनका प्लेसमेंट भी सुनिश्चित करना जरूरी: डॉ. रमन सिंह

रायपुर, 15 मई 2017 - मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने प्रदेश के सभी जिलों में शत-प्रतिशत विद्युतीकरण के लक्ष्य को जल्द प्राप्त करने के लिए ऊर्जा विभाग और विद्युत कम्पनी के अधिकारियों को युद्धस्तर पर कार्य करने के निर्देश दिए हैं। डॉ. सिंह ने बालोद और धमतरी जिलों के सभी गांवों और मजरों -टोलों में बिजली पहुंचने पर खुशी जताई है। उन्होंने दोनों जिलों में प्रधानमंत्री आवास योजना, सौर सुजला योजना, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना और स्वच्छ भारत मिशन सहित अन्य योजनाओं में हो रहे कार्यों की भी प्रशंसा की है। 
मुख्यमंत्री आज शाम लोक सुराज अभियान के तहत जिला मुख्यालय बालोद में आयोजित बैठक में धमतरी और बालोद जिलों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने धमतरी जिले में स्वच्छ भारत मिशन के तहत खुले में शौचमुक्त गांवों में इस कामयाबी को लगातार बनाए रखने के लिए मॉनिटरिंग के उद्देश्य से गठित ग्रीन आर्मी और गुप्त मतदान की व्यवस्था की भी तारीफ की। उन्होंने अवैध शराब की रोकथाम और नशामुक्ति के लिए बालोद जिले में महिलाओं द्वारा भारत माता वाहिनी और महिला कमाण्डों के जरिए किए जा रहे कार्यों को भी अन्य जिलों के लिए अनुकरणीय बताया।
उन्होंने संयुक्त समीक्षा बैठक में लोक सुराज अभियान के तहत् दोनों जिलों में प्राप्त आवेदनों के निराकरण, विभिन्न योजनाओं की प्रगति, वृहद् अधोसंरचना से संबंधित परियोजनाओं इत्यादि की समीक्षा की। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने बालोद और धमतरी की संयुक्त समीक्षा के दौरान दोनो जिलों में शतप्रतिशत गॉवों और मजरा टोला में विद्युतीकरण होने पर प्रसन्नता व्यक्त की।  मुख्यमंत्री ने कहा - कौशल विकास योजना के तहत प्रशिक्षण के साथ-साथ युवाओं शत-प्रतिशत प्लेसमेंट भी सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि डेयरी व्यवसाय और बकरी पालन के प्रशिक्षित हितग्राहियों के ऋण प्रकरण प्राथमिकता के साथ तैयार कराए जाएं। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत पात्र हितग्राहियों के आवास निर्माण की प्रगति की समीक्षा की। साथ ही उन्होंने कहा कि आवास निर्माण कार्यों को प्राथमिकता के साथ निर्धारित समयावधि में पूर्ण कराया जाए। बैठक मेें बताया गया कि इस वर्ष बालोद जिले में 4105 के लक्ष्य के विरूद्ध 91 प्रतिशत कार्य प्रगति पर है। इसी प्रकार धमतरी जिले में प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत् धमतरी जिले में वर्ष 2016-17 में 12,900 के लक्ष्य के विरूद्ध 12,842 आवास स्वीकृत कर काम चालू है। जिले में जल्द ही पांच हजार आवास का निर्माण पूरा हो जाने की कलेक्टर द्वारा जानकारी देने पर मुख्यमंत्री ने इसे काफी सराहा। इस मौके पर कलेक्टर ने बताया कि ग्राम पंचायतों में 32 क्लस्टर बनाकर लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। इसके अलावा हर गांव में एक ही रंग के आवास का निर्माण कराया जा रहा है।  
        समीक्षा बैठक में बताया गया कि बालोद जिले में सौर सुजला योजना के तहत पिछले वर्ष के 400 के लक्ष्य के विरूद्ध 370 किसानों को अनुदान पर सोलर सिंचाई पम्प वितरित किए जा चुके हैं। इस वर्ष 500 सोलर पंप का लक्ष्य रखा गया है। धमतरी जिले में वर्ष 2016-17 में सौर सुजला योजना के तहत् 164 के लक्ष्य के विरूद्ध 149 पम्प स्थापित किए गए हैं, जिनमें 115 ट्यूबवेल में तथा 34 कुएं में लगाए गए हैं। बैठक में बताया गया कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत बालोद जिले के विकासखण्ड डौण्डी, बालोद और गुरूर ओडीएफ घोषित हो चुके हैं। शेष दो ब्लाक डौण्डीलोहारा और गुण्डरदेही को एक माह में ओडीएफ बनाया जाएगा।
        धमतरी जिले के कलेक्टर ने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत् धमतरी ग्रामीण के सभी 623 गांवों में शौचालय निर्माण कर लिए गए हैं। इसके अलावा तीन नगरीय निकाय धमतरी, कुरूद और आमदी खुले में शौचमुक्त हो गए हैं। मई माह के अंत तक अन्य नगरीय निकायों को भी ओ.डी.एफ. किए जाने का हरसंभव प्रयास जारी है। जिले में ओडीएफ के स्थायित्व के लिए ग्रीन आर्मी तथा गुप्त मतदान जैसे नवाचारों की भी कलेक्टर ने बैठक में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि दिसंबर माह से महीने की सात तारीख को किए जा रहे खुले में शौच संबंधी गुप्त मतदान के बेहद उत्साहजनक परिणाम मिल रहे हैं। सतत् मॉनिटरिंग की वजह से खुले में शौच जाने वालों की संख्या पर आश्चर्यजनक तरीके से गिरावट आई है। 
        मुख्यमंत्री ने कहा कि बालोद जिले में उज्जवला योजना के तहत आने वाले वर्षों में लगभग एक लाख से अधिक गरीब परिवारों की महिलाओं को निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन दिए जाएंगे। बैठक में बताया गया कि अब तक लगभग 36 हजार से अधिक रसोई गैस कनेक्शनों का वितरण किया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री आवास योजना, सौर सुजला योजना, कौशल उन्नयन, आधार बैंक लिंकिंग की प्रगति, सामाजिक सुरक्षा पेंशन जैसे हितग्राही मूलक योजना की विस्तृृत समीक्षा की। बैठक में महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू, मुख्य सचिव श्री विवेक ढंाड मौजूद थे।  
        मुख्यमंत्री ने दोनो जिलों के कलेक्टरों से कहा कि सौर सुजला योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना को प्राथमिकता में लेना सुनिश्चित करें। बैठक में बालोद कलेक्टर श्री राजेश सिंह राणा ने बताया कि जिले में लोक सुराज अभियान 2017 के तहत ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों से कुल 72 हजार से अधिक आवेदन प्राप्त हुए थे, जिसमें से 63 हजार आवेदनों का निराकरण किया गया है। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने बालोद जिले में अवैध शराब बिक्री की रोकथाम और नशामुक्ति के क्षेत्र में भारतमाता वाहिनी और महिला कमाण्डो द्वारा किए जा रहे कार्यों की भी सराहना की। 
बैठक में बताया गया कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत् धमतरी जिले में वर्ष 2016-17 में मिले 50 हजार 346 गैस चूल्हा वितरण के विरूद्ध अब तक 99.5 प्रतिशत गैस कनेक्शन दिए गए हैं। वहीं वर्ष 2017-18 के लिए जिले को 23 हजार 260 लक्ष्य के विरूद्ध अब तक  1497 गैस सिलेंडर की स्वीकृति देते हुए 1288 कनेक्शन दिए गए हैं। उन्होंने यह भी बताया कि जिले में गैस रिफिलिंग 11 वितरकों के जरिए किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि धमतरी जिले के 1050 आंगनबाड़ियों में से अब तक 856 आंगनबाड़ियों को धुआंरहित करने के लिए डबल गैस कनेक्शन वितरित किया गया है। इस माह के अंत तक श्शेष बचे आंगनबाड़ियों में भी डबल गैस कनेक्शन वितरित कर दिया जाएगा।  इसके अलावा जिले के सभी 58 आश्रम-छात्रावासों को भी लकड़ी के धुएं से निजात दिलाने के लिए गैस कनेक्शन प्रदाय किया गया है।  
बैठक में धमतरी और बालोद जिले के कलेक्टर ने पॉवर प्वाईंट के जरिए जिले की उपलब्धियों का प्रस्तुतिकरण किया। इस मौके पर महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण मंत्री श्रीमती रमशीला साहू, मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड, वित्त विभाग के प्रमुख सचिव और बालोद जिले के प्रभारी सचिव श्री अमिताभ जैन, पर्यटन, संस्कृति और जनसम्पर्क विभाग के सचिव श्री संतोष मिश्रा, आबकारी सचिव तथा प्रभारी सचिव धमतरी श्री अशोक अग्रवाल, आयुक्त रायपुर एवं दुर्ग संभाग श्री बृजेश मिश्र, मुख्यमंत्री के संयुक्त सचिव श्री रजत कुमार, पुलिस महानिरीक्षक रायपुर श्री प्रदीप गुप्ता, दुर्ग श्री दीपांशु काबरा, कलेक्टर धमतरी डॉ. सी.आर. प्रसन्ना, कलेक्टर बालोद, श्री राजेश सिंह राणा तथा संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

हिन्दी