प्लास्टिक इंजीनियरिंग प्रशिक्षण नक्सल प्रभावित युवाओं को

नक्सल प्रभावित युवाओं को मिलेगा प्लास्टिक इंजीनियरिंग का प्रशिक्षण : मुख्यमंत्री ने ’सिपेट’ में प्रशिक्षण के लिए रवाना किया

रायपुर 06 मई 2017 -  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान के दौरान जिला मुख्यालय राजनांदगांव में जिले के नक्सल प्रभावित इलाकों के 180 युवाओं को राजधानी रायपुर स्थित केन्द्रीय प्लास्टिक इंजीनियरिंग एवं प्रौद्योगिकी संस्थान (सिपेट) में प्रशिक्षण के लिए रवाना किया। उन्होंने युवाओं को सिपेट में प्रशिक्षण के लिए चयनित होने पर बधाई और शुभकामनाएं दी। इनमें जिले के बाग नदी, चिल्हाटी, कन्हारगांव, मानपुर, मोहला, सीतागांव, छुरिया, डोंगरगढ़ आदि क्षेत्रों के युवा शामिल हैं।

उन्हें रायपुर के इस संस्थान में चार महीने से लेकर छह महीने तक प्लास्टिक टेक्नॉलाजी का प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान उनको हर महीने 20 हजार 500 रूपए की सहायता शासन द्वारा दी जाएगी, जिसमें 16 हजार रूपए आवास और भोजन व्यवस्था के लिए और 4500 रूपए प्रशिक्षण व्यय के रूप में शामिल हैं। इन युवाओं को प्रशिक्षण के बाद प्लास्टिक की वस्तुओं के निर्माण और विक्रय के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत पात्रता के अनुसार बैंकों से लोन भी दिलाया जाएगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के साथ लोक निर्माण, आवास और पर्यावरण मंत्री तथा जिले के प्रभारी श्री राजेश मूणत, लोकसभा सांसद श्री अभिषेक सिंह, राजनांदगांव के महापौर श्री मधुसूदन यादव, छत्तीसगढ़ राज्य भण्डार गृह निगम के अध्यक्ष श्री नीलू शर्मा, छत्तीसगढ़ उर्दू अकादमी के अध्यक्ष श्री अकरम कुरैशी सहित विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी और बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।

हिन्दी