सचिव सोनमणि बोरा पता कर रहे हैं कम सिंचाई क्यों?

जल संसाधन विभाग के सचिव श्री सोनमणि बोरा की अभिनव पहल, प्रदेश भर में सिंचाई में कमी का कारण जानने सर्वे प्रारंभ
जिले में 7 सहायक अभियंता एवं 24 उप अभियंताओं की ड्यूटी लगी

मेडिकल कॉलेज आडिटोरिअम में दिव्यांगजन सम्मान समारोह

ब्रेल लिपि में मुद्रित पुस्तक का विमोचन, दिव्यांगजन पहचान पत्र यूडीआईडी और दिव्यांगजनों,निराश्रितों और वरिष्ठजनों के लिए  समर्पित छत्तीसगढ़ सरकार

विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने दिव्यांगजनों के लिए सर्वश्रेष्ठ कार्य हेतु जशपुर जिले को किया सम्मानित
अपनी शारीरिक अक्षमता को पीछे छोड़ते हुए दिव्यांगजनों ने अपने हौसलों से अनेक कीर्तिमान स्थापित किये हैं- श्री अग्रवाल

वर्ष 2017 के लिए प्रदेश की तीन संस्थाओं और तीन कर्मचारियों को भी मिला दिव्यांगजन राज्य स्तरीय सम्मान
दिव्यांगजन किसी भी क्षेत्र में कम नहीं हैं- श्रीमती रमशीला साहू

आज होली 2 मार्च 2018 है: सब मिल बनाएं डिजिटल दुनिया वेबमीडिया होली से

वेबमीडिया होली की असीम बधाई - जमीन की हर गतिविधि इंटरनेट का कीमती कंटेंट हो सकती है. वेब मीडिया आर्थिकी अभियान कहती है कि इस होली 2 मार्च 2018 को जमीनी होली की रंगीनी से एक बहुत बड़ी डिजिटल दुनिया बनाई जा सकती है. 

होली 2 मार्च 2018 का खास फार्मूला है - केवल आपको अपने डिजिटल डब्बों में कैद रंगीन छवियों को वेबमीडिया होली से जोड़ने की जरूरत है. इस होली का कोई भी डिजिटल रंग आप के डिजिटल डब्बा का हिस्सा ना रहे बल्कि उसे सारी दुनिया से शेयर जरूर करिए वह वीडियो आपके साथ है.

आज होलिका दहन 1 मार्च 2018 है होली संदेशों के साथ वेबमीडिया आर्थिकी अभियान

आज सभी जगह तमाम कचरों का, अस्वच्छता का जलाओ अभियान होगा पर ऐसा ना हो कि हम इसमें हमारी  सांसों को भी अग्नि में स्वाहा कर दें. किसी भी हालत में हरियाली को ना काटना है ना जलाना है. हरे भरे पेड़ हैं तो सांस है, धूल मिट्टी से बचाव है धूल मिट्टी से बचाव है और शीतल वातावरण है. चलिए होलिका दहन 1 मार्च 2018 को अमिट, अविस्मर्णीय और अक्षुण बनाने के लिए कुछ करते हैं.

कंक्रीट के जंगल रायपुर की बढ़ी हुई गर्मी किसे नहीं छुपती और चुभती तो आज होलिका दहन पर क्या हम रायपुर की बढ़ती हुई गर्मी को भी जलाने का कोई कार्य कर सकते हैं? प्रश्न आपके लिए है जवाब और जवाबदेही आपकी है.

एनएमडीसी अध्यक्ष के लिए बिदाई हुई बैजेन्द्र कुमार की

छत्तीसगढ़ में भावभीनी बिदाई, राष्ट्रीय खनिज विकास निगम में अध्यक्ष का कार्यभार लेंगे, यादगार रहा श्री बैजेन्द्र कुमार का कार्यकाल: डॉ. रमन सिंह : मुख्यमंत्री निवास में श्री बैजेन्द्र कुमार की भावभीनी विदाई

छत्तीसगढ़ से बहुत कुछ सीखने का मौका मिला: श्री बैजेन्द्र कुमार  

वेबसाइट लोकार्पण ऑनलाइन पंजीयन फर्म-एनजीओ www.rfas.cg.nic.in

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने किया वेबसाइट का शुभारंभ : अब फर्मों-संस्थाओं का होगा ऑन लाइन पंजीयन

रायपुर, 08 अगस्त 2017 - राज्य में अब संस्थाओं और फर्मों का ऑन लाइन पंजीयन किया जाएगा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में आयोजित उद्योग विभाग की बैठक में रजिस्ट्रार फर्म्स एवं संस्थाएं की वेबसाइट का शुभारंभ किया।

इस वेबसाइट में संस्था पंजीयन की ऑन लाइन सुविधाएं दी गई हैं, इसका वेब पता http://www.rfas.cg.nic.in है वहीँ पंजीयक सहकारी संस्थाएं छत्तीसगढ़ ब्लॉक 3, द्वितीय एवं तृतीय तल, इन्द्रावती भवन, नया रायपुर की अलग वेबसाइट http://coop.cg.gov.in है।

बागवानी उत्पादन हेतु किरणन सुविधाएं? भोजन में आण्विक? भारत में खाद्य पदार्थों के कितने विकिरण केंद्र हैं?

बागवानी याने फूल फल सब्जी आदि जो हम अपने भोजन में इस्तेमाल करते हैं। सरकार फल सब्जी आदि बागवानी उत्पाद के किरणन / विकिरणीकृत करने की व्यवस्था किसानों के के हित में करती है. 

भोजन में आण्विक / आणुविक किरण? भारत में खाने की वस्तुओं को परमाणु विकिरण देने वाले कितने केंद्र हैं?
क्या आप जानते हैं भोज्य पदार्थों का किरणीयन किया जाता है? चलिए थोड़ा सरल शब्दों में बात करें।
आपने रेडिएशन सुना होगा। यह अणु और परमाणु प्रौद्योगिकी से संबंधित है। अंग्रेजी भाषा का शब्द है रेडिएशन, इससे बना है इर्रेडिएशन जिसका मतलब होता है किरणीयन अर्थात किरनीकृत करना।

महान प्रक्षेपास्त्र पुरुष, वैज्ञानिक, चिन्तक की द्वितीय पुण्यतिथि, डॉ. रमन सिंह की विनम्र श्रद्धांजलि

खास लगाव है डॉ. रमन सिंह का महान प्रक्षेपास्त्र पुरुष से, छत्तीसगढ़ गाँव गाँव के आखिरी आदमी तक आधुनिक तकनीक को पहुंचा कर डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम को सच्चे दिल से याद करता है 

आइये जानते हैं प्रदेश मुखिया उनके दुसरे बरसी पर कैसे श्रद्धा सुमन अर्पित कर रहे हैं. छत्तीसगढ़ के बच्चों को कलम के धनी कलाम चाचा बहुत पसंद हैं. आज दंतेवाडा जैसे सुदूर इलाके के बच्चे उनके अनुगमन से विज्ञान और तकनीक की ऊँचाइयों को छू रहे हैं.