नवरात्रि

खास समाचार शारदीय नवरात्रि के प्रथम दिवस के

माँ शैलपुत्री के दिन पर छत्तीसगढ़ के मुखिया कहाँ पूजा अर्चना पर पर रहे? छत्तीसगढ़ के प्रमुख शक्तिपीठ और जन नवरात्रि पर क्या हुआ? अपनी शक्ति पूजा के अनुभव वेबमीडिया में शेयर जरुर करें.

रायपुर, 21 सितम्बर 2017 - शारदीय नवरात्रि के प्रथम दिवस पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और उनकी धर्मपत्नी श्रीमती वीणा सिंह आज दंतेवाड़ा के प्रसिद्ध दंतेश्वरी मंदिर में पूजा-अर्चना के बाद मंदिर से निकलते हुए।

मां चंद्रघंटा की पूजा तीसरे दिन हुई

इस साल २०१६ में नवरात्रि की अवधि काम आंकी गई है। 

एक अहम प्रश्न है क्या मां चंद्रघंटा की पूजा वास्तव में नवरात्र के तीसरे दिन हुई और अगर ऐसा है मां चंद्रघंटा आराधन कब और कितने देर की रही ?

अगर सामान्य नौ दिन वाली नवरात्रि हो तो तीसरा दिन माँ चन्द्रघंटा को समर्पित है। 

शक्ति की भक्ति में डूबे नवरात्रि के नज़ारे

चैत्र नवरात्रि की सतरंगी छटा

आकाशवाणी चौक स्थित काली मंदिर ट्रस्ट के सचिव डीके दुबे ने बताया कि मंदिर में परंपरानुसार ज्योति जलाई गई। मंदिर में पहले दिन की ही भांति दूसरे दिन भी भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी। मंदिर में लगभग 3401 ज्योति कलश जली हैं। मंदिर में पंचमी को कन्या भोज का आयोजन किया जाएगा। अष्टमी 14 अप्रैल को मनाई जाएगी।

गांव में चैत्र नवरात्री और ज्योति कलश की स्थापना

नवरात्रि पर होंगे जसगीत : ईष्ट देवी नातिन धोबिन दाई मंदिर बोरियाखुर्द में ज्योति कलश की स्थापना 8 अप्रैल शाम 4 बजे होगी। पूजा समारोह की तैयारी को लेकर शहर जिला धोबी समाज की बैठक हुई। इसमें कार्याे के लिए सदस्यों को जिम्मेदारी बांटी गई। जसगान की जिम्मेदारी ग्राम धूसेरा, धरमपुरा, माना बस्ती उरकुरा भनपुरी आदि के समाजजनों की दी गई। बैठक में समाज के प्रदेशाध्यक्ष सूरज निर्मलकर, चंद्रहास निर्मलकर, पवन निर्मलकर आदि उपस्थित थे। 

गूंजने लगे माता के जयकारे

चैत्र नवरात्र का सन् २०१६ में खास मुहूर्त रहा अभिजीत और मत के जोत के साथ जयकारों की गूँज सर्वत्र व्याप्त हो गई। 

देवी भवानी के प्रति श्रद्धा अपने आप जयकारे की गूँज साथ लेकर आती है। 

गर्मी की दुर्गा देवी पूजा में शारदीय नवरात्री की भांति ही माता के जयकारे गूंजने लगते हैं। 

जयकारा मत भक्तों के मन की श्रद्धा की आवाज होती है।


नवरात्रि में व्रत, उपवास, पूजा अर्चना और आरती जयकारा एक बहुत सूंदर पवित्र वातावरण धरती पर निर्मित करता है। 

माता के जयकारे गूंजने लगे और चैत्र नवरात्रि के पर्व का आगाज़ हो गया। 

मुख्यमंत्री ने दिखाई हरी झण्डी

स्कूली बच्चों के लिए पर्यटन रथ शुरू
छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूली बच्चों के लिए मुख्यमंत्री निवास पर छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल की ओर से दो विशेष बसों को 'पर्यटन रथ' का नाम देकर उन्हें हरी झण्डी दिखाई। उन्होंने इन पर्यटन रथों को प्रथम चरण में राजनांदगांव जिले के लिए रवाना किया, जहां ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूली बच्चों को जिले के प्रमुख ऐतिहासिक और धार्मिक स्थानों सहित विभिन्न पर्यटन स्थलों का भ्रमण कराया जाएगा। दोनों 52 सीटर बसों को इस अवसर पर फूल मालाओं सहित पर्यटन स्थलों के आकर्षक फ्लेक्स तथा पोस्टरों से सुसज्जित किया गया था।

विभिन्न पूजा मंडपों के दर्शन

राज्यपाल श्री ई.एस.एल. नरसिम्हन और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विभिन्न पूजा मंडपों के दर्शन किए

रास-गरबा के कार्यक्रम में शामिल होकर लोगों को नवरात्रि की शुभकामनाएं दीं
रायपुर, 07 अक्टूबर 2008 - राज्यपाल श्री ई.एस.एल. नरसिम्हन और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल रात शारदीय नवरात्रि की सप्तमी के अवसर पर नगर के विभिन्न दुर्गा पूजा मंडपों में जाकर मां दुर्गा की पूजा-अर्चना की और प्रदेश की सुख-समृध्दि का आशीर्वाद मांगा।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह एवं श्रीमती वीणा सिंह चैत्र नवरात्रि अष्टमी हवन में

छत्‍तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह चैत्र नवरात्रि के कार्यक्रमों के तहत आज अष्टमी के दिन महासमुंद जिले के ग्राम बिरकोनी स्थित चण्डी मंदिर में पूजा-अर्चना में शामिल हुए और छत्तीसगढ़ की जनता की सुख-समृध्दि के लिए चण्डी माता से आशीर्वाद मांगा। डॉ. सिंह वहां शत् चण्डी यज्ञ में भी शामिल हुए।

पुरी पीठ के शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती इस अवसर पर विशेष रूप से उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने इस दौरान वहां भक्तजनों की एक विशाल आम सभा को संबोधित करते हुए सभी लोगों को चैत्र नवरात्रि और श्री रामनवमीं की शुभकामनाएं दी।