धमतरी कृषि आदान सामग्री वितरण शिविर

धमतरी : कृषि आदान सामग्रियों के वितरण के लिए 15 से 17 जून तक लगाए जाएंगे शिविर : शिविर की तैयारी के लिए कलेक्टर ने ली आवश्यक बैठक
धमतरी, 14 जून 2017 - ले में आगामी 15 से 17 जून तक सभी 53 सहकारी समितियों में किसानों के लिए कृषि आदान सामग्री वितरण शिविर आयोजित किया जाएगा। कलेक्टर डॉ.सी.आर.प्रसन्ना ने इन शिविरों के सफल आयोजन के लिए कार्ययोजना बनाने आज सुबह 11 बजे से कलेक्टोरेट सभाकक्ष में कृषि एवं संबंधित अधिकारियों की आवश्यक बैठक ली। बैठक में बताया गया कि सहकारी समितियों में इन तीन दिन सुबह 10 से शाम पांच बजे तक शिविर लगाए जाएंगे, जहां किसानों को कृषि आदान सामग्री जैसे किसान क्रेडिट कार्ड, रूपे कार्ड, खाद-बीज इत्यादि का वितरण किया जाएगा।
कलेक्टर ने बैठक में साफ तौर पर कहा है कि जिले के किसान जब रूपे अथवा के.सी.सी. के जरिए नगद ऋण लेने बैंकों में जाएं, तो बैंकों में नगद की कमी ना रहे। इसके लिए कृषि, सहकारिता, और लीड बैंक मैनेजर को व्यवस्था सुनिश्चित् करना होगा। बैठक में कलेक्टर के पूछने पर जिला विपणन अधिकारी श्री बसंत त्रिपाठी ने बताया कि जिले में 25 हजार 50 मीट्रिक टन खाद वितरण के लक्ष्य के विरूद्ध समितियों तथा डबल लॉक में 22 हजार मीट्रिक टन खाद भंडारित है। अब तक 30ः् खाद का वितरण किसानों को किया गया है।  
साथ ही इस साल 15 हजार क्विंटल बीज वितरण का लक्ष्य जिले को मिला है। जिसके विरूद्ध 17 हजार 471 क्विंटल (119ः) बीज का भंडारण कर, अब तक 57ः (लगभग 8500 क्विंटल) बीज का वितरण कर लिया गया है। कलेक्टर ने कड़ी हिदायत दी है कि जिले में बीज की पर्याप्त मात्रा को देखते हुए किसानों को उनकी मांग के अनुरूप ही उक्त वैरायटी का बीज उपलब्ध कराया जाए। इस संबंध में किसी प्रकार की शिकायत नहीं आनी चाहिए। बताया गया कि जिले में 43202 रूपे कार्डधारी हैं, जिसके विरूद्ध 7766 रूपे कार्ड किसानों को जारी किए गए हैं। शेष 32 हजार रूपे कार्ड का वितरण शिविरों में किया जाएगा। इस दौरान ऐसे सभी किसान जिनका किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बन पाया है, उनका के.सी.सी. भी बनाकर वितरित किया जाएगा।
शिविरों के सफल संचालन के लिए कलेक्टर ने नोडल अधिकारी सहकारी बैंक को सख्त निर्देश दिए हैं कि इस दौरान समिति प्रबंधक अनिवार्य रूप से शिविर में मौजूद रहें और किसानों को लाभ पहुंचाएं। शिविर आयोजन के पहले इसका ग्राम स्तर पर व्यापक प्रचार-प्रसार और मुनादी कराने के निर्देश भी कलेक्टर ने दिए हैं। इसके अलावा किसानों के बैंक खातों की आधार और मोबाईल नंबर से सीडिंग तथा किसानों के मिट्टी नमूने का संग्रहण भी किया जाएगा। कलेक्टर ने राजस्व अधिकारियों के नेतृत्व में कृषि अमले के दल को औचक रूप से कृषि संबंधी दवाई दुकानों का निरीक्षण करने के निर्देश भी दिए हैं, ताकि वहां से प्रदाय की जा रही दवाई और उर्वरक की एक्सपायरी डेट पर निगाह रखी जा सके, साथ ही उन्हें दवाईयों के नमूने भी एकत्र करना होगा।
बैठक में कलेक्टर ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत् आगामी 31 जुलाई तक अधिक से अधिक किसानों का बीमा कराने पर भी जोर दिया है। उप संचालक कृषि श्रीमती मनीषा सरकार द्वारा बताया गया कि इस वर्ष 98 हजार किसानों का फसल बीमा का लक्ष्य मिला है। फसल की बोनी होते साथ अऋणी किसानों का भी फसल बीमा कराया जाएगा। कलेक्टर ने जिले के बाढ़ संभावित 73 गांव के सभी अऋणी किसानों का बीमा अनिवार्य रूप से कराने के निर्देश दिए हैं। इस बैठक में सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और विकासखण्ड स्तरीय कृषि अमला भी स्वान के वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए जुड़े रहे।

हिन्दी