तोकापाल ब्लाक के कोंण्डालूर में कृषि विज्ञान केन्द्र

कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंधन एजेंसी के तत्वावधान में ''कृषक दिवस समारोह'' सम्पन्न
प्रगतिशील कृषकों ने उन्नत खेती के अनुभवों के बारे में बताया
कृषि मंत्री द्वारा 20 किसानों को सब्जी बीज मिनीकिट वितरित
किसानों की बेहतरी के लिए हरसंभव पहल-कृषि मंत्री श्री मेघाराम साहू

        छत्तीसगढ़ में किसानों को सिंचाई सुविधा और उन्नत बीज, आधुनिक तकनीक सहित रियायती कृषि साख की उपलब्धता सुनिश्चित कर उन्हें अच्छी पैदावार लेने सहित किसानों के उपज का वाजिब दाम सुलभ कराने राज्य शासन कटिबध्द है, ताकि प्रदेश के किसानों की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ हो और आत्मनिर्भरता की ओर अग्रसर हो सकें। इस दिशा में राज्य शासन किसानों की बेहतरी के लिए हरसंभव पहल कर रही है।

यह बात कृषि मंत्री श्री मेघाराम साहू ने बस्तर जिले के तोकापाल ब्लाक अंतर्गत कोण्डालूर में कृषि विज्ञान केन्द्र एवं कृषि प्रौद्याेगिकी प्रबंधन एजेंसी के द्वारा संयुक्त तत्वावधान में आयोजित'' अग्रिम पंक्ति प्रदर्शन मक्का की खेती पर विशाल कृषक दिवस समारोह'' को सम्बोधित करते हुए कही।

इस अवसर पर कृषि मंत्री श्री मेघाराम साहू ने किसानों के हित में संचालित विभिन्न योजनाओं-कार्यक्रमों का अधिकाधिक लाभ लेकर आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनने की समझाईश कृषकों को दी। उन्होंने किसानों को उन्नत तकनीक और आधुनिक यंत्रों के उपयोग को भी बढ़ावा देने का आग्रह किया और कहा कि किसान स्वयं की जरूरत और संसाधनों के अनुरूप अपने कृषि योजना को तैयार कर खेती करेंगे, तो निश्चित ही आर्थिक रूप से सक्षम होंगे। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक श्री बैदूराम कश्यप ने हल्बी बोली में सम्बोधित करते हुए कहा कि किसान की सबसे बड़ी पूंजी मेहनत है, जो अपने आवश्यकता के अनुरूप बीज, खाद और अन्य संसाधनों का उपयोग कर पैदावार लेता है। अब कृषि आधुनिक तरीके से होती है, जिसे अपनाने से ही किसान आत्मनिर्भर हो सकता है। विधायक श्री कश्यप ने शासन की किसानों के हित में संचालित अनेक योजनाओं-कार्यक्रमों के बारे में विस्तृत जानकारी से अवगत कराया और इन योजनाओं का अधिकाधिक लाभ लेकर विकास की ओर अग्रसर होने का आग्रह कृषकों से किया। आरंभ में निदेशक विस्तार सेवाएं इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय डॉ. आर.बी.सेंगर ने अवगत कराया कि प्रदेश में किसानों तक उन्नत तकनीक को पहुंचाने के लए तेरह कृषि विज्ञान केन्द्र स्थापित किए गए हैं। शेष तीन जिले राजनांदगांव, कबीरधाम और कोरिया सहित नवगठित नारायणपुर एवं बीजापुर में भी शीघ्र ही कृषि विज्ञान केन्द्र प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया है। इस मौके पर संचालक कृषि श्री प्रतापराव कृदत्त ने अवगत कराया कि राज्य शासन द्वारा किसानों की बेहतरी के लिए उन्हें अपनी जरूरत और संसाधनों के अनुरूप कृषि योजना बनाने प्रोत्साहित किए जाने का निर्णय लिया गया है। जिससे उनकी रूचि और प्राथमिकताएं पूरी हो सकेगी। इस दिशा में कृषि विभाग सहित कृषि विज्ञान केन्द्र और अन्य संस्थानों द्वारा मार्गदर्शी रणनीति अपनाने के साथ ही किसानों को सुविधाएं उपलब्ध कराने बेहतर प्रयास किए जाएंगे। इस मौके पर प्रगतिशील कृषक श्री सुखदेव मौर्य सहित श्रीमती सुकलीबाई ने स्वयं के द्वारा अपनाये गये उन्नत खेती संबंधी अनुभवों के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी।  वहीं कृषि वैज्ञानिक डॉ.बी.एस. किरार ने उच्चहन भूमि में मक्का की उन्नत खेती के बारे में विस्तारपूर्वक अवगत कराया। आरंभ में मुख्य अतिथि कृषि मंत्री श्री मेघाराम साहू एवं अन्य अतिथियों द्वारा मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर ''कृषक दिवस समारोह'' का विधिवत शुभारंभ किया। वहीं क्षेत्र के पंचायत पदाधिकारियों और ग्रामीणों ने मुख्य अतिथि कृषि मंत्री श्री मेघाराम साहू एवं अन्य अतिथियों का गाजे-बाजे के साथ आत्मीय स्वागत किया। इस अवसर पर क्षेत्र के 20 किसानों को आत्मा परियोजनान्तर्गत नि:शुल्क सब्जी बीज मिनीकिट प्रदान किया गया। वहीं चार कृषकों को अनुदान पर स्प्रेयर पंप वितरित किया गया। इस अवसर पर राष्ट्रीय सम विकास योजनान्तर्गत 13 प्रशिक्षित ग्रामीण पशु स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को नि:शुल्क उपचार किट सहित पांच-पांच सौ रूपए प्रोत्साहन राशि प्रदान किया गया। वहीं बेकयार्ड कुक्कुट पालन योजनान्तर्गत 20 हितग्राहियों को प्रति इकाई 55 चूजे सहित 20 किलोग्राम दाना और दवाई नि:शुल्क वितरित किया गया। इस अवसर पर कृषि मंत्री श्री मेघाराम साहू ने ''वर्षाकालीन सब्जियों की खेती'' नामक लघु पत्रिका का विमोचन भी किया। वहीं कृषि मंत्री श्री साहू ने कार्यक्रम के आरंभ में स्वागत हेतु आकर्षक एवं मनोहारी लोकनृत्य प्रस्तुत करने हेतु नर्तक दल कोंडालूर के लोक नर्तकों को दो हजार रूपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान किया। इस अवसर पर अधिष्ठाता कृषि महाविद्यालय डॉ. एस.के.पाटिल एवं कार्यक्रम समन्वयक कृषि विज्ञान केन्द्र डॉ. एस.के. मुखर्जी ने मुख्य अतिथि कृषि मंत्री श्री मेघाराम साहू सहित अन्य अतिथियों को स्मृति चिन्ह प्रदान किया। इस मौके पर मंडी उपाध्यक्ष श्री बिल्डिंगराम, अपर संचालक पशुपालन श्री गहरवार सहित क्षेत्र के पंचायत पदाधिकारी तथा कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन और कृषि अभियांत्रिकी के अधिकारी-कर्मचारी, कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र के कृषि वैज्ञानिक, मीडया प्रतिनिधी और बड़ी संख्या में क्षेत्र के कृषकगण उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन एवं आभार प्रदर्शन प्रशिक्षण प्रभारी कृषि विज्ञान केन्द्र सुश्री रत्ना नशीने द्वारा किया गया।

हिन्दी