छत्‍तीसगढ़ में पचहत्तर वर्ष पुराने गुरूद्वारे के नये स्वरूप का लोकार्पण

75 year old Renovated Gurudwara Lokarpan by Chhattisgarh Chief Minister Dr. Raman Singh
पचहत्तर वर्ष पुराने गुरूद्वारे के नये स्वरूप का लोकार्पण
सर्वधर्म अनुदान 4 करोड़ लागत
हेलिकॉप्‍टर से पुष्‍प वर्षा
छत्‍तीसगढ़ सिख फूलवारी की खुशबु पंजाब गई
विशाल लंगर
विख्‍यात रागी जत्‍थो का किर्तन
सम्पूर्ण छत्तीसगढ़िया भाव से राज्य के विकास में
योगदान दे रहा है सिक्ख समाज : डॉ. रमन सिंह
छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍य मंत्री डॉ रमन सिंह ने किया लोकार्पण

Gurudwara Lokarpan By Dr. Raman Singh - लोकार्पण समारोह में मुख्यमंत्री डॉ. सिंह और पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री अग्रवाल सहित अनेक विशिष्टजनों ने गुरूग्रंथ साहिब के समक्ष मत्था टेका और छत्तीसगढ़ की जनता की सुख-समृध्दि के लिए आशीर्वाद मांगा। इस अवसर पर सभी वक्ताओं ने अमर शहीद भगत सिंह की जयंती का उल्लेख करते हुए उन्हें विशेष रूप से याद किया।

Raipur Chhattisgarh India, 28 September 2007 रायपुर छत्‍तीसगढ़ भारत, 28 सितंबर 2007
 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज यहां छत्तीसगढ़ के लगभग पचहत्तर वर्ष पुराने स्टेशन रोड गुरूद्वारा के नवनिर्मित भवन के उद्धाटन समारोह में पर्यटन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल द्वारा अमृतसर में पर्यटन सूचना केन्द्र खोलने की मंशा प्रकट किए जाने पर इसका स्वागत करते हुए इस आशय के प्रस्ताव को अपनी हरी झंडी दे दी। इतना ही नहीं बल्कि समारोह में उपस्थित शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी, अमृतसर के अध्यक्ष श्री अवतार सिंह मक्कड़ ने डॉ. रमन सिंह और श्री बृजमोहन अग्रवाल के आग्रह पर छत्तीसगढ़ के पर्यटन सूचना केन्द्र की स्थापना के लिए अमृतसर में अपनी संस्था की ओर से भी हरसंभव सहयोग का वायदा किया।

सामाजिक-सांस्कृतिक संबंधों को और भी अधिक व्यापक बनाने और दोनों राज्यों के बीच पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा पंजाब के अमृतसर में अपने पर्यटन सूचना केन्द्र की स्थापना की जाएगी। उल्लेखनीय हैं कि अब तक राष्ट्रीय राजधानी सहित विभिन्न राज्यों के सात प्रमुख शहरों में छत्तीसगढ़ के पर्यटन सूचना केन्द्र शुरू हो चुके हैं, जिनमें नई दिल्ली, कोलकाता, अहमदाबाद, बेंगलोर, हैदराबाद, नागपुर और भोपाल शामिल हैं।

मुख्य अतिथि की आसंदी से मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने समारोह में कहा कि छत्तीसगढ़ सहित सम्पूर्ण भारत के सामाजिक-आर्थिक विकास में सिक्ख समाज के लोग पीढ़ी दर पीढ़ी अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। डॉ. सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ में तो इस समाज के लोगों ने यहां के जन-जीवन में घुल-मिलकर सामाजिक समरसता का एक शानदार उदाहरण पेश किया है। सिक्ख समाज के लोग सम्पूर्ण 'छत्तीसगढ़िया भाव' से इस राज्य के विकास में अपनी भूमिका निभा रहे हैं। पंजाब के बाद छत्तीसगढ़ देश का दूसरा ऐसा राज्य है, जहां समर्थन मूल्य नीति के तहत सरकारी एजेंसी द्वारा हर साल किसानों से 35 से 40 लाख टन धान खरीदा जा रहा है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि गुरू गोविन्द सिंह से लेकर अनेक महान विभूतियों ने देश और धर्म तथा राष्ट्रीय एकता की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति देकर शहादत की एक महान परम्परा स्थापित की है। स्वतंत्रता संग्राम में अपने ऐतिहासिक योगदान के साथ इस समाज के लोगों ने आपात काल के दिनों में लोकतंत्र की रक्षा के लिए भी अनेक प्रकार की तकलीफें झेली हैं। डॉ. रमन सिंह ने कहा कि स्टेशन रोड गुरूद्वारा कमेटी द्वारा इस गुरूद्वारे को एक भव्य और विराट स्वरूप दिया है।

उन्होंने इसकी प्रशंसा करते हुए कहा कि वर्ष 1932 से आज वर्ष 2007 तक इस संस्था की विकास यात्रा सचमुच अत्यंत सराहनीय है। डॉ. सिंह ने अत्यंत अल्प समय में इस विशाल भवन का निर्माण पूर्ण होने पर प्रसन्नता व्यक्त की और कहा कि मैं भी उन लोगों में शामिल हूं, जिन्हें इसके निर्माण की शुरूआत के समय 'कार-सेवा' करने का सौभाग्य मिला था। पर्यटन और संस्कृतिक मंत्री श्री अग्रवाल ने अपने उद्बोधन में कहा कि गुरूग्रंथ साहिब एक ऐसा महान ग्रंथ है, जो हमें सामाजिक-सांस्कृतिक आचरण और जीवन जीने की कला भी सिखाता है। श्री बृजमोहन अग्रवाल ने छत्तीसगढ़ और पंजाब के बीच वर्षों पुराने संबंधों का जिक्र करते हुए अमृतसर में छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से पर्यटन सूचना केन्द्र खोलने का सुझाव रखा। उन्होंने कहा कि यदि पंजाब सरकार अथवा शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी इसके लिए हमें थोड़ी जगह दे तो छत्तीसगढ़ सरकार इसकी स्थापना जरूर करेगी। इससे दोनों राज्यों के बीच पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। श्री अग्रवाल ने कहा कि स्टेशन रोड रायपुर के इस भव्य स्वरूप में निर्मित गुरूद्वारे को छत्तीसगढ़ के धार्मिक पर्यटन केन्द्रों की सूची में भी शामिल किया जाएगा।

अपने उद्बोधन में शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी अमृतसर के अध्यक्ष श्री अवतार सिंह मक्कड़ ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह सहित छत्तीसगढ़ की जनता को शुभकामनाएं दी। श्री मक्कड़ ने यहां की सामाजिक सद्भावना की प्रशंसा करते हुए अमृतसर में छत्तीसगढ़ पर्यटन सूचना केन्द्र की स्थापना के लिए हरसंभव सहयोग का वायदा किया। इस मौके पर शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी अमृतसर के ही महासचिव श्री सुखदेव सिंह भौंर, अकाल तख्त अमृतसर के जत्थेदार जोगिन्दर सिंह, हरमिन्दर साहिब गुरूद्वारा अमृतसर के मुख्य ग्रंथी ज्ञानी गुरूवचन सिंह, स्टेशन रोड गुरूद्वारा कमेटी रायपुर के अध्यक्ष श्री दिलीप सिंह होरा, राज्य औद्योगिक विकास निगम अध्यक्ष श्री रजिन्द्रपाल सिंह भाटिया, रायपुर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्रीचंद सुदरानी, पूर्व मंत्री श्री लीलाराम भोजवानी, राज्य भंडारगृह निगम के पूर्व अध्यक्ष श्री लाभचन्द बाफना तथा सर्वश्री गुरूवचन सिंह, सुखदेव सिंह, सुरेन्द्र छाबड़ा, नरेन्द्र चावला और छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र तथा उड़ीसा आदि राज्यों के विभिन्न क्षेत्रों से बड़ी संख्या में आए सिक्ख समाज के प्रतिनिधि उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने आयोजकों की ओर से शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी अमृतसर के अध्यक्ष श्री अवतार सिंह मक्कड़ को सरोपा भेंट कर सम्मानित किया। श्री मक्कड़ ने भी मुख्यमंत्री डॉ. सिंह और पर्यटन मंत्री श्री अग्रवाल को सरोपा तथा स्मृति चिन्ह प्रदान किया।

हिन्दी