छत्‍तीसगढ़ महाविद्यालयीन प्राध्‍यापक नौकरी पायेंगें जन भागीदारी समिति व्‍दारा

छत्‍तीसगढ़ के महाविद्यालय इस बार प्राध्‍यापकों की कमी से मुक्‍त हो रहे हैं। उच्च शिक्षा, विज्ञान-तकनीकी एवं जनशक्ति नियोजन मंत्री डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी ने कहा है कि महाविद्यालयों में इस सत्र से प्राध्यापकों की कमी नहीं होगी। महाविद्यालय की जनभागीदारी समिति के माध्यम से रिक्त पद भरे जाएंगे।

उन्होंने अम्बिकापुर Ambikapur में ग्राम सुराज अभियान की समीक्षा के दौरान बताया कि शासन ने विद्यार्थियों के शैक्षणिक हित को ध्यान में रखते हुये प्राध्यापकों (Professors) के रिक्त पदों को जनभागीदारी समितियों के माध्यम से भरे जाने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में उच्च शिक्षा संचालनालय (Directorate Higher Education) से आदेश जारी हो चुके हैं। जन भागीदारी समितियों के माध्यम से कलेक्टर (Collector) के अनुमोदन के उपरान्त 5 हजार वेतन पर प्राध्यापक रखे जाएंगे।

हिन्दी