छत्तीसगढ़ संस्कृत बोर्ड की आचार्य सरयूकांत झा को श्रध्‍दांजली

रायपुर, 19 नवम्बर 2008 छत्तीसगढ़ संस्कृत बोर्ड ने छत्तीसगढ़ राज्य के सुप्रसिध्द शिक्षाविद, विचारक और साहित्यकार रायपुर निवासी आचार्य सरयूकांत झा के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। बोर्ड ने दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना करते हुए स्वर्गीय श्री झा के शोक संतप्त परिवारजनों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की है।

बोर्ड की ओर से आज यहां जारी शोक संदेश में कहा गया है कि स्वर्गीय आचार्य सरयूकांत झा ने छत्तीसगढ़ संस्कृत बोर्ड की साधारण सभा और कार्यकारिणी के सम्मानीय सदस्य के रूप में अपने रचनात्मक विचारों के साथ बोर्ड को सराहनीय मार्गदर्शन दिया। बोर्ड के सभी सदस्यगण तथा अधिकारी-कर्मचारी स्वर्गीय श्री झा के ऋषि तुल्य व्यक्तित्व से काफी प्रभावित थे। प्रदेश में संस्कृत भाषा के विधिवत् प्रचार-प्रसार का मार्ग प्रशस्त करने और बोर्ड के साहित्यिक आयोजनों में उनकी सक्रिय भागीदारी रहा करती थी। उनके निधन से छत्तीसगढ़ संस्कृत बोर्ड को भी अपूरणीय क्षति हुई है।

ज्ञातव्य है कि आचार्य सरयूकांत झा का विगत सोमवार को यहां निधन हो गया।

हिन्दी