छत्तीसगढ़ महिला कोष की योजना में 30000 महिला समूह

राज्य शासन द्वारा छत्तीसगढ़ महिला कोष के माध्यम से प्रदेश के 30 हजार 671 महिला स्वसहायता समूहों को विभिन्न रोजगार मूलक व्यवसायों के लिए 60 करोड़ 90 लाख रूपये का ऋण दिलाया जा चुका है। यह राशि उन्हें वित्तीय वर्ष 2003-04 से वर्ष 2016-17 में माह अक्टूबर 2016 तक वितरित की गई है। छत्तीसगढ़ महिला कोष द्वारा महिला स्व-सहायता समूहों को समूहों के लिए ऋण योजना 15 अगस्त 2003 से संचालित की जा रही है।
प्रारंभ में 5 हजार तक का ऋण दिया जाता था। 2004-05 में नियमों को  संशोधित कर पहली बार में 10 हजार रूपये तथा दूसरे बार में 20 हजार रूपये तक ऋण दिया जाता था। 2009-10 से प्रथम बार में 25 हजार  तथा दूसरे बार में 50 हजार रूपये तक का ऋण 10 प्रतिशत ब्याज पर दिया जाता था। 2006-07 में ब्याज दर को घटाकर 6.5 प्रतिशत किया गया है। वर्ष 2013-14 में 3 प्रतिशत वार्षिक साधारण ब्याज दर पर प्रथम बार में 50 हजार रूपये तथा दूसरे बार 2 लाख रूपये का ऋण 3 प्रतिशत ब्याज दर पर प्रदान किया जाता है। ऋण की वसूली 24 आसान किश्तों में होती है।

योजना के तहत वर्ष 2003-04 में 679 समूहों को 33 लाख सात हजार, वर्ष 2004-05 में 1712 समूहों को 93 लाख तीन हजार , 2005-06 में 2203 समूहों को एक करोड़ 40 लाख 20 हजार, 2006-07 में  2504 समूहों को दो करोड़ 35 लाख 26 हजार, 2007-08 में 3020 समूहों को तीन करोड़ 26 लाख 14 हजार, 2008-09 में 3362 समूहों को तीन करोड़ 97 लाख चार हजार, 2009-10 में 2612 समूहों को पांच करोड़ 68 लाख 86 हजार, 2010-11 में दो हजार 187 समूहों को पांच करोड़ 22 लाख 85 हजार, वर्ष 2011-12 में 2050 समूहों को पांच करोड़ 51 लाख 10 हजार, वर्ष 2012-13 में 2899 समूहों को छह करोड़ 24 लाख, वर्ष 2013-14 में एक हजार 705 समूहों को चार करोड़ 87 लाख  25 हजार, वर्ष 2014-15 में 2454 समूहों को आठ करोड़ 95 लाख 90 हजार, 2015-16 में 2479 समूहों को आठ करोड़ 91 लाख 40 हजार तथा 2016-17 में अक्टूबर 2016 तक 805 समूहों को तीन करोड़ 23 लाख रूपए का ऋण प्रदान किया गया है। उल्लेखनीय है कि प्रदेश की महिलाओं खासकर महिला स्व सहायता समूहों के आर्थिक उन्नति तथा समग्र सशक्तिकरण के लिए फरवरी 2002 में छत्तीसगढ़ महिला कोष का गठन किया गया।

हमर छत्तीसगढ़ योजना पाटन

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल से आज यहां विधानसभा परिसर में दुर्ग जिले के पाटन क्षेत्र की 13 ग्राम पंचायतों के 180 पंचायत प्रतिनिधियों ने सौजन्य मुलाकात की। इन्होंने विधानसभा की कार्रवाई का अवलोकन भी किया। ये पंचायत प्रतिनिधि ‘हमर छत्तीसगढ़ योजना’ के अंतर्गत नया रायपुर के भ्रमण पर आए हैं। इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू  और स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप भी उपस्थित थे। 

हिन्दी