छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी

आई.ए.एस. प्रशिक्षुओं की राज्यपाल से भेंट

छत्तीसगढ़ को देश की अग्रिम पंक्ति में स्थान दिलाएं- श्री नरसिम्हन
रायपुर, 06 जुलाई 2009 - प्रदेश के राज्यपाल श्री ई.एस.एल. नरसिम्हन से आज राजभवन में 2008 बैच के छत्तीसगढ़ कैडर के पांच आई.ए.एस. प्रशिक्षुओं ने सौजन्य भेंट की। श्री नरसिम्हन ने प्रशिक्षुओं से कहा कि छत्तीसगढ़ को देश की अग्रिम पंक्ति में स्थान दिलाने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी आप सभी पर है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ वृहत संभावनाओं से युक्त प्रदेश है।

ग्राम स्वास्थ्य समितियां अंध-विश्वास और कुरीतियों को दूर करें

रायपुर, 15 मई 2008 छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी में आज छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य सेवाएं चुनौतियां एवं समाधान विषय पर आयोजित संगोष्ठी का शुभारंभ छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी के महानिदेशक श्री बी.के.एस.रे ने किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि ग्राम स्वास्थ्य समितियों एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में व्याप्त अंध विश्वास एवं कुरितियों को दूर करने का प्रयास भी किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि संगोष्ठी में विशेषज्ञों से प्राप्त सुझावों पर अमल किया जाना चाहिए। संगोष्ठी से प्राप्त सुझावों को, स्वास्थ्य सेवाओं संबंधी समस्याओं के समाधान, प्रशासनिक व्यवस्था, स्वास्थ्य के प्रति ग्रामीण सह

सूचना का अधिकार बना आम नागरिकों का हथियार

रायपुर, 08 फरवरी 2008 - प्रदेश के राज्यपाल श्री ई.एस.एल. नरसिम्हन ने आज रायपुर में छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी रायपुर एवं राज्य सूचना आयोग द्वारा 'सूचना का अधिकार एवं जनता में जागरूकता' विषय पर आयोजित संगोष्ठी का शुभारंभ किया। राज्यपाल ने इस अवसर पर कहा कि सूचना के अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद यह आम आदमी का सबसे बड़ा हथियार बना है। यह एक ऐसा हथियार है जिसकी ताकत पर व्यवस्था में मौजूदा कमी बदली जा सकती है। इस क्रांतिकारी कानून ने एक ओर जहां आम आदमी को शक्ति प्रदान की है वहीं सत्ता में भागीदारी बढ़ाई है।