चांवल

घर खर्च चलाना अब नहीं मुश्किल: चांवल

राज्य के औद्योगिक शहर कोरबा के नगर निगम क्षेत्र में पथर्रीपारा वार्ड के बेहद गरीब महिला 45 वर्षीय श्रीमती हेमबाई गभेल ने बताया कि सिर्फ रोजी-मजदूरी के भरोसे अपने चार सदस्यीय परिवार का पालन पोषण बहुत कठिन था, किंतु मुख्यमंत्री खाद्यान्न सहायता योजना ने उनकी इस समस्या का काफी हद तक समाधान कर दिया है।

गरीब मन बर दो रुपिया किलो में चांऊर

चावल इतना सस्ता - मिला खुशहाल जीवन का रस्ता

मुख्यमंत्री के गृह जिले कबीरधाम (कवर्धा) में भी एक रूपए और दो रूपए किलो चावल और नि:शुल्क नमक की योजनाओं को लेकर लोगों में उत्साहजनक प्रतिक्रिया है। जिला मुख्यालय कवर्धा से लगभग 60 किलोमीटर पर हरे-भरे जंगलों में बसे बैगा आदिवासी बहुल ग्राम लूप निवासी इतवारी राम धुर्वे कहते हैं - 'हमर छत्तीसगढ के डॉ रमन के सरकार हर हमन ल पालत पोंसत हावय, जेकर खातिर हम गरीब मन बर दो रुपिया किलो में चांऊर देवत हे।

3 रु किलो चांवल रचा जाएगा इतिहास

मुख्‍यमंत्री खाद्यान्‍न सहायता योजना छत्‍तीसगढ़ हर गरीब परिवार के लिए
पेट भर खाओ : ससन भर कमाओ
हर गरीब को 3 रू. किलो चावल आज से 16.01.08
करीब 34 लाख्‍ा गरीब परिवारों को हर माह 35 किलो चावल

श्री राजनाथ सिंह सहित 15 वरिष्‍ठ नेता 15 जिलों में उद्घाटन करने पहुंचेगे