गोंचा पर्व

जगन्नाथपुरी से बस्तर गोंचा पर्व रथयात्रा

रायपुर 1 जुलाई 2009 बस्तर जिले में ''गोंचा पर्व '' का विशिष्ट स्थान हैं। गोंचापर्व में भगवान जगन्नाथ, बलभद्र और सुभद्रा का रथारूढ़ होना तथा रथ का नगर परिक्रमा विशिष्ठ स्थान रखता है।

वहीं ''तुपकी'' द्वारा भगवान के स्वागत में बजाये जाने की रिवाज तथा जगन्नाथपुरी की रथयात्रा और बस्तर में इसका प्रचलन का सम्पूर्ण इतिहास को ''पुस्तक जगन्नाथपुरी से बस्तर तक गोंचा पर्व की रथयात्रा'' पुस्तक में लिखी गयी है। इसके लेखक श्री रूद्रनारायण पानीग्राही हैं ।