गुजरात बाढ हवाई दौरा, असम में केन्द्रीय दल

दोपहर में प्रधान मंत्री मोदी द्वारा हवा से गुजरात बाढ़ का निरीक्षण, राष्ट्रपति पद शपथ ग्रहण के बाद उन्होंने उड़ान भरी

बाढ़ से हुए नुकसान का जायदा लेने के लिए अंतर-मंत्रालय केन्‍द्रीय टीम असम पहुंची

प्रधानमंत्री ने आज दोपहर गुजरात के बाढ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया 

गुजरात के मुख्यमंत्री श्री विजय रूपानी ने आज सुबह संसद भवन में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की और राज्य के कुछ हिस्सों में लगातार हो रही बारिश और बाढ़ से उत्पन्न स्थिति से उन्‍हें अवगत कराया।

इसके बाद, प्रधानमंत्री ने नये राष्‍ट्रपति के शपथ-ग्रहण समारोह के बाद आज दोपहर उत्तर गुजरात के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करने का निर्णय लिया।

असम के मुख्‍य सचिव श्री विनोद कुमार पीपरसेनिया ने आज गुवाहाटी में बाढ़ से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए गई भारत सरकार के अंतर-मंत्रालय टीम के साथ बैठक की। अंतर-मंत्रालय टीम का नेतृत्‍व गृह मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव श्री वी. शशांक शेखर कर रहे हैं। नई दिल्‍ली में 18 जुलाई को असम के मुख्‍यमंत्री श्री सर्बानंद सोनोवाल से मिलने के बाद प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के निर्देश ने सात सदस्‍यों टीम को असम दौरा का निर्देश दिया।    

टीम के अन्‍य सदस्‍य मुख्‍य अभियंता (बीएंडबीबीओ) जल संसाधन, सीडब्‍ल्‍यूसी, शिलॉग, श्री पीएम स्‍कार्ट, वित्त मंत्रालय में व्‍यय विभाग के सहायक निदेशक (एफसीडी) श्री बी के मिश्रा, सड़क परिवहन राजमार्ग के सहायक कार्य पालक अभियंता (क्षेत्रीय अधिकारी) श्री सचिन कुमार गौतम, राष्‍ट्रीय ग्रामीण सड़क विकास एजेंसी के सहायक निदेशक ग्रामीण विकास श्री राकेश कुमार, नीति आयोग के निदेशक (पूर्वोत्तर राज्‍य) श्री संजय कुमार तथा गन्‍ना विकास विभाग उत्तर प्रदेश के निदेशक (डीएसडी) कृषि एवं सहयोग डॉ. ए एल वागमारे हैं। यह दल बाढ़ की स्थिति का मौके पर जायजा लेगा और 25 से 28 जुलाई, 2017 तक बाढ़ प्रभावित बिश्‍वनाथ, लखीमपुर, मजुली, बारपेटा, कछार, हेलाखंडी तथा करीमगंज जिलों का दौरा करेगा। यह पहला मौका है कि बाढ़ के समय अंतर-मंत्रालय केन्‍द्रीय दल असम का दौरा कर रहा है। यह दौरा भारत सरकार की सक्रियता को दिखाता है।

उपनाम

हिन्दी