खाद्यान्न सहायता योजना

चाऊंर वाले बाबा से गरीबों को राहत की उम्मीद

छत्‍तीसगढ़ रायपुर, 07 जुलाई 2009 - प्रदेश के गरीबों के लिए 8 जुलाई से नए स्वरूप में शुरू हो रही मुख्यमंत्री खाद्यान सहायता योजना का शहरी गरीबों को भी बेसब्री से इंतजार है।

शहर के झुग्गी बस्तियों में रह रहे श्री श्याम तांडी, श्री श्याम लाल सोना, श्रीमती इंदु बघेल, श्रीमती गनेशिया बाई जैसे दर्जनों लोगों ने आज बातचीत के दौरान बताया कि उन्हें आठ जुलाई का इंतजार है, जब गरीबों को तीन रूपए के बजाय दो रूपए किलो चावंल मिलेगा। उन्होंने कहा कि चाऊंर वाले बाबा ने गरीबों को सस्ता चावल देकर पुण्य का काम किया है, नमक भी अब मुफ्त मिलेगा, इससे उनके खाने का स्वाद बढ़ जाएगा।

घर खर्च चलाना अब नहीं मुश्किल: चांवल

राज्य के औद्योगिक शहर कोरबा के नगर निगम क्षेत्र में पथर्रीपारा वार्ड के बेहद गरीब महिला 45 वर्षीय श्रीमती हेमबाई गभेल ने बताया कि सिर्फ रोजी-मजदूरी के भरोसे अपने चार सदस्यीय परिवार का पालन पोषण बहुत कठिन था, किंतु मुख्यमंत्री खाद्यान्न सहायता योजना ने उनकी इस समस्या का काफी हद तक समाधान कर दिया है।

कवर्धा- कांकेर खाद्यान्न सुरक्षा योजना प्रारंभ

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कवर्धा और कांकेर में दोनों योजनाओं का शुभारंभ करते हुए तीन रूपए किलो में चावल वितरण की योजना के बारे में कहा कि छत्तीसगढ़ धान का कटोरा है। धान से चावल बनता है। चावल है तो मनुष्य की जान है और जान है तो जहान है। डॉ. रमन सिंह ने कहा कि गरीब भर पेट भोजन करे, इसी में प्रदेश और देश का कल्याण है। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर दीनदयाल ग्रामीण आवास योजना का भी शुभारंभ किया। कवर्धा के कार्यक्रम में राज्य भण्डार गृह निगम अध्यक्ष डॉ.

कोरबा- राजनांदगांव खाद्यान्न सुरक्षा योजना प्रारंभ

उत्तरांचल के मुख्यमंत्री श्री भुवन चन्द्र खण्डूरी ने कोरबा में दोनों योजनाओं का शुभारंभ करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के लाखों गरीबों के हित में रमन सरकार द्वारा शुरू की गई दोनों योजनाएं देश के अन्य राज्यों के लिए भी प्रेरणा स्त्रोत है। उन्होंने कहा कि गरीबों की भलाई के लिए राज्य सरकारों को किस प्रकार काम करना चाहिए, छत्तीसगढ़ की ये दोनों योजनाएं इसका उदाहरण है। कोरबा के कार्यक्रम में विधायक श्री ननकी राम कंवर, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती शकुन्तला कंवर, राज्य महिला आयोग की सदस्य सुश्री श्याम कंवर तथा कोरबा के महापौर श्री लखन देवांगन सहित पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष श्री बनवारी लाल अग्रवाल भी मौजूद थ

छापामार शैली में होगी राशन दुकानों की जांच

खाद्यान्न योजना में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी
सभी जिलों में उड़न दस्तों का गठन होगा
खाद्य अधिकारियों की राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक
राशन कार्डों की जांच के लिए विशेष अभियान चलेगा
छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में सार्वजनिक वितरण प्रणाली में और अधिक कसावट लाने तथा सम्पूर्ण प्रणाली पर लगातार निगाह रखने के लिए खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग द्वारा उड़नदस्तों का गठन किया जाएगा। इनमें खाद्य विभाग के जिला स्तरीय अधिकारियों सहित खाद्य निरीक्षकों और जरूरत पड़ने पर अन्य विभागों के अधिकारियों को भी शामिल किया जाएगा।

रायपुर-बिलासपुर खाद्यान्न सुरक्षा योजना प्रारंभ

राजधानी रायपुर के सप्रे स्कूल मैदान में आयोजित समारोह में वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने रायपुर जिले के तीन लाख 74 हजार गरीब परिवारों के लिए और बिलासपुर में लगभग तीन लाख 88 हजार गरीब परिवार के लिए  मुख्यमंत्री खाद्यान्न सहायता योजना का शुभारंभ करते हुए कहा कि बढ़ती हुई महंगाई के इस दौर में छत्तीसगढ़ सरकार ने गरीबों को सिर्फ तीन रूपए किलो के अत्यंत किफायती मूल्य पर हर महीने 35 किलो चावल देने की योजना संचालित करते हुए एक पुण्य का कार्य किया है।

सुषमा स्वराज द्वारा 3 रू किलो चावल शुभारंभ

श्रीमती सुषमा स्वराज करेंगी रायपुर जिले में तीन रूपये किलो चांवल वितरण का शुभारंभ

सप्रे शाला मैदान में आयोजित समारोह में गरीबों को मिलेंगे आवासीय पट्टे
कलेक्टर ने दिये सभी आवश्यक तैयारियां पूर्ण करने के निर्देश