क्या कहा  मुख्यमंत्री ने कवर्धा राज्योत्सव में

तेज विकास से बढ़ा छत्तीसगढ़ का गौरव-डॉ. रमन सिंह, मुख्यमंत्री शामिल हुए कबीरधाम जिले के राज्योत्सव में

रायपुर, 4 नवंबर 2011 - मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ राज्य के तेज विकास से प्रदेश के लोगों में आत्मगौरव एवं आत्मविश्वास बढ़ा है। प्रदेश के युवा आत्मविश्वास से लबरेज होकर देश में शिक्षा, स्वास्थ्य, एवं तकनीकी क्षेत्र में अपना योगदान दे रहे हैं। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह कल गुरूवार रात जिला मुख्यालय कबीरधाम के शासकीय पी.जी. कॉलेज मैदान में राज्योत्सव के दूसरे दिन के सांस्कृतिक कार्यक्रमों के उद्धाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि छत्तीसगढ़ पिछड़ेपन के अभिशाप से मुक्त होकर नये स्वरूप में विकास के नित नये शिखरों की ओर तेजी से आगे बढ़ रहा है। प्रदेश के विकास में छत्तीसगढ़ की युवा पीढ़ी, महिलाएं, किसान एवं श्रमवीरों का बहुमूल्य योगदान है।
    मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर राज्योत्सव के आयोजन के प्रति लोगों में गहरा जुड़ाव और उत्साह है। प्रदेश की जनता छत्तीसगढ़ की कला, संस्कृति, जनजीवन एवं विकास योजनाओं से जुड़कर राज्योत्सव में सक्रिय भागीदारी निभाती है। राज्योत्सव शासकीय योजनाओं के बारे में आम आदमी को जानकारी पहुंचाने का एक अच्छा माध्यम है। उन्होने कहा कि लोग शासकीय विभागों द्वारा लगाये गये स्टालों में जाकर शासकीय योजनाओं की जानकारी प्राप्त कर लाभ उठा सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस खरीफ वर्ष में किसानो के 55 लाख मीटरिक टन धान राज्य सरकार द्वारा खरीदा जा रहा है। देश मे कोई भी दूसरा राज्य नहीं है, जो अपने किसानों द्वारा उत्पादित विक्रय योग्य धान के एक-एक दाना को खरीदती हो। डॉ. सिंह ने कहा कि इस खरीफ वर्ष में किसानों के धान खरीदने का पुख्ता प्रबंध किया गया है। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर पार्श्वगायिका सपना अवस्थी के गानों का लुत्फ उठाया एवं शासकीय विभागों द्वारा लगाये गये स्टॉलों का अवलोकन किया।
    इस मौके पर संसदीय सचिव डॉ. सियाराम साहू ने कहा कि ग्यारह वर्षों के अल्पकाल में छत्तीसगढ़ की विकास यात्रा ऐतिहासिक रही है। पिछले सात सालों मे मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में आम जनता के हित में कई कल्याणकारी योजनाएं लागू की गयी हैं, जिसकी गूंज पूरे देश में सुनी जा रही है। छत्तीसगढ़ की सार्वजनिक वितरण प्रणाली को पूरे देश में लागू किया जा रहा है। धान खरीदी की पुख्ता व्यवस्था को देश के अन्य राज्यों द्वारा सराहा जा रहा है। बजट का बडा हिस्सा समाज के गरीब व कमजोर तबके के लोगों के विकास पर खर्च किया जा रहा  है।
    छत्तीसगढ़ युवा आयोग के अध्यक्ष श्री संतोष पांडेय ने इस मौके पर कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण का श्रेय भारत के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी बाजपेयी को है, जिन्होने शांतिपूर्ण तरीके से यहां के लोगों को छत्तीसगढ़ राज्य का तोहफा दिया। उन्होने कहा कि इस नये राज्य को लोगों के सपनों के अनुरूप स्वरूप प्रदान करने का काम मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने किया है। पिछले सात वर्षों में शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क और सिंचाई के क्षेत्र में तेजी से विकास के कारण छत्तीसगढ़ अग्रिम पंक्ति के राज्यों में शुमार हो गया है। इस अवसर पर भोरमदेव तीर्थ प्रबंधकारिणी समिति के अध्यक्ष श्री आनंद सिंह, जिला पंचायत के कार्यकारी अध्यक्ष श्री विदेशीराम धुर्वे और भोरमदेव सहकारी शक्कर कारखाना के अध्यक्ष श्री रघुराज सिंह सहित अनेक जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में आम नागरिक उपस्थित थे।

हिन्दी