कृषि सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल पेंड्री लोक सुराज में

प्रदेश सरकार के कार्यों से संतुष्ट है जनता: श्री बृजमोहन अग्रवाल : लोक सुराज अभियान दौरे में पेंड्री पहुंचे कृषि मंत्री

समाधान शिविर में लगभग 88 लाख रूपए के विकास कार्यों की स्वीकृति: हितग्राहियों को 10 लाख के चेक बांटे

रायपुर, 27 अप्रैल 2017 - कृषि एवं सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश सरकार लोक सुराज अभियान के तहत गांव-गांव जाकर अपनी परीक्षा दे रही है। जनता से सीधे संवाद कर पूछ रही है कि आपने विकास की उम्मीद से सरकार बनाया है, वह ठीक ढंग से काम कर रही है या नही? हमारे लिए यह खुशी की बात है कि जनता प्रदेश सरकार के कार्यों से संतुष्ट नजर आ रही है। सड़क,पानी,बिजली जैसी मूलभूत आवश्यकताओं सहित विभिन्न समस्याओं पर शिकायत मिलते है जल्द कार्रवाई हो रही है। श्री अग्रवाल कल बालोद जिले के ग्राम पेंड्री में लोकसुराज अभियान के तहत आयोजित समाधान शिविर में जनता को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने ग्रामीणों की मांग पर 88 लाख के विभिन्न विकास कार्यों की स्वीकृति दी। शासन की विभिन्न योजनाओं के तहत 33 हितग्राहियों को 10 लाख 14 हजार राशि के चेक वितरित किए गए।
कृषि मंत्री श्री अग्रवाल ने कहा कि पिछले 13 सालों से हर साल हम जनता के दरवाजे अपने काम का हिसाब लेकर पहुँच रहे हैं। हमारे कामों में कही कोई कमी तो नहीं हैं, इस बात को सीधे जनता से संवाद कर जानने-समझने का प्रयास करते हैं और कमियां मिलने पर उन्हें दूर करने जरूरी कार्रवाई करते हैं। उन्होंने कहा कि गांव-गरीब और किसानों के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में प्रदेश सरकार पूरी निष्ठा के साथ काम कर रही है। 13 सालों में राज्य सरकार ने जितना काम किया है उतना काम पिछले 60 सालों में नही हुआ था। आज गांव,गरीब और किसानों की तकदीर और तस्वीर बदल रही है।
    श्री अग्रवाल ने पेंड्री पहुँच मार्ग निर्माण के लिए प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 18 लाख, निमोरा व पेंड्री माइनर नहर के लिये 50 लाख, गलियों के सीमेंट कांक्रीटीकरण के लिए 10 लाख तथा तालाब सौन्दर्यकरण के लिए 10 लाख रुपये स्वीकृत किए।  उन्होंने कृषि, पशुपालन, उद्यानिकी विभाग आदि की विभिन्न योजनाओं के तहत हितग्राहियों को सामग्री वितरण भी किया। पेंड्री के समाधान शिविर में गुंडरदेही विधायक श्री राजेंद्र राय,पूर्व विधायक श्री वीरेंद्र साहू, बालोद कलेक्टर श्री राजेश सिंह राणा सहित विभिन्न विभागों के उच्चाधिकारी मौजूद रहे।
 

जैविक खेती की ओर कदम बढ़ाएं किसान
कृषि मंत्री ने कहा कि अधिक उपज लेने के लिए आज किसान खेतों में यूरिया एवं रासायनिक खादों का बेहिसाब प्रयोग करते हैं। इसके फलस्वरूप फसल तो अच्छी होती है परंतु अनजाने में कई बीमारियां खाद्यान के माध्यम से आ रही है। जितना लाभ लेते हैं उससे ज्यादा कही ज्यादा बीमारियों के इलाज में खर्च हो रहा है। ऐसे समय में आज जैविक खेती समय की मांग बन रही है। उन्होंने कहा कि आय बढ़ानी है तो खेती किसानी में उद्यानिकी फसल लेनी चाहिए। किसानों को इसके साथ ही पशुपालन,मछली पालन, कुक्कुट पालन को आय का जरिया बनाना चाहिए। प्रदेश सरकार विभिन्न योजनाओं के तहत इन कामों के लिए आर्थिक सहायता दे रही है।
 

जनता के सामने अधिकारियों और कर्मचारियों से सीधा संवाद
 कृषि मंत्री ने पेंड्री के समाधान शिविर में पंचायत सचिव, पटवारी, मितानिन, एनएमए, बिजली विभाग, पीएचई आदि के कर्मचारियों को मंच पर बुलाया और जनता के समक्ष सीधे संवाद कर विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन की वस्तुस्थिति की जानकारी ली।

हिन्दी