कृषकों का सम्मान, ऋण वितरित, डॉ. सोमनाथ यादव रायपुर, 24 नवम्बर 2011

मानिकचौरी में 26 नवम्बर को किसान मेले का आयोजन, राज्यपाल श्री दत्त करेंगे उत्कृष्ट कृषकों का सम्मान

       राज्य शासन के कृषि विभाग द्वारा रायपुर जिले के अभनपुर विकासखंड के ग्राम मानिकचौरी में 26 नवम्बर को एक दिवसीय विशाल किसान मेले सह-कृषि प्रदर्शनी का आयोजन किया गया है। किसान मेले का शुभारंभ राज्यपाल श्री शेखर दत्त करेंगे। उद्धाटन समारोह की अध्यक्षता रायपुर जिले के प्रभारी मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले करेंगे। कृषि मंत्री श्री चंद्रशेखर साहू विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे। किसान मेले में कृषि, उद्यानिकी, पशुधन विकास और मत्स्य पालन विभागों के साथ ही मंडी बोर्ड, बीज निगम और इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा किसानों की बेहतरी के लिए संचालित योजनाओं एवं गतिविधियों को प्रदर्शनी के माध्यम से प्रस्तुत किया जाएगा। इस अवसर पर राज्यपाल श्री शेखर दत्त द्वारा क्षेत्र के उत्कृष्ट किसानों, सब्जी उत्पादकों, पशुपालकों और मत्स्य पालकों को पुरस्कृत भी किया जाएगा। किसान मेले में कृषक संगोष्ठी एवं परिचर्चा का आयोजन भी किया गया है। अपने मानिकचौरी प्रवास के दौरान राज्यपाल वहां हाईस्कूल भवन, सामुदायिक भवन और प्राथमिक उपस्वास्थ्य केन्द्र भवन का लोकार्पण भी करेंगे। कृषि मंत्री श्री चंद्रशेखर साहू ने अभनपुर विकासखंड के अधिक से अधिक किसानों से किसान मेले में शामिल होकर राज्य सरकार द्वारा उनके विकास के लिए संचालित की जा रही योजनाओं का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाने की अपील की है।

किसानों को अब तक लगभग सोलह करोड़ रूपए का ऋण वितरित

   छत्तीसगढ़ के किसानों को चालू रबी मौसम में अब तक खेती के लिए लगभग सोलह करोड़ रूपए का ऋण उपलब्ध कराया जा चुका है। राज्य सरकार की नीति के तहत किसानों को खरीफ फसलों की तरह रबी फसलों की खेती के लिए भी मात्र तीन प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर पर अल्पकालीन ऋण दिया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि प्रदेश की एक हजार 333 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के माध्यम से किसान सिर्फ तीन प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर पर खेती के लिए खाद और बीज के साथ-साथ नगद राशि भी ऋण के रूप में प्राप्त कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी बैंक के अधिकारियों ने आज यहां बताया कि रबी फसलों के लिए कृषि ऋणों का वितरण विगत एक अक्टूबर से शुरू हो चुका है और इस माह की 22 तारीख तक किसानों को 15 करोड़ 92 लाख रूपए से अधिक का ऋण दिया जा चुका है। यह ऋण साठ प्रतिशत नगद और चालीस प्रतिशत वस्तु (खाद-बीज) आदि के रूप में किसान क्रेडिट कार्डों पर दिया जा रहा है।

नवनियुक्त पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष डॉ. सोमनाथ यादव ने पदभार ग्रहण किया

छत्तीसगढ़ राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के नवनियुक्त अध्यक्ष डॉ. सोमनाथ यादव ने आज यहां आयोग के कार्यालय में पदभार ग्रहण किया। इस अवसर पर डॉ. यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने मुझ पर जो विश्वास जताया है, उस पर मैं खरा उतरने  का प्रयास करूंगा। डॉ. यादव ने इस महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौपने पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के प्रति आभार व्यक्त किया। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष और सदस्यों के नियुक्ति आदेश यहां मंत्रालय से कल 23 नवम्बर को आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग द्वारा जारी कर दिए गए हैं। आयोग में छह सदस्य भी नियुक्त किए गए है, इनमें श्री प्रहलाद रजक जिला बेमेतरा, श्री भुवनेश्वर सिंह केसर कुनकुरी जिला जशपुर, श्री देवेन्द्र जायसवाल डौंडीलोहारा, श्री शिव चंद्राकर जिला दुर्ग, श्रीमती ममता साहू जिला धमतरी, श्री छतरसिंह नायक जिला महासमुंद शामिल हैं।
    आयोग के नए अध्यक्ष डॉ. सोमनाथ यादव का जन्म 9 अप्रैल 1968 को किलावार्ड जूना बिलासपुर में हुआ। डॉ. यादव बी.कॉम. एम.ए. हिन्दी और समाज शास्त्र में पीएच.डी. की शिक्षा प्राप्त की है। इसके अलावा बेचलर आफ जनॅलिज्म एंड मॉस कम्युनिकेशन की भी शिक्षा प्राप्त की है। उन्होंने कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय बलौदा जिला जांजगीर-चाम्पा में सहायक प्राध्यापक के रूप में अध्यापन का कार्य किया। उन्होंने 50 से अधिक किताबों, ग्रंथों का लेखन और संपादन भी किया है।

सामाजिक न्याय के क्षेत्र में महिला अदालतें महत्वपूर्ण कड़ी होंगी : सुश्री लता उसेण्डी

महिला और बाल विकास मंत्री सुश्री लता उसेंडी  ने कहा कि सामाजिक न्याय के क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए छत्तीसगढ़ में महिला अदालतें बनी है। महिला अदालतें महिला अत्याचार और अन्याय संबंधी प्रकरणों के त्वरित निराकरण में एक महत्वपूर्ण कड़ी साबित होंगी। इन अदालतों के माध्यम से महिलाएं कानून और महिला अधिकार के संबंध में जागरूक भी होंगी। उन्होंने कहा कि जागरूक और सशक्त महिलाएं ही समाज को सही दिशा दे सकती हैं। सुश्री उसेण्डी मुख्य अतिथि की आसंदी से आज राजधानी रायपुर के नजदीक ग्राम निमोरा स्थित राज्य ग्रामीण विकास संस्थान में छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग द्वारा 'महिला अदालतें' विषय पर आयोजित एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर को सम्बोधित कर रही थी।
    सुश्री उसेण्डी ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ की महिलाएं सामाजिक-आर्थिक सहित हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं। छत्तीसगढ़ की महिलाओं को कर्मठ, ईमानदार और मेहनती माना जाता है। उन्होंने कहा कि महिलाएं चाहे तो समाज में व्याप्त नशा, कुपोषण, दहेज प्रथा और बाल विवाह जैसी सामाजिक बुराईयों को चंद महीनों में दूर कर सकती हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती विभा राव ने कहा कि महिला अदालतें प्रकरणों के निपटारे के साथ ही बालिका शिक्षा, बालिका जन्मोत्सव, विवाह पंजीयन जैसी रचनात्मक गतिविधियों में भी शामिल होंगी। उन्होंने कहा कि महिला अदालतों के माध्यम से राज्य की महिलाओं को महत्वपूर्ण दायित्व सौंपा जा रहा है। इन अदालतों से अपेक्षा है कि वे निर्विवाद और निष्पक्ष होकर न्याय करेंगे।
    ज्ञातव्य है कि ग्रामीण क्षेत्रों की उन महिलाओं के लिए जो घरेलू हिंसा, दहेज प्रताड़ना, टोनही प्रताड़ना, सम्पत्ति विवाद आदि से परेशान हैं और पुलिस या न्यायालयीन कार्रवाई से बचना चाहते हैं, उनकी सुविधा के लिए विकासखण्ड स्तर पर महिला अदालत प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया है। एक महिला अदालत में 20 सदस्य रहेंगे, जिन्हें विकासखण्डों से प्राप्त प्रस्तावों में से चयनित किया जाएगा। चयनित सदस्य माह में कम से कम एक बार जिला महिला एवं बाल विकास के परियोजना कार्यालय में बैठेंगीं और प्राप्त शिकायतों को पंजीबध्द करवाकर पक्षकारों की उपस्थिति में सुनवाई करेंगीे। प्रशिक्षण शिविर में महिला आयोग की सदस्य श्रीमती रेखा मेश्राम, उषा टावरी, शीला तिवारी और सुश्री जविता मण्डावी सहित महिला अदालत की सदस्य उपस्थित थीं।

खाद्य मंत्री श्री मोहले का दौरा कार्यक्रम

     खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले कल 25 नवम्बर को एक दिवसीय प्रवास पर राजनांदगांव जाएंगे और वहां आयोजित कार्यक्रमों में शामिल होंगे।
    श्री मोहले 25 नवम्बर को प्रात: 10.00 बजे बिलासपुर जिले के विकासखंड मुंगेली के ग्राम दशरंगपुर से प्रस्थान कर दोपहर 12.30 बजे राजनांदगांव पहुंचेंगे और वहां स्थानीय नागरिकों तथा कार्यकर्ताओं से भेंट करेंगे। श्री मोहले दोपहर एक बजे राजनांदगांव जिला कलेक्टोरेट सभाकक्ष में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय कार्यों की समीक्षा करेंगे। श्री मोहले शाम 7.00 बजे वहां से प्रस्थान कर रात्रि 9.00 बजे रायपुर पहुंचेंगे।

हिन्दी