किसान

किसानों की आमदनी बढ़ाने सरकार क्या रही?

  1. सॉयल हेल्थ कार्ड (एसएचसी) योजना जिससे किसान अपनी मिट्टी में उपलब्ध बड़े और छोटे पोषक तत्वों का पता लगा सकते हैं। इससे उर्वरकों का उचित प्रयोग करने और मिट्टी की उर्वरता सुधारने में मदद मिलेगी।
  2. नीम कोटिंग वाले यूरिया को बढ़ावा दिया गया है ताकि यूरिया के इस्तेमाल को नियंत्रित किया जा सके, फसल के लिए इसकी उपलब्धता बढ़ाई जा सके और उर्वरक की लागत कम की जा सके। घरेलू तौर पर निर्मित और आयातित यूरिया की संपूर्ण मात्रा अब नीम कोटिंग वाली है।
  • परंपरागत कृषि विकास योजना (पीकेवीवाई) को लागू किया जा रहा है ताकि देश में जैव कृषि को बढ़ावा मिल सके। इससे मिट्टी की सेहत और जैव

सिंचाई पम्प पानी की धार पर प्रसन्न किसान

प्रदेश में आठ वर्ष में दो लाख किसानों को सिंचाई पम्प कनेक्शन : डॉ. रमन सिंह, विद्युतीकृत सिंचाई पम्पों की संख्या 2.94 लाख तक पहुंची

   रायपुर, 14 नवम्बर 2011 - छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि उनकी सरकार ने राज्य में विगत लगभग आठ वर्ष में दो लाख किसानों के सिंचाई पम्पों को बिजली के कनेक्शन दिए हैं, जिससे प्रदेश में कृषि जमीनों के सिंचित रकबे में उल्लेखनीय वृध्दि हुई है और कृषि उत्पादन भी लगातार बढ़ रहा है।

मुख्यमंत्री ने कृषक स्वावलम्बन यात्रा का शुभारंभ किया

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि किसानों की आर्थिक आजादी से ही देश में खुशहाली आएगी। किसान हमारे अन्नदाता हैं। उनके खुशहाल होने पर ही गांवों और शहरों के साथ पूरा देश खुशहाल होगा। डॉ. सिंह ने कहा कि किसानों की आर्थिक आजादी के लिए बीज स्वावलम्बन, जैविक खेती, रतनजोत आधारित जैविक ऊर्जा उत्पादन और प्राकृतिक जल संरक्षण जैसे उपायों को भी बढ़ावा देने की जरूरत है, ताकि खेती को अधिक लाभदायक व्यवसाय बनाया जा सके।