कामतेडा नक्सली मुठभेड़: दण्डाधिकारी जांच के आदेश

पुलिस की जुबानी कामतेडा खोज अभियान में नक्सल लड़ाई का ब्यौरा

उत्तर बस्तर (कांकेर) 21 जुलाई 2017 - पुलिस अधीक्षक कांकेर के पत्रानुसार गत 19 जून 2017 को रात्रि 02. बजे नक्सली गश्त सर्चिंग पर दो टीमों रवाना हुआ, जिसमें नं. 01 टीमे में एसटीएफ प्रभारी मदन मोहन ओझा के हमराह एसटीएफ के 43 तथा जिला बल के 07 बल, टीम नं. 02 में निरीक्षक मोहन लाल निषाद तथा थाना कोयलीबेड़ा, सिकसोड़, रावघाट, ताड़ोकी अंतागढ़, एसटीएफ व ए-60 कुल 49 बल के साथ ज्वाईंट ऑपरेशन जास्मीन 01 के तहत् पर्याप्त आर्म्स एम्युनेशन लेेकर वरिष्ठ कार्यालय द्वारा दिये गये दिशा निर्देशों को समस्त बलों को अवगत कराकर ऑपरेशन पर ग्राम उदनपुर पहुंचे।

वहां दोनों टीमें दो भागों में बट गये पहली टीम एसटीएफ प्रभारी मदन मोहन ओझा के हमराह में ग्राम गोटांज,जामड़ी की ओर व निरीक्षक मोहन निषाद का टीम ग्राम गेड़ाबेड़ा, मुरूलानप्पा, मरकाहूर, कामतेड़ा की ओर नक्सली गश्त सर्चिंग करते हुए ग्राम कामतेड़ा के जंगल पहाड़ के पास 13.00 बजे करीबन पहुंचे थे। उसी समय पहले से घात लगाकर बैठे सीपीआई माओवादी नक्सलियों ने पुलिस पार्टी के हथियार लूटने व हत्या करने की नियत से अंधाधुंन फायरिंग लगे, जिस पर जवानों ने अपनी जगह पर पॉजिशन ली तब निरीक्षक मोहन निषाद द्वारा सीपीआई माओवादी नक्सलियों को आत्मसर्पण करने के लिए चेतावनी दिया गया, जो चेतावनी को अनसुना करते हुए नक्सलियों द्वारा भारी मात्रा में स्वचलित हथियारों से फायरिंग करने लगे।

तब आत्मसुरक्षार्थ पुलिस बल द्वारा फायर का जवाब फायर से दिया गया। गोलीबारी लगभग एक घण्टे तक चली। नक्सलियों ने पुलिस पार्टी को भारी पड़ता देखकर बोलने लगे कि हमारे साभी जयसिंह को गोली लग गई है। भागों-भागो कहते हुए एक दूसरे का नाम शंकर, जयमति, जुगनी, सुशीला, मीना नेताम, प्रसाद, तरसिंह नेताम, मैनु, ललिता, सोमजी, हीरालाल बोलते हुए जंगल पहाड़ का आड़ लेकर भाग गये। फायरिंग बंद होने पर सेटेलाईट फोन से वरिष्ट अधिकारियों को नक्सली व पुलिस मुठभेड़ के संबंध में अवगत कराकर ग्राम कामतेड़ा जंगल पहाड़ का सर्च करने पर एक सीपीआई माओवादी नक्सली पुरूष वर्दीवधारी का शव म्र लगभग 36 वर्ष जिसके बगल में एक एसएलआर रायफल मय मैग्जीन कमर में काले रंग का पोज जिसमें एक मैग्जीन भरी हुई बगल में एसएलआर के 02 खाली कैश मिले। सीपीआई माओवादी नक्सली पुरूष के गला, मुह, छाती, कमर मं गोली लगने से चोट का निशान दिख रहा था। कुछ दूर पर एक घायल लड़का लगभग 16 वर्ष जमीन पर पड़ा था। जिसके कमर में चोट लगने का निशान दिख रहा था। जिसके बगल में मिली।

घायल लड़के से नाम पता पुछने पर अपना नाम मानसिंह कड़ियाम ग्राम कामतेड़ा होना बताया। घायल लड़के के कमर में चोट से खून निकल रहा था, जिसे क्वीक क्लाट ग्रेनुअल्स लगाकर पट्टी बांधकर प्राथमिक उपचार कर उचित इलाज के लिए मय बल के साथ सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र कोयलीबेड़ा रवाना किया गया।

घटना स्थल का निरीक्षण करने पर हल्का लाल भूरे रंग का एक बण्डल वायर, फ्लैश मय सेट 02 नग, बीजली पलग 01 नग, लाल हरा वायर लगभग 02 मीटर, 01 स्टील का बाक्स जिसमें दवाईयां, इन्जेक्शन, सिरिंग रखा मिला, बड़ा सेल 05 नग, पेन्सिल सेल 09 केलकुलेटर 02 नग, प्लास्टिक टार्च 02 नग, बुखार नापने का थर्मामीटर 03 नग, सुखा बैटरी 09 वॉट 01 नग, फुन्थु्र मय चांड 03 नग, हाथ से निर्मित पेचकश 03 नग, छोटा पेचकश 01 नग, प्लास्टिक जरकीन 06 नग, प्लास्टिक चप्पल 04 जोड़ी, हरा जूता 02 जोड़ी, काला जूता 02 जोड़ी, स्टील मग 03 नग, एल्युमिनय डेकची 01 नग, टिफिन 02 डिब्बा, स्टील वाला 01 नग, बड़ा चमच्च 02 नग, छोटी कटोरी 01 नग, स्टील प्लेट 06 नग , पिटठु 09 नग, मैग्जीन पोज 02 नग, लूंगी 03 नग, बैडसीट 02 नग, साल 01 नग, गमछा 02 नग, साड़ी 01 नग, लंहगा 01 नग, नेकर 01 नग, रूमाल 13 नग, साल 01 नग, लोवर 01 नग पुरूष अण्डर वियर 03 नग, ब्रा. पेन्टी 05-05 नग, ब्लाउज 03 नग, मोजा एवं जोड़ी त्रिपाल हरा रंग का 2 नग एवं अन्य दैनिक उपयोगी सामग्री एवं पिटठु से नगद रकम 8560 रू. जिसे गवाह सम्पत टांडिया प्र.आर. 778 आरक्षक 1271 छोटेलाल नेताम को बताया एवं दिखाया गया जिसे समक्ष गवाह प्र.आर. 778 सम्पत टांडिया पिता भारत राम उम्र 37 वर्ष 02 आर. 1271 छोटेलाल नेताम पिता गणेश राम नेताम उम्र 26 वर्ष ए- 60 अंतागढ़ के मुताबिक जप्ती पत्रक के जप्त कर सील कर कब्जा पुलिस लिया गया। नक्सली आरोपियों का यह कृत्य अपराध धारा 147, 148, 149, 307 भादवि 25, 27 आर्म्स एक्ट का अपराध पाये जाने से थाना परतापुर में अपराध क्रमंाक 01/2017 पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है। पुलिस अधीक्षक कांकेर द्वारा उक्त घटना की दण्डाधिकारी जांच कराने हेतु प्रस्ताव प्रेषित किया गया।

        घटना की गंभीरता को देखते जिला दण्डाधिकारी कांकेर श्री टामन सिंह सोनवानी ने जनहित में उक्त घटना की दण्डाधिकारी जांच निम्न बिन्दुओं पर किये जाने हेतु अनुविभागीय दण्डाधिकारी, पखांजूर जिला उत्तर बस्तर कांकेर को जांच अधिकारी नियुक्त किया है। घटना की पृष्ठ भूमि, क्या 19 जून 2017 को ग्राम कामतेड़ा के जगंल पहाड़ में नक्सली एवं पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई थी ?क्या मुठभेड़ के दौरान नक्सलियों द्वारा फायरिंग की गई थी ?क्या पुलिस बल के द्वारा जवाबी कार्यवाही में फायरिंग की गई थी ?क्या उक्त घटना में पुलिस या नक्सलियों में से कोई व्यक्ति मारे गये थे या घायल हुऐ थे। क्या उक्त घटना में हथियार लूटे गये थे? क्या उक्त घटना में हथियार या अन्य सामग्री जप्त किये गये थे ?जांच के दौरान जांच अधिकारी को प्राप्त अन्य तथ्यात्मक जानकारी जो घटना के लिए प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष कारण रहा हो ?जांच का अंतिम निष्कर्ष । जांच अधिकारी उपरोक्त बिन्दुओं पर सर्व संबंधितों को सूचना एवं सुनवाई का अवसर प्रदान कर प्रतिवेदन 01 माह के भीतर प्रस्तुत करने के निर्देशि दिए गए हैं। यह आदेश तत्काल प्रभावशील होगा ।

हिन्दी