कांकेर जिले में उज्ज्वला योजना शत-प्रतिशत लक्ष्य पूर्ण

मुख्यमंत्री ने लोक सुराज की बैठक में की समीक्षा : प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना: कांकेर जिले में शत-प्रतिशत लक्ष्य पूर्ण

सौर सुजला में 500 अतिरिक्त सिंचाई पम्पों का लक्ष्य

पखांजूर और चारामा में 132 के.व्ही. विद्युत उपकेन्द्र का
निर्माण मार्च-जून 2018 तक पूर्ण करने के निर्देश

संवेदनशील इलाकों की सड़कों के निर्माण में लाएं तेजी: डॉ. रमन सिंह

मुख्यमंत्री ने कांकेर जिले में की विभागीय योजनाओं की समीक्षा

रायपुर, 12 अप्रैल 2017 - मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज देर शाम जिला मुख्यालय कांकेर में लोक सुराज अभियान के तहत विभिन्न विभागों की समीक्षा बैठक ली। उन्होंने इस बात पर खुशी जताई कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत कांकेर जिले में गरीब परिवारों को महिलाओं के नाम पर मात्र 200 पंजीयन शुल्क पर रसोई गैस कनेक्शन देने का शत-प्रतिशत लक्ष्य पूरा हो गया है। पिछले माह समाप्त हुए वित्तीय वर्ष के दौरान जिले में 40 हजार परिवारों को इस योजना से जोड़ने का लक्ष्य था। डॉ. सिंह ने लक्ष्य पूर्ति पर जिला प्रशासन और खाद्य विभाग के अधिकारियों की प्रशंसा की। डॉ. सिंह ने राज्य सरकार की सौर सुजला योजना के तहत जिले में किसानों को अत्यंत कम कीमत पर सोलर सिंचाई पम्प देने के लिए चल रहे प्रयासों की भी समीक्षा की।
 उन्होंने कहा- नदी, नालों के किनारे जहाँ भूमिगत जल स्तर ऊपर है, वहां अधिक से अधिक किसानों को इस योजना का लाभ दिलाया जाए। उन्होंने कांकेर जिले के लिए ‘‘सौर सुजला योजना’’ का लक्ष्य दोगुना करते हुए 500 सिंचाई पम्पों का अतिरिक्त लक्ष्य बढ़ाया। डॉ. रमन सिंह ने ‘‘मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना’’ की समीक्षा करते हुए सायकल, पंप, ट्रांसफार्मर, रिपेयरिंग ट्रेड में युवकों को प्रशिक्षण देने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि जिले में मजदूरों, छात्र-छात्राओं को हजारों की संख्या में सायकल तथा कृषि विभाग की शाकंभरी योजना में किसानों को हजारों की संख्या में पंप दिए गए हैं। इसके रिपेयरिंग में रोजगार की अधिक संभावनाएँ हैं। मुख्यमंत्री ने उन व्यावसायों हेतु प्रशिक्षण को प्राथमिकता देने कहा जिनमें रोजगार और स्वरोजगार की व्यापक संभावनाएँ हैं।
    मुख्यमंत्री ने ग्रामीण युवकों को कृषि, उद्यान, पशुपालन व्यावसाय के प्रति रूचि जागृत करने तथा कौशल विकास में ऐसे कोर्स प्रारंभ करने कहा, जिससे युवा इन व्यावसायों से जुड़ने प्रेरित हो सकें। उन्होंने कहा कि कृषि और उनके अनुषांगिक व्यावसायों में रोजगार के अच्छे अवसर हैं।    प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने गत् वर्ष 39,900 कनेक्शन देने का 100 प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने तथा चालू वर्ष में मिले लक्ष्य 36,690 में अब तक करीब साढ़े चार हजार कनेक्शन देने की कार्यवाई पर अपनी प्रसन्नता प्रकट की। उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना में राज्य में 25 लाख एल.पी.जी.गैस कनेक्शन आगामी 02 वर्षों में वितरित करने का लक्ष्य है। इनमें केवल कांकेर में एक लाख से अधिक गैस कनेक्शन देने का लक्ष्य हासिल कर लिया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने जिले के दूरस्थ क्षेत्रों में पदस्थ ए.एन.एम. द्वारा औसत 08 से 10 संस्थागत सुरक्षित प्रसव करने पर अपना संतोष जाहिर किया। विद्युत विभाग की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने चारामा और पखांजूर में 132 केव्ही तथा विद्युत सबस्टेशन स्थापना कर निर्माण कार्य क्रमशः जून 2018 और मार्च 2018 तक पूरा करने का लक्ष्य बताए जाने पर इस कार्य में तेजी लाने और इसे यथाशीघ्र पूरा करने के निर्देश छत्तीसगढ़ विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारियों को दिए।
    बैठक में जिले के संवेदनशील क्षेत्रों में लोक निर्माण विभाग द्वारा बनाई जा रही सड़कों की प्रगति की समीक्षा की गई। मुख्यमंत्री ने छोटेबेठिया-तारावेली, अंतागढ़-बेड़मा सड़क निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश निर्माण एजेंसी और संबंधित ठेकेदार को दिए। उन्होंने सड़क निर्माण कार्य की नियमित समीक्षा और मानिटरिंग पर जोर दिया। बैठक में प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा की गई तथा इसके सकारात्मक क्रियान्वयन के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। मुख्यमंत्री द्वारा लोक सुराज अभियान में प्राप्त आवेदनों, जाति प्रमाण पत्र के आवेदन के निराकरण लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, स्वास्थ्य आबादी पट्टा वितरण की तैयार, क्रेडा, मनरेगा के कार्यों की समीक्षा की और प्रशासन को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। रावघाट परियोजना की प्रगति की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को समन्वय से कार्य कर कार्य में प्रगति लाने के निर्देश दिए गए। कांकेर जिले के प्रभारी एवं राजस्व मंत्री श्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय, मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड, प्रमुख सचिव गृह एवं कांकेर जिले के प्रभारी सचिव श्री बी.व्ही.एम.सुब्रमण्यम, लोक निर्माण सचिव श्री सुबोध सिंह, पुलिस महानिदेशक श्री ए.एन.उपाध्याय,बस्तर संभाग के पुलिस महानिरीक्षक श्री विवेकानंद सिन्हा, संचालक जनसंपर्क श्री राजेश कुमार टोप्पो, बस्तर संभाग के आयुक्त श्री दिलीप वासनीकर, कलेक्टर कांकेर श्रीमती शम्मी आबिदी, बस्तर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक श्री विवेकानंद सिन्हा सहित  विभिन्न विभागों जिला स्तर के वरिष्ठ अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।

हिन्दी