ई-रिक्शा की चाबी सौंपी

मुख्यमंत्री ने छह हितग्राहियों को सौंपी ई-रिक्शे की चाबी : साढ़े तीन सौ से ज्यादा परिवारों को मकानों के अधिकार पत्र

रायपुर, 14 अप्रैल 2017 - मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती और डिजीधन मेले के अवसर पर जिला मुख्यालय राजनांदगांव में आयोजित प्रदर्शनी में छह हितग्राहियों को ई-रिक्शा भेंटकर बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने इन हितग्राहियों को ई-रिक्शे की चाबी सौंपी। प्रत्येक ई-रिक्शे की कीमत एक लाख 28 हजार रूपए हैं। इसमें राज्य शासन द्वारा 30 हजार रूपए का अनुदान दिया गया है और दस हजार रूपए हितग्राही का अंशदान है। इस अवसर पर श्री लोकेश्वर कुर्रे सहित सभी हितग्राहियों ने मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया। उल्लेखनीय है कि डॉ. अम्बेडकर की 126वीं जयंती पर आयोजित डिजीधन मेले में जिला पंचायत राजनांदगांव सहित वहां के लीड बैंक और विभिन्न बैंकों तथा महिला स्व-सहायता समूहों द्वारा अपनी गतिविधियों पर आधारित प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। मुख्यमंत्री ने पद्मश्री गोविंदराम निर्मलकर ऑडिटोरियम में इस दौरान वाल्मिकी और अटल आवास योजना के तहत 368 परिवारों को मकानों का अधिकार पत्र सौंपा। उन्होंने आई.एच.एस.डी.पी. योजना के तहत जिले में बन रहे 1072 मकानों में से 333 मकानों के लिए भी संबंधित परिवारों को आवास आवंटन पत्र सौंपा। डॉ. सिंह ने मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत 300 हितग्राहियों को कारोबार के लिए शेड आदि के अधिकार पत्र दिए। इस मौके पर स्कूल शिक्षा और आदिम जाति विकास मंत्री श्री केदार कश्यप, लोकसभा सांसद श्री अभिषेक सिंह, महापौर श्री मधुसूदन यादव, छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष श्री रामजी भारती, छत्तीसगढ़ राज्य समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष श्रीमती शोभा सोनी, राज्य भंडार गृह निगम के अध्यक्ष श्री नीलू शर्मा, छत्तीसगढ़ उर्दू अकादमी के अध्यक्ष श्री अकरम कुरैशी, बीस सूत्रीय कार्यक्रम समिति के उपाध्यक्ष श्री खूबचंद पारख, राज्य महिला आयोग की सदस्य श्रीमती रेखा मेश्राम सहित कई संस्थाओं के पदाधिकारी, आदिम जाति और अनुसूचित जाति विकास विभाग के अनेक वरिष्ठ अधिकारी, जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी और बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।

हिन्दी