आई.ए.एस.

अभिशासन में समझाइश मायने रखता है, एक मुद्दा जो पुस्तक "आई@एस - टेल टोल्ड बाई एन आईएएस्स" विमोचन में उभरा

दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव रहे पूर्व आईएएस ओमेश सहगल की किताब केंद्रीय वित्त, रक्षा और कारपोरेट मामलों के मंत्री श्री अरुण जेटली के भाषण में कहलवाया कि "निर्णय लेने की प्रक्रिया के दौरान नौकरशाह अपनी अभिव्यक्ति सलाह / राय देने के लिए स्वतंत्र हैं". खैर भारतीय अभिप्रशासन या अभिशासन याने गवर्नेंस में वास्तव में कितने सलाहकार और सलाह मौजूद हैं?

आईएएस प्रारंभिक परिणाम घोषित किए गए, उपलब्ध ऑनलाइन देखने और पूर्ण सूची डाउनलोड करने के लिए

सिविल सेवा के परिणाम (प्रारंभिक) परीक्षा, 2017 आउट और प्रकाशित है ऑनलाइन, केवल एक क्लिक से अपना रोल नंबर देखें और मुख्य परीक्षा की तैय्यारी चालू करें

           18/06/2017 को आयोजित सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा, 2017 के परिणाम के आधार पर, निम्नलिखित रोल नंबर वाले उम्मीदवारों ने सिविल सेवा (मुख्य) परीक्षा, 2017 में प्रवेश के लिए योग्यता प्राप्त की है।

UPSC IAS IPS IFS Exam Clearance for Mains पूरा परिणाम सूची यहाँ देखें - प्रारंभिक परीक्षा

दंतेवाड़ा से चयनित आई.ए.एस. नम्रता जैन मुक्ष्य्मंत्री के साथ

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से आज यहां उनके निवास कार्यालय में आई.ए.एस. के लिए चयनित दंतेवाड़ा जिला के सुश्री नम्रता जैन ने सौजन्य मुलाकात की। डॉ. सिंह ने प्रदेश के दूरस्थ आदिवासी अंचल और नक्सल प्रभावित गीदम निवासी सुश्री जैन कप इस शानदार सफलता पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी।

उन्होंने कहा कि सुश्री जैन ने संघ लोक सेवा आयोग 2016 की परीक्षा में 99 वां स्थान हासिल किया है। उनका चयन अखिल भारतीय सेवा के लिए हो गया है। यह प्रेरणादायी सफलता आदिवासी अंचल बस्तर संभाग ही नहीं, बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ प्रदेश के लिए गर्व की बात है। 

आई.ए.एस. प्रशिक्षुओं की राज्यपाल से भेंट

छत्तीसगढ़ को देश की अग्रिम पंक्ति में स्थान दिलाएं- श्री नरसिम्हन
रायपुर, 06 जुलाई 2009 - प्रदेश के राज्यपाल श्री ई.एस.एल. नरसिम्हन से आज राजभवन में 2008 बैच के छत्तीसगढ़ कैडर के पांच आई.ए.एस. प्रशिक्षुओं ने सौजन्य भेंट की। श्री नरसिम्हन ने प्रशिक्षुओं से कहा कि छत्तीसगढ़ को देश की अग्रिम पंक्ति में स्थान दिलाने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी आप सभी पर है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ वृहत संभावनाओं से युक्त प्रदेश है।

बैजेन्द्र कुमार प्रमुख सचिव बने

रायपुर, 27 जून 2009 - श्री एन.बैजेन्द्र कुमार, भारतीय प्रशासनिक सेवा 1985 को प्रमुख सचिव के रूप में पदोन्नति दी गयी है। सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा आज इस संबंध में आदेश जारी किए गए हैं। श्री बैजेन्द्र कुमार को प्रमुख सचिव, मुख्यमंत्री के पद पर पदस्थ किया गया है।

साथ ही उन्हें प्रमुख सचिव, जनसम्पर्क, आवास एवं पर्यावरण विभाग तथा आयुक्त जनसम्पर्क का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। श्री बैजेन्द्र कुमार को प्रमुख सचिव वेतनमान, वेतन बैंड - 37400-67000 एवं ग्रेड वेतन 12000 में पदोन्नत किया गया है।