अमर शहीदों के चित्रों का भी मुख्यमंत्री ने किया लोकार्पण

आदिवासी कल्याण योजनाओं पर आधारित पुस्तिकाओं का विमोचन

रायपुर, 09 अगस्त 2017 - मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज यहां विश्व आदिवासी दिवस समारोह में अनुसूचित जनजातियों के लिए संचालित योजनाओं और उनके कानूनी अधिकारों पर केन्द्रित तीन पुस्तिकाओं का विमोचन किया। इनमें से प्राकृतिक आपदा पीड़ित आमजनों को राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत दी जाने वाली सहायता का विवरण ‘हर संकट में छत्तीसगढ़ शासन आपके साथ’ शीर्षक पुस्तिका में शामिल है। इसका प्रकाशन राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग ने किया है।

मुख्यमंत्री के हाथों विमोचित छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (आकस्मिकता योजना नियम-1995) का प्रकाशन आदिम जाति विकास विभाग द्वारा किया गया है। इसके अलावा उन्होंने राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग द्वारा ’पंचायती राज व्यवस्था में जनजातीय वर्ग का साथी-पेसा एक्ट’ शीर्षक से प्रकाशित पुस्तिका का भी विमोचन किया। डॉ. रमन सिंह ने समारोह में स्वतंत्रता संग्राम के दौरान अपने प्राणों की आहुति देने वाले भूमकाल के जनक शहीद वीर गुंडाधूर, परलकोट के अमर शहीद गैंद सिंह, छत्तीसगढ़ के प्रथम शहीद वीर नारायण सिंह सहित वीरांगना रानी दुर्गावती के चित्रों का भी विमोचन किया। इन चित्रों का प्रकाशन छत्तीसगढ़ राज्य स्तरीय विश्व आदिवासी दिवस आयोजन समिति द्वारा किया गया है। इस अवसर पर गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा, स्कूल शिक्षा और आदिम जाति विकास मंत्री श्री केदार कश्यप, वन मंत्री श्री महेश गागड़ा, संसदीय सचिव श्रीमती सुनीति राठिया, छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष श्री जी.आर. राना, अंतागढ़ के विधायक और बस्तर एवं दक्षिण क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री भोजराज नाग सहित अनेक जनप्रतिनिधि और विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी उपस्थित थे। 

हिन्दी