अध्यक्ष श्री मनोज डे को शपथ

मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत नियामक आयोग के नये अध्यक्ष श्री मनोज डे को शपथ दिलाई
रायपुर, 01 जुलाई 2009 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज यहां मंत्रालय के केबिनेट कक्ष में छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत नियामक आयोग के नये अध्यक्ष श्री मनोज डे को शपथ दिलायी। श्री डे ने ईश्वर के नाम पर सत्यनिष्ठा की शपथ ली।

स्वास्थ्य मंत्री श्री अमर अग्रवाल, छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत नियामक आयोग के पूर्व अध्यक्ष श्री सुयोग्य कुमार मिश्रा, मुख्य सचिव श्री पी.जॉय उम्मेन, प्रमुख सचिव ऊर्जा श्री डी.एस.मिश्रा, प्रमुख सचिव खाद्य श्री विवेक ढांड, स्वास्थ्य विभाग के सचिव श्री विकासशील, मुख्यमंत्री के सचिव श्री के. सुब्रमणियम, संयुक्त सचिव श्री सुबोध कुमार सिंह और विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी श्री विक्रम सिसोदिया सहित छत्तीसगढ़ विद्युत उत्पादन कंपनियों के वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने श्री मनोज डे को शुभकामनाएं देते हुए उम्मीद जतायी कि वे छत्तीसगढ़ जैसे तेजी से विकसित हो रहे नये राज्य और राज्य के बिजली उपभोक्ताओं की अपेक्षाओं पर अवश्य खरे उतरेंगे। डॉ. सिंह ने आयोग के निवृत्तमान अध्यक्ष श्री सुयोग्य कुमार मिश्रा को उनके स्वास्थ्य, सुदीर्ध और खुशहाल जीवन के लिए शुभकामनाएं देते हुए कहा कि श्री मिश्रा ने अपने पांच वर्ष के कार्यकाल के दौरान अपने पद की गरिमा बढ़ाई। मुख्यमंत्री ने कहा कि विद्युत नियामक आयोग के प्रथम अध्यक्ष के रूप में चुनौतियों का सामना करते हुए श्री मिश्रा ने इस नयी संस्था को स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और आयोग के कामकाज को सकारात्मक दिशा भी दी। इससे आयोग के नये अध्यक्ष को बेहतर रूप से काम करने में सहूलियत होगी।

छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत नियामक आयोग के निवृत्तमान अध्यक्ष श्री सुयोग्य कुमार मिश्रा ने अपने संबोधन में कहा कि इस नयी संस्था को स्थापित करने, गतिशील बनाने और दिशा देने में राज्य सरकार की ओर से हर संभव सहयोग मिला। जिसकी वजह से छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत नियामक आयोग ने अपनी कार्यकुशलता से देश के विभिन्न राज्यों के नियामक आयोग के मध्य तीसरा स्थान हासिल किया है। उन्होंने आयोग के नये अध्यक्ष श्री डे को भी अपनी शुभकामनाएं दी।

मुख्य सचिव श्री पी.जॉय उम्मेन ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश में बिजली संबंधी व्यवस्थाओं के सुचारू संचालन में राज्य विद्युत नियामक आयोग की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। आयोग के नये अध्यक्ष तकनीकी दृष्टि से भी सक्षम हैं। वे प्रदेश के लोगों को बिजली की बेहतर व्यवस्था उपलब्ध कराने में अवश्य सफल होंगे। श्री उम्मेन ने नियामक आयोग के अध्यक्ष के रूप में श्री सुयोग्य कुमार मिश्रा की उत्कृष्ट कार्य प्रणाली का उल्लेख करते हुए उन्हें उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दीं।

हिन्दी