धमतरी - जांजगीर-चांपा खाद्यान्न सुरक्षा योजना प्रारंभ

धमतरी में पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री विक्रम वर्मा ने इस योजना का शुभारंभ किया उन्होंने कहा कि यह छत्तीसगढ़ के गरीबों के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और उनकी सरकार के संवेदनशील नजरिए का प्रमाण है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चन्द्राकर और विशेष अतिथि, धमतरी विधायक श्री इन्दर चोपड़ा ने भी जनता को संबोधित किया।

जशपुर-नारायणपुर खाद्यान्न सुरक्षा योजना प्रारंभ

जशपुर नगर में झारखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री श्री अर्जुन मुण्डा ने छत्तीसगढ़ सरकार की दोनों योजनाओं का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री खाद्यान्न सहायता योजना को गरीबों के लिए वरदान बताया। उन्होंने कहा कि इस योजना में जाति बंधन को खत्म करना सचमुच अत्यंत सराहनीय है। जशपुर जिले में एक लाख से अधिक गरीब परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा। जशपुर नगर के कार्यक्रम की अध्यक्षता आदिम जाति विकास मंत्री श्री गणेशराम भगत ने की इस अवसर पर राज्यसभा सांसद श्री दिलीप सिंह जूदेव, विधायक द्वय सर्वश्री राजशरण भगत और भरत साय, मनोनीत विधायक सुश्री रोजलीन बेकमेन, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रायमुनि भगत और जिले के अनेक

समर्थन मूल्य पर 24.88 लाख मीटरिक टन धान

सर्वाधिक धान की आवक रायपुर जिले की समितियों में
राज्य में प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के डेढ़ हजार से अधिक धान खरीदी केन्द्रों पर कल 13 जनवरी तक एक हजार 876 करोड़ रूपए से अधिक राशि का 24 लाख 88 हजार 279 मीटरिक टन धान खरीदा जा चुका है। धान खरीदी का यह विशेष अभियान विगत एक नवम्बर 2007 से चल रहा है। इस दौरान विगत लगभग 74 दिनों में इन समितियों में खरीदे गए धान में छह लाख 50 हजार मीटरिक टन मोटा, 11 लाख 69 हजार मीटरिक टन ग्रेड-ए तथा छह लाख 68 हजार  मीटरिक टन सरना धान शामिल है।

कवर्धा- कांकेर खाद्यान्न सुरक्षा योजना प्रारंभ

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कवर्धा और कांकेर में दोनों योजनाओं का शुभारंभ करते हुए तीन रूपए किलो में चावल वितरण की योजना के बारे में कहा कि छत्तीसगढ़ धान का कटोरा है। धान से चावल बनता है। चावल है तो मनुष्य की जान है और जान है तो जहान है। डॉ. रमन सिंह ने कहा कि गरीब भर पेट भोजन करे, इसी में प्रदेश और देश का कल्याण है। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर दीनदयाल ग्रामीण आवास योजना का भी शुभारंभ किया। कवर्धा के कार्यक्रम में राज्य भण्डार गृह निगम अध्यक्ष डॉ.

कोरबा- राजनांदगांव खाद्यान्न सुरक्षा योजना प्रारंभ

उत्तरांचल के मुख्यमंत्री श्री भुवन चन्द्र खण्डूरी ने कोरबा में दोनों योजनाओं का शुभारंभ करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के लाखों गरीबों के हित में रमन सरकार द्वारा शुरू की गई दोनों योजनाएं देश के अन्य राज्यों के लिए भी प्रेरणा स्त्रोत है। उन्होंने कहा कि गरीबों की भलाई के लिए राज्य सरकारों को किस प्रकार काम करना चाहिए, छत्तीसगढ़ की ये दोनों योजनाएं इसका उदाहरण है। कोरबा के कार्यक्रम में विधायक श्री ननकी राम कंवर, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती शकुन्तला कंवर, राज्य महिला आयोग की सदस्य सुश्री श्याम कंवर तथा कोरबा के महापौर श्री लखन देवांगन सहित पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष श्री बनवारी लाल अग्रवाल भी मौजूद थ

सरगुजा में 49902 मीट्रिक टन धान की खरीदी

सरगुजा जिले में समर्थन मूल्य पर किसानों से अब तक 49902 मीट्रिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है। इसमें मोटा धान 1454 मीट्रिक टन एवं ग्रेड ए धान 48448 मीट्रिक टन है। अम्बिकापुर संग्रहण केन्द्र के अन्तर्गत आने वाले 78 उपार्जन केन्द्रों के माध्यम से धान खरीदी की जा रही है। समितियों से अब तक 11965 मीट्रिक टन धान कस्टम मिलिंग को दिया जा चुका है। धान भरने के लिए समितियों में पर्याप्त बारदाना उपलब्ध है। किसानों को उनकी धान का समर्थन मूल्य तत्काल उपलब्ध कराने के लिए जिला विपणन केन्द्र अम्बिकापुर जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक को 40.90 करोड़ की राशि दी गई है। कस्टम मिलिंग के लिए 18 हजार 800 मीट्रिक टन धान क

छापामार शैली में होगी राशन दुकानों की जांच

खाद्यान्न योजना में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी
सभी जिलों में उड़न दस्तों का गठन होगा
खाद्य अधिकारियों की राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक
राशन कार्डों की जांच के लिए विशेष अभियान चलेगा
छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में सार्वजनिक वितरण प्रणाली में और अधिक कसावट लाने तथा सम्पूर्ण प्रणाली पर लगातार निगाह रखने के लिए खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग द्वारा उड़नदस्तों का गठन किया जाएगा। इनमें खाद्य विभाग के जिला स्तरीय अधिकारियों सहित खाद्य निरीक्षकों और जरूरत पड़ने पर अन्य विभागों के अधिकारियों को भी शामिल किया जाएगा।

कृषि विज्ञान केन्द्र शिलान्यास समारोह

किसानों की तरक्की से ही आएगी छत्तीसगढ़ में खुशहाली-मुख्यमंत्री डॉ. सिंह

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि किसानों की तरक्की से ही छत्तीसगढ़ में खुशहाली आयेगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा किसानों के हित में अनेक योजनाएं संचालित की जा रही है। किसानों को अब सहकारी बैंकों के माध्यम से 6 प्रतिशत ब्याज दर  पर कृषि ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज शाम राजनांदगांव जिले के ग्राम सुरगी में कृषि विज्ञान केन्द्र के शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे ।