केन्द्रीय जेल में गांधी जयंती के अवसर पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का सम्मान

प्रतिबंधित धाराओं के कुछ बंदी जेल से रिहा होंगे

केन्द्रीय जेल रायपुर में 2 अक्टूबर 07 को   प्रात: 9.30 बजे गांधी जयंती के अवसर पर विधिक सहायता शिविर के माध्यम से प्रतिबंधित धाराओं के अंतर्गत जेल में परिरूध्द कुछ बंदियों को रिहा किए जाएंगे। इस अवसर पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को सम्मानित किया जाएगा। बंदियों द्वारा गांधी जी की कविताओं एवं उनके जीवन पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए जाएंगे।

सुश्री लता उसेंडी ने वृध्दजनों का सम्मान किया

महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण राज्य मंत्री सुश्री लता उसेंडी ने ''अन्तर्राष्ट्रीय वृध्दजन दिवस'' पर आज यहां शहीद स्मारक भवन में वृध्दजनों का सम्मान किया। सुश्री उसेंडी ने वृध्दजनों को तिलक लगाकर उन्हें पुष्पहार पहनाया और उनके सुखी, स्वस्थ्य एवं दीर्घायु जीवने की कामना की।

वृध्दजनों का सम्मान समारोह समता महिला समिति, वरिष्ठ नागरिक कल्याण समिति एवं समाज कल्याण विभाग द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया गया। इस अवसर पर संचालक समाज कल्याण श्री पी.पी. सोती, वरिष्ठ पत्रकार श्री बबन प्रसाद मिश्रा, साहित्यकार श्री मन्नुलाल यदु सहित अनेक वृध्दजन उपस्थित थे।

प्रदेश में अब तक 1163 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज

दंतेवाड़ा जिले में सबसे अधिक तथा कोरिया जिले में सबसे कम वर्षा हुई

     प्रदेश में चालू बरसात के मौसम में एक जून से 29 सितम्बर की स्थिति में 1163 मिलीमीटर औसत वर्षा रिकार्ड की गयी है। इस दौरान सबसे अधिक औसत वर्षा दंतेवाड़ा जिले में दर्ज की गयी है जबकि सबसे कम वर्षा कोरिया जिले में हुई है। कल 27 सितम्बर से 28 सितम्बर के बीच पिछले चौबीस घंटों में बीजापुर जिले में वर्षा नहीं होने की जानकारी राजस्व विभाग से प्राप्त हुई है। इसी समयावधि में धमतरी, रायगढ़, सरगुजा तथा दंतेवाड़ा जिले में एक से 2 मिलीमीटर तक वर्षा दर्ज की गयी है।

रक्त दान दिवस पर सैकड़ों लोगों ने किया रक्तदान

हिदायतुल्ला विश्वविद्यालय में 2 अक्टूबर को रक्तदान शिविर का आयोजन

     'रक्तदान दिवस' एक अक्टूबर के अवसर पर हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी स्टेट आफ द आर्ट मॉडल ब्लड बैंक रायपुर में विशाल रक्त दान शिविर का आयोजन किया गया। डॉ. भीमराव अम्बेडकर चिकित्सालय द्वारा पहली बार इस शिविर को रक्तदाताओं की सुविधा के लिए प्रात 10 बजे से रात्रि 10 बजे बारह घंटे के लिए रखा गया, जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने स्वस्फूर्त रक्तदान किया। शाम 7 बजे की स्थिति में इस शिविर में 195 लोग  रक्त दान कर चुके थे। चिकित्सकों को रात्रि 10 बजे तक 250 लोगों के  इस शिविर में रक्तदान करने का अनुमान है।

अहिंसा में ही मिलेगा हिंसा और आंतकवाद का सर्वश्रेष्ठ समाधान : डॉ. रमन सिंह

मुख्यमंत्री ने महात्मा गांधी और शास्त्री जयंती पर अपनी शुभकामनाएं दी

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल दो अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री लालबहादुर शास्त्री की जयंती के अवसर पर जनता को अपनी हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

वनौषधि विकास के लिए परियोजना प्रस्तुत करने सेमीनार आयोजित

राज्य में वनौषधि विकास, वनौषधि उत्पादों के विपणन के लिए उचित बाजार, परम्परागत चिकित्सकों की पहचान एवं उनके सशक्तीकरण हेतु प्रदेश के विभिन्न अशासकीय संस्थाओं की योजना प्रतिवेदन का प्रस्तुतीकरण करने सेमीनार का आयोजन किया गया। वनौषधि बोर्ड कार्यालय में आयोजित इस सेमीनार में प्रदेश के 17 अशासकीय संस्थाओं ने वनौषधि क्षेत्र में कार्य करने हेतु अपनी परियोजनाओं का प्रस्तुतीकरण किया।

धान उपार्जन के लिए 10 करोड़ नग बारदाने खरीदे जाएंगे

राज्य शासन के निर्देश पर छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ द्वारा वर्ष 2007-08 में समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन की सभी तैयारियां तेजी से की जा रही हैं। इस वर्ष लगभग 40 लाख मीटरिक टन धान का उपार्जन का लक्ष्य है।

छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ (मार्कफेड) द्वारा भारत सरकार के उपक्रम डी.जी.एस. एण्ड डी.के. माध्यम से 10 करोड़ नग एस.बी.टी. बारदाना खरीदने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ ने समर्थन मूल्य पर उपार्जित धान का उपार्जन से लेकर निराकरण तक प्रत्येक प्रक्रिया कम्प्यूटर के माध्यम से संचालित की जाएगी।

कामता सिंचाई जलाशय के लिए 2.66 करोड़ रूपए मंजूर

राज्य सरकार ने दुर्ग जिले के डौंडीलोहारा विकासखण्ड में कामता सिंचाई जलाशय निर्माण के लिए लगभग दो करोड़ 66 लाख रूपए की स्वीकृति प्रदान कर दी है। जल संसाधन विभाग ने यहां मंत्रालय में इस आशय का आदेश जारी कर दिया है।

प्रशासकीय स्वीकृति इस शर्त पर प्रदान की गयी है कि इस लघु सिंचाई परियोजना का निर्माण शुरू करने से पहले वनभूमि से संबंधित मामलों का निराकरण कर लिया जाएगा। कामता सिंचाई जलाशय के बन जाने पर क्षेत्र में खरीफ के दौरान 236 हेक्टेयर के रकबे में खेतों को पर्याप्त पानी मिल सकेगा।