राज्योत्सव में हर घर में हो दीयों की रोशनी

मुख्यमंत्री की आम जनता से अपील
डॉ. रमन सिंह ने राज्य स्थापना दिवस पर जनता को शुभकामनाएं दी
 
 
रायपुर, 30 अक्टूबर 2007 -   मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आगामी एक नवम्बर को छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण की सातवीं वर्षगांठ पर जनता को अपनी हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। डॉ. सिंह ने आज यहां जारी शुभकामना संदेश में राज्य स्थापना दिवस पर मनाए जाने वाले 'राज्योत्सव' को आम जनता का उत्सव बताते हुए एक नवम्बर को सभी लोगों से अपने-अपने घरों में दीयों की रोशनी कर खुशियां प्रकट करने की भी अपील की है।

हमारा 'छत्तीसगढ़' तेजी से बढ़ता रहे प्रगति पथ पर

राज्य गठन के सातवीं वर्षगांठ पर राज्यवासियों को शुभकामनाएं
छत्तीसगढ़ के राज्यपाल श्री ई.एस.एल. नरसिम्हन ने छत्तीसगढ़ गठन की सातवीं वर्षगांठ के अवसर पर कामना की है कि हमारा राज्य प्रगति पथ पर तेजी से बढ़ता रहे और यहां के लोगों का जीवन सुख, शांति तथा समृध्दि से परिपूर्ण हो।   
 

श्री आडवानी का आत्मीय स्वागत

नेता प्रतिपक्ष श्री लालकृष्ण आडवानी के रायपुर पहुंचने पर माना विमान तल पर प्रदेश के मुख्यमंत्री डा0 रमन सिंह ने उनकी अगवानी की तथा अपने मंत्रीमंडल के सहयोगियों के साथ उनका आत्मीय स्वागत किया।    

Welcome Shri L K Advani in Raipur Chhattisgarh Rajyotsava - माना विमान तल पर मुख्यमंत्री डा0 रमन सिंह ने लोकसभा में प्रतिपक्ष के नेता श्री लालकृष्ण आडवानी से मंत्रीमडलीय सहयोगियों एवं गणमान्य नागरिकों का परिचय कराया। श्री आडवानी लगभग सात बजे माना विमानतल पहुंचे और वहां से राज्योत्सव स्थल की और रवाना हुए।

नेटवर्क विस्तार पर विशेष ध्यान ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंच बनाना जरूरी

संचार तथा सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री ए राजा ने कहा है कि भविष्य में नेटवर्क विस्तार पर विशेष ध्यान दिया जाएगा और इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंच बनाना जरूरी होगा । श्री राजा ने आज यहां 13वीं भारतीय दूरसंचार अंतर्राष्ट्रीय शिखर बैठक 2007 के उद्धाटन के बाद यह बात कही । मंत्री महोदय ने कहा कि दूरसंचार विभाग के सार्वभौमिक सेवा बाध्यता कोष से इस पहल के संचालन खर्च में सहायता देने का आग्रह किया जाएगा ।

आम चर्चा में आपका स्वागत है

"छत्तीसगढ़ न्यूज़" / छत्तीसगढ़ खबर के संरक्षक गण और आगंतुकों का सामान्य मुद्दों पर यहाँ चर्चा करने के लिए स्वागत है।

राज्य के लिए बनेगी मानव संसाधन प्रबंध नीति

स्कूल शिक्षा मंत्री श्री अजय चन्द्राकर ने इसके पहले आपसी सहमति पत्र के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इसके तहत प्रदेश के 25 हजार विद्यालयों को बिजली कनेक्शन देने का लक्ष्य रखा गया है।

समयबध्द कार्यक्रम बनाकर अगले साल मार्च तक स्कूलों में विद्युत आपूर्ति करने की कोशिश की जायेगी। इससे इन शासकीय स्कूलों में कम्प्यूटर की शिक्षा के साथ गुणवत्तायुक्त शिक्षा भी सुनिश्चित हो सकेगी। स्कूलों में फर्नीचर प्रदाय की व्यवस्था भी की जायेगी। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल ने अगले वर्ष से ओपन स्कूल खोलने का निर्णय लिया है।

'मेरे सपनों का भारत' की शपथ ली राज्यपाल, मुख्यमंत्री तथा विशिष्टजनों ने

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्म दिन अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के अवसर पर आज नई दिल्ली के विज्ञान भवन में देश के प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह द्वारा दिलाये गये शपथ 'मेरे सपनों का भारत' के साथ-साथ राजभवन रायपुर के दरबार हाल में प्रदेश के राज्यपाल श्री ई.एस.एल. नरसिम्हन, मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, मंत्री मण्डल के सदस्यों, विभिन्न आयोगों#मण्डलों के अध्यक्षों, जनप्रतिनिधियों तथा वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने भी शपथ ग्रहण की। शपथ ग्रहण के लिए राजभवन के दरबार हाल में प्रोजेक्टर एवं बड़े स्क्रीन के माध्यम से दिल्ली में प्रधानमंत्री द्वारा दिलाई गयी प्रसारण की व्यवस्था भी साथ-साथ की गयी।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी बापू के बताए रास्ते पर चल कर ही दुनिया में शांति संभव - मुख्यमंत्री डाँ. रमन सिंह

मुख्यमंत्री ने कुष्ठ उन्मूलन जनजागरण रैली को हरी झंडी दिखाई

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर आज सवेरे यहां अपने निवास के सामने कुष्ठ उन्मूलन जन-जागरण रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

'गांधी चालीसा' का विमोचन

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज यहां अपने निवास पर राजनांदगांव निवासी श्री हरि सूरज बलि सिन्हा द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जीवन दर्शन और कृतित्व पर रचित 'गांधी चालीसा' का विमोचन किया।

मुख्यमंत्री ने गांधी जयंती के मौके पर श्री सिन्हा के इस रचनात्मक प्रयास की सराहना करते हुए उन्हें पुस्तक प्रकाशन के लिए बधाई और शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर राजनांदगांव कृषि उपज मंडी समिति के उपाध्यक्ष श्री कोमल सिंह राजपूत सहित सर्वश्री विजय सोनी, कमलेश सिंह और रोमलाल सिन्हा भी उपस्थित थे।