फ्री ओपन कैमरा फोटोशूट कॉल इंडिया टीएफपी ऑनलाइन

भारत के हर शहर से टीएफपी ऑनलाइन के मॉडल, फोटोग्राफर, मेकअप आर्टिस्ट, वेब विशेषज्ञ, इन्टरनेट जानकार, लेखक, कवि, गीतकार, कलाकार और संगीत से जुड़े लोगों साथ साथ किसी भी किस की सर्जना कार्य में जुटे लोगों की आवश्यकता है जो फ्री ओपन कैमरा फोटोशूट आयोजित करने हेतु आमंत्रित हैं.
(जिन लोगों ने फेसबुक का दैनिक भास्कर वाला अच्छे ग्रुप कल्चर का विज्ञापन देखा है, उन्हें मेरी बात एक सेकंड में समझ आएगी.)
भूमिका: अमेरिका और यूरोप में टीएफपी संस्कृति का बड़ा बोल बाला है. सहयोग की इस पद्धति हमारे महान सांस्कृतिक भारत में बिल्कुल नहीं है.

फ्री ओपन कैमरा फोटोशूट में फोटोग्राफर, मॉडल और मेकअप आर्टिस्ट आपस में सहयोग कर बड़े जतन से, कॉस्ट्यूम की व्यवस्था कर, अच्छे लोकेशन में जाकर और अपनी रचनात्मकता की पराकाष्ठा पाने के लिए बहुत मेहनत करते हैं. यह सब होता है निशुल्क, बिना पैसे के लेनदेन से एकदम फ्री.क्या ऐसी व्यवस्था हम अपने भारत में कहीं पाते हैं?

फ्री ओपन कैमरा फोटोशूट और सहयोग संस्कृति: टीएफपी का उद्देश्य होता है मात्र अच्छा पोर्टफोलियो बनाना. बताइए हमारे यहां ऐसी कोई पद्धति है? और नहीं है तो क्यों नहीं है?
चलिए पिछली बात छोड़े, आइए हम सब मिलकर बनाते हैं इंडिया की अपनी एक सुसंगठित टीएफपी संस्कृति.
टीएफपी ऑनलाइन का चलन आप और हम को जोड़कर और मिलकर सृजित करने की कोशिश कर की जा रही है .

कृपया बताएं – और ध्यान रहे ये सारे कार्य फ्री याने निशुल्क हैं, विशुद्ध सहयोग पद्धति पर आधारित हैं
१) क्या आप ऊँचे दर्जे का डीएसएलआर कैमरा इस कार्य के लिए निशुल्क उपलब्ध करवाएंगे? यदि हाँ तो कैमरे का फुल स्पेसिफिकेशन बताएं.
२) क्या आप नुक्कड़ नाटक की तर्ज पर निशुल्क ओपन कैमरा फोटोशूट के आयोजक बनेंगे? यदि हाँ तो अपने शहर के सार्वजनिक / निजी स्थानों का अनुमति सहित विवरण बताएं?
३) प्रचार प्रसार और मूल रूप से सहभागियों की व्यवस्था में आप क्या करेंगे? फ्री ओपन कैमरा फोटोशूट में तयशुदा लोगों के नाम, संख्या और विवरण बताएं?
४) सीधे फ्री ओपन कैमरा फोटोशूट की व्यवस्था सम्हालने के लिए
५) मोबाइल अच्छे से चलाना आता है? आप पूरे दौरान सभी को सोशल पोस्टिंग में मदद करेंगे?
६) डीएसएलआर कैमरे के चिप से फोटो निकाल कर सीधे या ब्लू टूथ से लोगों के और प्रतिभागियों के मोबाइल / लैपटॉप में ट्रान्सफर करने का कार्य आप करेंगे? इसके लिए क्या अपने लैपटॉप आदि के साथ उपस्थित होंगे?
बाकि काम तो अनेकों है तो अपना रोले आप खुद बताइये?

फ्री ओपन कैमरा डीएसएलआर फोटोशूट में क्या करने की कोशिश सभी करेंगे?
सभी प्रतिभागी अपने अपने संसाधन से सहयोग कर हाई रेसोल्युशन पोर्टफोलियो लेवल अनएडिटेड फोटो तैयार कर उसे फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब, लिंक्डइन और इन्स्ताग्राम तथा अनेकों वेबसाइट में इवेंट प्लेस से सीधे अपलोड करेंगे.

इंटरनेट इकॉनमी का सबसे सरल उपाय है इवेंट, प्रमोशन और एडवर्टीज़मेंट को इंटरनेट कंटेंट बनाना

सरकार, व्यवसायी और संस्थायें याने समूचा समाज कम समय में अधिक प्रचार के उद्देश्य से आयोजन, प्रसार और विज्ञापन का उपयोग करते है. इस खर्चे का आरओआई याने रिटर्न ऑन इन्वेस्टमेंट अनुमान ही होता है.

अल्पायु प्रचार-प्रसार को इंटरनेट के स्किल्फुल उपयोग से लगातार बढती हुई विज्ञापन व्यवस्था और अनेकों तरह के फायदेमंद प्रोडक्ट में परिवर्तित करने की अपार संभावना है जिस पर आज तक किसी ने नहीं सोचा है.
लगातार बढ़ते हुए प्रचार-प्रसार जनित इकॉनमी को ही अशोक शर्मा इन्टरनेट ने इंटरनेट एक्ज़िस्टेंस / अंतर्जाल अस्तित्व / इन्टरनेट अस्तित्व डेवलपमेंट प्रोग्राम सेवा के रूप में पेश किया है

जरा सोच कर देखिये आपने कितना प्रोडक्टिव पोटेंशियल हवा में विलीन कर दिया, ठीक उसी तरह जैसे बांध बनने के पहले नदियों का सारा पानी समुद्र में समा जाता था.

आर्किटेक्टेड इंटरनेट, आर्किटेक्टेड ऑनलाइन दुनिया या आर्किटेक्चर्ड इन्टरनेट के सटीक उपयोग से इवेंट, प्रमोशन और एडवर्टीज़मेंट आदि रिसोर्सेज और एक्सपेंसेस से इंटरनेट कंटेंट आसानी से बना कर लगातार बढ़ती पब्लिसिटी और इंटरनेट इकॉनमी प्राप्त करना संभव है.

कुल मिलाकर इंटरनेट कंटेंट ऑनलाइन और ऑफ़लाइन संसार में अनेकों तरह से रिटर्न ऑन इन्वेस्टमेंट देते हैं जिसमे नकद राशि भी शामिल है.

पूरा समाज अभी सृजन से काफी दूर और केवल खर्चे की मानसिकता में जीता है. अब जरुरत है एक्सपेंस से क्रिएटिव एक्ज़िस्टेंस की ओर बढ़ने-बढ़ाने की.

चलिए इन्तेजार करते हैं गवर्नमेंट या प्राइवेट बिज़नेस से कौन आगे आता है इंटरनेट एक्ज़िस्टेंस में नंबर एक बनने के लिए?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Categories