किशोर न्याय अधिनियम कार्यशाला

छत्तीसगढ़ राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष श्रीमती प्रभा दुबे आज यहाँ पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय माना में किशोर न्याय अधिनियम-2015 पर आधारित कार्यशाला में शामिल हुईं .कार्यशाला को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि एक जिम्मेदार पुलिस अधिकारी होने के नाते आप सभी को बच्चों और किशोरों से जुड़े मामलों में संवेदनशीलता बरतनी चाहिए ताकि उनके कोमल मन पर विपरीत प्रभाव न पड़ें .

बच्चे को अपराधी की दृष्टि से नहीं देखना चाहिए बल्कि उसकी परिस्थिति मनःस्थिति को देखकर व्यव्हार करना चाहिए .

कार्यशाला में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री अरुण देव गौतम, राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के उपसचिव श्री दिग्विजय जी, विशेष किशोर न्याय पुलिस के नोडल अधिकारी, थानों के बाल कल्याण अधिकारी एवं बचपन बचाओ आंदोलन के श्री राकेश एवं आयोग के सदस्य श्री नन्दलाल चौधरी  भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Categories